किन्नौर: कड़छम हाईड्रो प्रोजेक्ट के कर्मी ने किया सुसाइड, साथियों का हंगामा
Reckong-Peo News in Hindi

किन्नौर: कड़छम हाईड्रो प्रोजेक्ट के कर्मी ने किया सुसाइड, साथियों का हंगामा
किन्नौर में पावर प्रोजेक्ट के बाहर धरना देते कर्मी.

एसपी किन्नौर एसआर राणा ने बताया कि मृतक के शव के पास एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है. उसमें कंपनी के कुछ अधिकारियों के भी नाम लिखे हैं. सुसाइड नोट के आधार पर अपराधिक मामला दर्ज कर लिया गया है. सुसाइड नोट की राइटिंग की जांच की जाएग. कड़ी से कड़ी कार्यवाई की जाएगी.

  • Share this:
अरुण नेगी
भावानगर (किन्नौर). हिमाचल प्रदेश के किन्नौर (Kinnaur) जिले के टापरी उप-तहसील के शोलटू में जेएसडब्ल्यू के कड़छम हाईड्रो एनर्जी लिमिटिड कम्पनी के एक कर्मचारी ने सुसाइड (Suicide) कर लिया. कर्मी ने सुसाइड नोट में आरोप लगाया है कि कंपनी प्रबंधन के कुछ अधिकारियों ने उस पर नौकरी छोड़ने और वीआरएस (VRS) लेने का दवाव बनाया. पुलिस ने मामला दर्ज कर लिया है और मामले की जांच कर रही है. वहीं, प्रोजेक्ट के कर्मियों ने अब मामले में धरना प्रदर्शन शुरू किया है.जानकारी के अनुसार, कर्मचारियो ने कंपनी प्रबंधन के खिलाफ जबरन नौकरी से बाहर निकालने को लेकर प्रदर्शन किया.

यह है मामला

जानकारी के अनुसार, मध्य प्रदेश के रीवा जिले का जयप्रकाश पॉवर हॉउस वांगतू में ऑपरेशन मेन्टेनेन्स सेशन में बतौर कारपेंटर था. वह रेगुलर रोल पर था और उसने अपनी रिहायश में कमरे में फांसी लगा ली. जह जय प्रकाश के साथ रहने वाले कर्मी कमरे में गए तो जय प्रकाश को फांसी पर लटके देखा और पुलिस को सूचना दी. एसडीएम निचार मनमोहन सिंह और एसडीपीओ भावा नगर पुलिस टीम स्थित मौके पर पहुंचे. तनावपूर्ण माहौल को शांत करने की कोशिश की. पुलिस को जय प्रकाश की जेब से एक सोसाइड नोट भी प्राप्त हुआ, जिसमें उसने लिखा है कि कम्पनी मैनेजमैंट पर बार-बार प्रताड़ित कर रही थी और उसे नौकरी छोड़ने के लिए बाध्य किया जा रहा था. कंपनी में तैनात कर्मचारियो ने अपना रोष जताते हुए कंपनी प्रबन्धन के खिलाफ जमकर नारेबाजी की और प्रबंधन को गिरफ्तार न करने तक पुलिस को शव ले जाने से मना कर दिया है.
कंपनी पर नौकरी छोड़ने का दवाब बनाने का आरोप



कंपनी में तैनात कर्मचारी मदन, अनूप, जीवन नेगी, अमित, विमल प्रकाश, सुखी राम और गुरु देव ने कहा कि कंपनी मैनेजमेंट ने जय प्रकाश को बुलाया था और उसे जबरदस्ती वीआरएस स्कीम फॉर्म भरने पर दबाव डाला, जबकि इससे पहले जय प्रकाश मध्य प्रदेश में था, तब भी मैनेजमेंट की ओर से वीआरसी भरकर  भेजने की बात कही थी. इसी तरह कंपनी मेनेजमेन्ट के दबाव के चलते एक अन्य इंजीनियर कृष्ण दत्त अस्पताल में उपचाराधीन है, कम्पनी ने एक दो महीने में 200 से ज्यादा कर्मचारियो से जबरन वीआरसी भरने पर दबाव बनाया है.

अतिरिक्त पुलिस की तैनाती

माहौल तनावपूर्ण होने पर भावानगर पुलिस थाने से 40 पुलिसकर्मी मौके पर तैनात किए गए हैं. एसपी किन्नौर एसआर राणा ने बताया कि मृतक के शव के पास एक सुसाइड नोट बरामद हुआ है. उसमें कंपनी के कुछ अधिकारियों के भी नाम लिखे हैं. सुसाइड नोट के आधार पर अपराधिक मामला दर्ज कर लिया गया है. सुसाइड नोट की राइटिंग की जांच की जाएग. कड़ी से कड़ी कार्यवाई की जाएगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading