लाइव टीवी

माघ मेला : पूरी धरती के लिए सुख समृद्धि की कामना करते हैं ग्रामीण
Reckong-Peo News in Hindi

News18 Himachal Pradesh
Updated: February 7, 2020, 6:58 PM IST
माघ मेला : पूरी धरती के लिए सुख समृद्धि की कामना करते हैं ग्रामीण
माघ मेले में स्थानीय लोग व बौद्ध भिक्षु मिलकर पूजा पाठ करते हैं

जनजातीय जिला किन्नौर (Kinnaur) के पूह खंड के तहत ठंगी गांव में इन दिनों माघ मेला (Magh fair) चल रहा है. बारिश हो या फिर बर्फबारी (Snowfall) ये मेला पूरे आठ दिन चलता है. आस्था और विश्वास के इस मेले में ग्रामीण पूरी धरती के लिए अच्छे की कामना करते हैं.

  • Share this:
रिकॉन्गपिओ. जनजातीय जिला किन्नौर (Kinnaur) के पूह खंड के तहत ठंगी गांव में इन दिनों माघ मेला (Magh fair) चल रहा है. बारिश हो या फिर बर्फबारी (Snowfall) ये मेला पूरे आठ दिन चलता है. आस्था और विश्वास के इस मेले में ग्रामीण पूरी धरती के लिए अच्छे की कामना करते हैं. बता दें कि मेले की शुरुआत से लेकर आठवें दिन के अंत तक अलग-अलग तौर तरीकों व पारम्परिक रूप से मेले को मनाया जाता है. इसमें ठंगी के स्थानीय देवता रापुक शंकर की पालकी उनके मंदिर से ठंगी स्कूल के प्रांगण में स्थानीय लोग लेकर जाते हैं. इसके बाद गांव की महिलाएं व पुरुष पूरी पारम्परिक वेशभूषा (Traditional costumes) व आभूषण पहनकर देवता रापुक शंकर के समक्ष हर दिन जमा होकर अलग-अलग तरीके से उत्सव मनाते हैं.

महिलाएं व पुरुष पूरी पारम्परिक वेशभूषा व आभूषण पहनकर देवता रापुक शंकर के समक्ष हर दिन जमा होकर अलग-अलग तरीके से उत्सव मनाते हैं.


हर एक फसल और पेड़ पौधों की पूजा की जाती है

मेले में स्थानीय लोग व बौद्ध भिक्षु मिलकर पूजा पाठ व सुख समृद्धि की कामना करते हैं. साथ ही माघ मेले में देवता रापुक शंकर के समक्ष हर एक फसल और पेड़ पौधों की पूजा करते हैं. इस परम्परा को स्थानीय बोली में रूम पजाम कहते हैं. रूम पजाम से आने वाले समय में सभी फसलें अच्छी होती हैं और धरती पर हरियाली रहती है.

बता दें कि इस दौरान अत्यधिक बर्फबारी के बाबजूद देवता कारदारों ने फुटबॉल मैच का भी आयोजन किया. यह मैच पुजारी इलेवन व खंडो माथस इलेवन के बीच खेला गया.

ये भी पढ़ें - हिमाचल में मौसम: नारकंडा में हल्की बर्फबारी, 6 क्षेत्रों में माइनस में पारा

ये भी पढ़ें - GST: आबकारी विभाग ने पकड़ा 10 लाख का सोना, व्यापारी पर लगा 60 हजार का जुर्माना 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए रिकांग पिओ से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 7, 2020, 6:58 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर