अपना शहर चुनें

States

जयराम सरकार का फैसला: हिमाचल में स्कूल 31 दिसंबर तक बंद, इन 4 जिलों में रहेगा नाइट कर्फ्यू

कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए हिमचाल सरकार ने बड़े फैसले लिए हैं (फाइल फोटो)
कोरोना के बढ़ते संक्रमण को देखते हुए हिमचाल सरकार ने बड़े फैसले लिए हैं (फाइल फोटो)

हिमाचल में कोरोना (COVID-19) की स्थिति को देखते हुए जयराम कैबिनेट में कुछ अहम फैसले लिए हैं. हिमाचल सरकार ने अब स्कूलों को 31 दिसंबर तक बंद रखने का फैसला लिया है. तो वहीं 4 जिलों में नाइट कर्फ्यू (Night curfew) भी लगाया जाएगा.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 23, 2020, 4:01 PM IST
  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की राजधानी शिमला में सोमवार को जयराम मंत्रिमंडल की एक अहम बैठक हुई. सूबे में कोरोना (COVID-19) की स्थिति को देखते हुए कैबिनेट में कुछ अहम फैसले लिए गए. हिमाचल सरकार ने अब स्कूलों को 31 दिसंबर तक बंद रखने का फैसला लिया है. तो वहीं सूबे के 4 जिलों में नाइट कर्फ्यू भी लगेगा. सरकार के नए आदेश के मुताबिक, मंडी, शिमला, कांगड़ा और कुल्लू में रात 8 बजे से सुबह 6 बजे तक नाइट कर्फ्यू रहेगा. राजनैतिक रैलियां और जनसभाएं पर पूरी तरह से पाबंदी रहेगी. तो वहीं सरकारी कार्यालयों में 50-50 का फॉर्मूला के तहत कामकाज होगा.

इधर. मौसम विभाग ने हिमाचल प्रदेश में बुधवार को भारी बारिश और बर्फबारी होने का अनुमान जताया है. जबकि इस समय राज्य के कुछ जिलों में शीतलहर जारी है. इसके अलावा मौसम केंद्र जान-माल के लिए नुकसानदेह साबित होने वाले खराब अथवा बेहद खराब मौसम की आशंका के मद्देनजर विभिन्न रंगों से संबंधित चेतावनियां जारी करता है. शिमला मौसम विज्ञान केंद्र ने इससे पहले रविवार से बुधवार के बीच बारिश और बर्फबारी का अनुमान जताया था.

ये भी पढ़ें: PHOTOS: आठ महीने बाद सात अर्चकों के साथ फिर लौटी बनारस की गंगा आरती 



मौसम खराब रहने की आशंका
शिमला मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने रविवार को कहा कि बुधवार को मध्यम ऊंचाई वाले पहाड़ी इलाकों की दूर-दराज की जगहों पर भारी बारिश और ऊंचे पर्वतीय इलाकों में बर्फबारी की संभावना को देखते हुए 'यलो वेदर' चेतावनी जारी की गई है. वहीं, मौसम केंद्र जान-माल के लिए नुकसानदेह साबित होने वाले खराब अथवा बेहद खराब मौसम की आशंका के मद्देनजर विभिन्न रंगों से संबंधित चेतावनियां जारी करता है. यलो अलर्ट सभी चेतावनी स्तर के लिहाज से सबसे कम खतरे का सूचक होता है. यह अगले कुछ दिन मौसम खराब रहने की आशंका की ओर इशारा करता है.

तापमान में लगातार गिरावट जारी
शिमला मौसम विज्ञान केंद्र के निदेशक मनमोहन सिंह ने कहा कि लाहौल-स्पीति जिले का केलॉन्ग राज्य का सबसे ठंडा स्थान है, जहां तापमान शून्य से 6.4 डिग्री सेल्सियस नीचे दर्ज किया गया है. जबकि कुफरी का तापमान 3.6 डिग्री सेल्सियस और डलहौजी का 3.6 डिग्री सेल्सियस रहा है. इसके अलावा उन्होंने कहा कि शिमला में तापमान 5.1 डिग्री सेल्सियस है. राज्य में सबसे अधिक 23.2 डिग्री सेल्सियस तापमान उना का रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज