होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /शिमला में 117 साल बाद ऐसी बारिश, साल 1901 में बरसा था 277mm पानी

शिमला में 117 साल बाद ऐसी बारिश, साल 1901 में बरसा था 277mm पानी

शिमला में बारिश से हुआ लैंडस्लाइड.

शिमला में बारिश से हुआ लैंडस्लाइड.

शिमला में 117 साल बाद 24 घंटो में रिकॉर्ड तोड़ बारिश हुई. यहां पर 208 मिमी बारिश दर्ज की गई है. इससे पहले, 1901 में शिम ...अधिक पढ़ें

    हिमाचल प्रदेश में बीते दो दिन में रिकॉर्ड तोड़ बारिश हुई है. सूबे की राजधानी शिमला में तो बीते 117 साल बाद ऐसा नजारा देखने को मिला. यहां इससे पहले 22 अगस्त 1901 में कुछ ऐसी ही बारिश हुई थी.

    मौसम विभाग के अनुसार, शिमला में 117 साल बाद 24 घंटो में रिकॉर्ड तोड़ बारिश हुई. यहां पर 208 मिमी बारिश दर्ज की गई है. इससे पहले, 1901 में शिमला में 277 मिमी पानी बरसा था. 2007 में शिमला में 122 एमएम बारिश हुई थी.

    उधर, शिमला से सटे जिले सोलन के अर्की में भी बारिश ने 20 साल के रिकार्ड तोड़े हैं. 20 साल बाद अर्की में 24 घंटों में 300 मिमी पानी गिरा है. सूबे में मंडी के बाद सोलन में सबसे ज्यादा बारिश हुई है.

    शिमला में इतना नुकसान
    शिमला में बारिश ने जमकर कहर बरसाया. आधा दर्जन भवनों को खतरा पैदा हो गया है. ढली में ही आठ भवनों में दरारें आई है, जिसके चलते इन भवनों को खाली कर दिया है.

    डिप्टी मेयर राकेश शर्मा के मुताबिक, बारिश से निगम को करीब 15 लाख का नुकसान हो चुका है. नुकसान का सही आंकलन करने के लिए अधिकारियों को निर्देश जारी कर दिया हैं. उधर, शिमला में जब्बड़हटी एयरपोर्ट से शिमला-चंडीगढ़ हेलीटैक्सी सेवा भी ठप है.

    19 अगस्त तक बारिश का सिलसिला चलेगा
    मौसम विभाग ने हिमाचल में 14, 15, 16 और 17 अगस्त को प्रदेश में भारी बारिश का अलर्ट जारी किया है. मौसम विभाग के अनुसार, प्रदेश के कुछ क्षेत्रों में फिर 'एक्ट्रीमली हेवी' बारिश की चेतावनी जारी गई है. हालांकि, प्रदेश में 19 अगस्त तक बारिश का सिलसिला जारी रहेगा.

    ये भी पढ़ें : हिमाचल में बारिश से अब तक 16 मौतें, 923 सड़कें बंद, 24 घंटे में 263 करोड़ का नुकसान

    Tags: Shimla

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें