होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /शिमला: मोबाइल टावर लगवाने के चक्कर में 8 महीने में गंवाए 11 लाख, ठगी का शिकार हुआ सरकारी कर्मचारी

शिमला: मोबाइल टावर लगवाने के चक्कर में 8 महीने में गंवाए 11 लाख, ठगी का शिकार हुआ सरकारी कर्मचारी

शिमला में सरकारी कर्मचारी से ठगी

शिमला में सरकारी कर्मचारी से ठगी

Fraud in Shimla: पीड़ित ने सदर थाने में शिकायत दर्ज करवाई है. पुलिस ने मामला दर्ज कर तफ्तीश शुरू की. डीएसपी कमल वर्मा न ...अधिक पढ़ें

शिमला. हिमाचल प्रदेश की राजधानी शिमला में एक सरकारी कर्मचारी (Government employee) ठगी का शिकार हो गया. डीसी ऑफिस में तैनात एक कर्मचारी ने मोबाइल टावर (Mobile Tower) लगवाने के चक्कर में 11 लाख 42 हजार 300 गंवा दिए. पीड़ित ने ठगी करने वालों के खिलाफ सदर थाने में शिकायत दर्ज करवाई है. पुलिस अज्ञात लोगों के खिलाफ मामला दर्ज कर तफ्तीश में जुट गई है. डीएसपी कमल वर्मा ने मामले की पुष्टि की है.

पीड़ित कर्मचारी ने बताया कि उसे जनवरी में पहला फोन आया था. कर्मचारी को उसके गांव में उसकी जमीन पर मोबाइल टावर लगाने का ऑफर दिया गया. एक निजी कम्पनी का हवाला देकर ठगों ने उसको फोन किया और उसे मोबाइल टावर लगाने के साथ साथ कम्पनी की ओर से उसे 25 लाख रुपये देने का भी वादा किया गया, कर्मचारी उनके झांसे में आ गया. अलग-अलग लोगों ने टेलीकॉम सर्विस की एक नामी कम्पनी के कर्मचारी होने का दावा किया और कई बार फोन किए. ठगों ने मोबाइल टावर लगवाने की औपचारिकताओं के नाम पर कई दस्तावेज़ भी मांगे.

11 लाख 42 हज़ार 300 रुपये ठगों के खाते में जमा करवाए

जनवरी माह में पीड़ित ने साढ़े 6 हजार रू. ठगों के बताए अकाउंट में जमा किए. उसके बाद कभी टावर लगाने की रजिस्ट्रेशन फीस के नाम पर तो कभी इनकम टैक्स तो कभी जीएसटी तो कभी  बीमे के नाम पर कई तरह की औपचारिकताएं पूरा करने के नाम पर पैसे जमा करवाए. कर्मचारी को कई महीनों तक इसका अहसास तक नहीं हुआ कि उसके साथ ठगी की जा रही है.  जब उसे शक हुआ और वो नंबर बंद आने लगे तो कर्मचारी के होश उड़ गए, अब कर्मचारी ने पुलिस में शिकायत दर्ज करवाई है. पीड़ित का कहना है कि वह अब तक 11 लाख 42 हज़ार 300 रुपये ठगों के खाते में जमा करवा चुका है.

पुलिस ने लोगों से की अपील

डीएसपी कमल वर्मा का कहना है कि शिमला की सदर थाना पुलिस ने अज्ञात लोगों के खिलाफ 420 और  120बी का मुकदमा दर्ज कर जांच शुरू कर दी है. साथ जनता से अपील की है कि इस तरह की किसी भी फोन कॉल का जबाव न दें, न ही किसी तरह के बहकावे में आएं, कोई भी कार्य करने से पहले फिजिकल वैरिफिकेशन कर लें, पूरी जानकारी जुटा लें.

Tags: Fraud, Fraud FIR, Mobile tower

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें