‌किन्नौर हिमस्खलन : 22 दिन बाद 2 और जवानों के शव मिले, सभी 6 जवान शहीद

हिमस्खलन में शहीद हुए 4 जवान हिमाचल से हैं. एक जवान नालागढ़ और एक बिलासपुर से था. वहीं, निरमंड और कांगड़ा का एक-एक जवान भी शहीद हुआ है.

News18 Himachal Pradesh
Updated: March 14, 2019, 1:24 PM IST
‌किन्नौर हिमस्खलन : 22 दिन बाद 2 और जवानों के शव मिले, सभी 6 जवान शहीद
किन्नौर में तलाशी अभियान के दौरान सेना के जवान. (फाइल फोटो)
News18 Himachal Pradesh
Updated: March 14, 2019, 1:24 PM IST
हिमाचल प्रदेश के किन्नौर जिले में भारत-तिब्बत सीमा पर हुए हिमस्खलन में लापता पांचों जवान शहीद हो गए हैं. गुरुवार को तलाशी में जुटी टीमों ने बचे हुए दो जवानों के शव बरामद कर लिए हैं.

इन दो जवानों की पहचान कुल्लू जिले के निरमंड के विदेश ठाकुर और जम्मू के अजुर्न के रूप में हुई है. 22 दिन बाद आखिरकार सेना इन जवानों के शवों को निकालने में सफलता हासिल की है.

बता दें कि कि नमज्ञा डोगरी मे हिमस्खलन में सेना के पांच जवान लापता हो गए थे. इसमें से तीन जवान हिमाचल और 1-1 जवान पश्चिम बंगाल और जम्मू का रहने वाला था. हिमस्खलन वाले दिन ही एक जवान शहीद हो गया था. हादसे में सेना के कुल छह जवान शहीद हुए हैं.



ये है पूरा मामला

20 फरवरी को पेट्रोलिंग के दौरान तिब्बत सीमा पर नमज्ञा के डोगरी नाले में कुल 11 जवान हिमस्खलन की चपेट में आ गए थे. इनमें 5 जवान आईटीबीपी और छह सेना से थे. आईटीबीपी के पांच जवान घटना में घायल हुए थे, जबकि सेना का एक जवान उसी दिन शहीद हो गया था. शेष पांच जवान की तलाश कई दिन से जारी थी.

हिमाचल के 4 जवान शहीद
हिमस्खलन में शहीद हुए 4 जवान हिमाचल से हैं. एक जवान नालागढ़ और एक बिलासपुर से था. वहीं, निरमंड और कांगड़ा का एक-एक जवान भी शहीद हुआ है.
Loading...

ये भी पढ़ें : छोटी काशी मंडी में बड़ी चर्चा: यहां कांग्रेस से ज्यादा BJP प्रत्याशी के नाम के चर्चे

सोलन में सेक्स रेकेट का भंड़ाफोड़, दो युवतियां और एक महिला गिरफ्तार

PHOTOS: लाहौल घाटी में मौसम ने ली करवट, बर्फबारी से जनजीवन अस्त-व्यस्त

सुर्खियां: आग में झुलसे दो बच्चे, विक्रमादित्य की चुनावी हुंकार, शिमला में चिट्टे का आतंक

मधुमक्खी पालन पर बेस्ट रिसर्च के लिए नौणी विवि को मिला बेस्ट रिसर्च सेंटर का अवार्ड

PHOTOS: हिमाचल प्रदेश के बड़े शहरों में क्या है आज पेट्रोल-डीजल का दाम
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...