किन्नौर: 103 साल के हो गए देश के पहले मतदाता श्याम शरण नेगी, SP ने घर जाकर दी बधाई
Reckong-Peo News in Hindi

किन्नौर: 103 साल के हो गए देश के पहले मतदाता श्याम शरण नेगी, SP ने घर जाकर दी बधाई
श्याम शरण के घर पहुंचे एसपी किन्नौर एसआर राणा.

103 वर्षीय मास्टर श्याम सरण नेगी ने 1951 के बाद हुए हर आम चुनावों में अपने मत का प्रयोग किया है. इतनी उम्र होने के बाद अब श्याम सरण नेगी की आंखों की रोशनी भी कम हो गई है तथा कानों में भी कम सुनाई देता है.

  • Share this:
रिकॉन्गपिओ (किन्नौर). देश के पहले मतदाता मास्टर श्याम सरण नेगी 103 साल के हो गए हैं. मास्टर श्याम शरण नेगी (Shayam Sharan Negi) के जन्मदिन पर जिला पुलिस अधीक्षक किन्नौर एसआर राणा, डीएसपी विपन कुमार, रिकांगपिओ थाना प्रभारी पदम् देव और कल्पा (Kalpa) चौकी प्रभारी पूर्ण चंद उनके घर कल्पा पहुंचे तथा उन्हें शुभकामनाएं देने के साथ-साथ उनके अच्छे स्वास्थ्य की कामना की. इस दौरान एस पी किन्नौर (Kinnaur) ने उन्हें किन्नौरी टोपी व खतग पहनाकर सम्मानित किया. बुधवार को नेगी ने अपना 104वां जन्मदिन मनाया.

अच्छे स्वास्थ्य की कामना
एसपी किन्नौर ने पुलिस विभाग और प्रशासन की तरफ से  देश के पहले मतदाता मास्टर श्याम सिंह नेगी को जन्मदिन की शुभकामनाएं देते हुए कहा कि यह बड़े हर्ष का विषय है कि आज मास्टर साहब 103 वर्ष के हो गए हैं. वह पूरे किन्नौर के लिए प्रेरणादायक हैं. उन्होंने कहा कि हम ईश्वर से यही प्राथना करते हैं कि  मास्टर श्याम सरण नेगी अच्छे स्वास्थ्य के साथ लंबी उम्र व्यतीत करें तथा किन्नौर का मार्गदर्शन करते रहें. उनके जन्मदिन के अवसर पर उपायुक्त किन्नौर गोपाल चन्द और एस डी एम कल्पा डॉ  मेजर अवनींद्र शर्मा ने भी शुभकामनाएं भेजी थी.

देश के पहले मतदाता नेगी के साथ पुलिस अफसर.

कौन हैं श्याम शरण नेगी


1 जुलाई 1917 को जिला किन्नौर के कल्पा में जन्मे मास्टर श्याम शरण नेगी ने जब पहली बार अपने मत का प्रयोग किया था तो वह बतौर अध्यापक सेवाएं दे रहे थे तथा उन्होंने पहली बार साल 1951 में देश में हुए पहले लोकसभा चुनाव के लिए कल्पा बूथ में अपने मत का प्रयोग किया था. बर्फभारी की आंशका के चलते कल्पा में आम चुनाव से छह माह पहले ही किन्नौर में वोट डाले गए थे. इस पर उन्हें देश के पहले मतदाता होने का गौरव हासिल हुआ है.

पहले आम चुनाव में नेगी ने वोट डाला था.


हर चुनाव में करते हैं मतदान
103 वर्षीय मास्टर श्याम सरण नेगी ने 1951 के बाद हुए हर आम चुनावों में अपने मत का प्रयोग किया है. इतनी उम्र होने के बाद अब श्याम सरण नेगी की आंखों की रोशनी भी कम हो गई है तथा कानों में भी कम सुनाई देता है, परंतु फिर भी उनके जज्बे की हर कोई तारीफ करता है. वह कभी भी मत देने से पीछे नहीं हटे तथा लोगों को भी मत देने के लिए जागरूक करते रहे हैं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज