पंचायत चुनाव में मतदान करेंगे देश के पहले वोटर श्याम शरण नेगी, DC ने जाना हाल

श्याम शरण नेगी के साथ बातचीत करते डीसी.

श्याम शरण नेगी के साथ बातचीत करते डीसी.

India's First Voter Shayam Sharan Negi: 1 जुलाई 1917 को जिला किन्नौर के कल्पा में जन्मे मास्टर श्याम शरण नेगी ने जब पहली बार अपने मत का प्रयोग किया था, उस समय वह बतौर अध्यापक सेवाएं दे रहे थे.

  • News18Hindi
  • Last Updated: January 2, 2021, 8:35 AM IST
  • Share this:

रिकॉन्गपिओ (किन्नौर). देश के सबसे पहले वोटर 103 साल के श्यामशरण नेगी इस बार हिमाचल पंचायत चुनाव (Himachal Panchayat Election) में भी वोट डालेंगे. वह पूरी तरह स्वस्थ हैं. किन्नौर के डीसी हेमराज बैरवा ने स्वतंत्र भारत के प्रथम मतदाता 103 वर्षीय वयोवृद्ध श्याम सरण नेगी (Shayam Sharan Negi) से कल्पा स्थित उनके आवास पर भेंट की. इस अवसर पर उपायुक्त ने श्याम सरण नेगी को अंगवस्त्र भेंट कर सम्मानित किया. उन्होंने नेगी से उनका कुशल क्षेम पूछा और उनके स्वास्थ्य संबंधी जानकारी भी हासिल की.

क्या बोले नेगी

मास्टर श्याम सरन नेगी का कहना है कि वह रोजाना रेडियो के माध्यम से पंचायती राज चुनाव की हलचल के बारे में सुन रहे हैं और इस बार जिला में नई पंचायतों के गठन से भी खुश हैं. उनका कहना है कि जितनी ज्यादा पंचायतों का गठन होगा उतना ही जिला में विकास होगा.

नेगी से मुलाकात के दौरान डीसी किन्नौर.

कैसे बने देश के पहले मतदाता

1 जुलाई 1917 को जिला किन्नौर के कल्पा में जन्मे मास्टर श्याम शरण नेगी ने जब पहली बार अपने मत का प्रयोग किया था, उस समय वह बतौर अध्यापक सेवाएं दे रहे थे. उनकी ड्यूटी भी चुनाव में लगी थी. भारत के स्वतंत्र होने के बाद पहला आम चुनाव फरवरी-मार्च 1952 में होने जा रहा था, लेकिन किन्नौर में हिमपात की संभावना को देखते हुए छह माह पहले ही मतदान करवा दिया था. मतदान के दिन मास्टर श्याम शरण नेगी सुबह ही कल्पा बूथ पर पहुंच गए और वहां पर वोट डाला. साल 1951 में वोट डाले गए थे. ऐसे में बाद में श्याम शरण नेगी देश के पहले वोटर कहलाए गए.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज