लाइव टीवी

किन्नौर : बर्फबारी से जनजीवन अस्त-व्यस्त, किसानों के चेहरे खिले
Reckong-Peo News in Hindi

News18 Himachal Pradesh
Updated: January 18, 2020, 2:37 PM IST
किन्नौर : बर्फबारी से जनजीवन अस्त-व्यस्त, किसानों के चेहरे खिले
बर्फबारी के बाद से किन्नौर में 55 संपर्क सड़क मार्गों पर हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसें नहीं चल पा रही हैं.

सर्दी (Winter) की शुरुआती दिनों से ही अच्छी बर्फबारी (Snowfall) होने से सेब बहुल क्षेत्र किन्नौर (Kinnaur) के किसानों (Farmers) व बागवानों के चेहरे खिले हुए हैं. इस बर्फबारी को सेब की आगामी फसल के लिए लाभदायक बताया जा रहा है, लेकिन वर्तमान समय में यहां के लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त (Life affected) हो गया है.

  • Share this:
रिकांगपिओ . किन्नौर जिले में आसमानी आफत रुकने का नाम नहीं ले रहा. रिकांगपिओ में  6 इंच के करीब ताजा बर्फबारी (Snowfall) दर्ज की गई है. इसी तरह पर्यटन स्थल छितकुल में करीब डेढ़ फीट, सांगला सहित कल्पा में एक-एक फीट के करीब ताजा बर्फबारी हुई है. इस सर्दी की शुरुआती दिनों से ही अच्छी बर्फबारी होने से सेब बहुल क्षेत्र किन्नौर के किसानों (Farmers) व बागवानों के चेहरे खिले हुए हैं. इस बर्फबारी को सेब की आगामी फसल के लिए लाभदायक बताया जा रहा है, लेकिन वर्तमान समय में यहां के लोगों का जीवन अस्त-व्यस्त (Life affected) हो गया है. लोगों को भारी असुविधाएं हो रही है.

अधिकतर संपर्क मार्ग अवरुद्ध

इन दिनों जहां किन्नौर के अधिकतर संपर्क सड़क मार्ग अवरुद्ध पड़े हैं, वहीं जिला के कई क्षेत्रों में बिजली पानी की समस्या देखी जा रही है. इस समय किन्नौर में 55 संपर्क सड़क मार्गो पर हिमाचल पथ परिवहन निगम की बसें नहीं चल पा रही हैं. लंबी दूरी की बसें पवारी से शिमला के लिए चलाई गई. रिकांगपिओ से
काजा के लिए जाने वाले रास्ते पर काशांग व पुर्बनी झूला के पास चट्टान गिरने से बस सेवा प्रभावित हुई है.

रोपा, ज्ञाबुंग सहित सुन्नम पंचायतों में बीते 10 दिनों से विद्युत और पानी की आपूर्ति बाधित है.


विद्युत और पानी की आपूर्ति बाधित

पूह ब्लॉक कांग्रेस कमेटी प्रवक्ता तेजस्वी प्रकाश नेगी ने बताया कि किन्नौर जिला के रोपा वैली के रोपा, ज्ञाबुंग सहित सुन्नम पंचायतों में बीते 10 दिनों से विद्युत और पानी की आपूर्ति के साथ सड़क मार्ग बाधित है. इन तीनों पंचायत क्षेत्रों में रहने वालों लोगों को खासी परेशानी उठानी पड़ रही है. शासन व प्रशासनद्वारा जनजीवन सामान्य बनाने की दिशा में कोई प्रयास नहीं किया जा रहा है. इसी तरह जिले के अन्य कई क्षेत्रों में भी विद्युत आपूर्ति चरमराई हुई है. मिली जानकारी के अनुसार इस समय जिला के 402 विद्युत ट्रांसफार्मरों में से 43 ट्रांसफार्मर बंद पड़े हैं.

((किन्नौर से अरुण नेगी की रिपोर्ट)

ये भी पढ़ें - चूड़धार में 14 फुट बर्फ, दुकानें व ढाबे पूरी तरह बर्फ में दबे, मंदिर हुई बर्फमय

ये भी पढ़ें - सरकार के 2 साल: पूर्व विधायक व मौजूदा विधायक के बीच आरोप-प्रत्यारोप का दौर

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रिकांग पिओ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 18, 2020, 2:37 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर