Himachal Corona Update: एक दिन में रिकॉर्ड 107 नए मामले मिले, सेना और ITBP के 28 जवान संक्रमित
Shimla News in Hindi

Himachal Corona Update: एक दिन में रिकॉर्ड 107 नए मामले मिले, सेना और ITBP के 28 जवान संक्रमित
शिमला में कोरोना संक्रमितों की संख्या 1667 पर पहुंच गयी है. (सांकेतिक तस्वीर)

Himachal Corona Update: नए मरीजों के साथ हिमाचल में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1667 पर पहुंच गया है. सक्रिय मामले 534 हैं, जबकि 1062 मरीज ठीक हो चुके हैं. वहीं, अब तक 9 मरीजों की मौत हो चुकी है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश में कोरोना वायरस (Coronavirus) तेजी से पांव पसार रहा है. सूबे में सोमवार को एक ही दिन में रिकॉर्ड 107 नए मामले (Corona Cases) सामने आए हैं. औद्योगिक क्षेत्र सोलन जिले में स्थिति सबसे ज्यादा खराब है. सोमवार को यहां एक साथ 42 लोग कोरोना पॉजिटिव (Corona Positive) पाए गए हैं. इसके अलावा शिमला में 22, सिरमौर में 21, कांगड़ा में 12, बिलासपुर में 3, मंडी, चंबा और ऊना दो-दो और कुल्लू में एक मामला सामने आया है.

सेना और आईटीबीपी के जवान मिले संक्रमित 

शिमला के रामपुर के ज्यूरी कॉलोनी में एसजेवीएनएल में संस्थागत क्वारंटाइन आईटीबीपी 43वीं बटालियन के जवानों का कोरोना पॉजिटिव मिलने का सिलसिला जारी है. यहां 18 जवान कोरोना पीड़ित मिले हैं. उधर, कांगड़ा जिले में सेना के 10 जवान पॉजिटिव पाए गए हैं.



नये मरीज के साथ राज्य में कोरोना संक्रमितों का आंकड़ा 1667 पर पहुंच गया है. सक्रिय मामले 534 है, जबकि 1062 मरीज ठीक हो चुके हैं. नौ मरीजों की मौत हो चुकी है.
राजधानी शिमला में 23 नये मामले मिले 

राजधानी शिमला में सोमवार को 23 नये कोरोना मरीज मिले. इनमें 18 ITBP के जवान, दो मामले शिमला शहर और एक मामला केएनएच अस्पताल के शामिल हैं. शिमला में अबतक कुल 98 मामले सामने आए हैं. इनमें फिलहाल 48 केस एक्टिव हैं. केएनएच में भर्ती कोरोना मरीज को बद्दी से शिमला रेफर किया गया है. बद्दी से महिला को डिलीवरी के लिए नाहन रेफर किया गया था. लेकिन डिलीवरी के बाद जब महिला की तबीयत खराब हुई, तो वहां से शिमला के केएनएच अस्पताल भेजा गया है. महिला की आईजीएमसी अस्पताल में कोरोना जांच की गई थी, जहां उसकी रिपोर्ट पॉज़िटिव आई.

कोरोना संकट के बीच जनता पर नया बोझ
हिमाचल सरकार ने बस किराया 25 प्रतिशत बढ़ाने का फैसला लिया है. शिक्षा मंत्री सुरेश भारद्वाज ने इसकी पुष्टि की है. दरअसल कोरोना संक्रमण की वजह से परिवहन क्षेत्र को काफी नुकसान पहुंचा है. लिहाजा अब सरकार जनता की जेब पर बोझ डालने का निर्णय लिया है. जानकारी के मुताबिक अकेले एचआरटीसी को हर सप्ताह 5 करोड़ का नुकसान हो रहा है. इसको देखते हुए सरकार ने सीटिंग एमएलए और एमपी को सरकारी बसों में मिलने वाली फ्री सेवा पर भी रोक लगा दिया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज