लाइव टीवी

1984 दंगा: हिमाचल के 231 पीड़ित सिख परिवारों को 36 साल से है मुआवजे का इंतजार
Shimla News in Hindi

Virender Bhardwaj | News18 Himachal Pradesh
Updated: January 22, 2020, 6:40 PM IST
1984 दंगा: हिमाचल के 231 पीड़ित सिख परिवारों को 36 साल से है मुआवजे का इंतजार
अध्यक्ष परविंद्र सिंह खालसा.

1984 Sikh Riots: खालसा ने बताया कि इस पूरे मामले को लेकर राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग की दो सदस्यीय टीम जल्द हिमाचल दौरे पर आएगी और पूरी स्थिति का जायजा लेगी.

  • Share this:
मंडी. 36 वर्ष बीत जाने के बाद भी 1984 सिख दंगा (1984 Sikh Riots) पीड़ितों को आज दिन तक मुआवजा (Compensation) नहीं मिल पाया है. आलम यह है कि 22 सितंबर 2012 को हिमाचल (Himachal Pradesh) के मुख्य सचिव द्वारा मुआवजा की अधिसूचना जारी किए जाने के बावजूद यह मुआवजा पीड़ित परिवारों को नहीं मिल पाया है.

इस संदर्भ हिमाचल सिख गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी (Himachal Sikh Gurudawara Management Committee) ने राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग के पास मुआवजा याचिका दायर की है. यह जानकारी हिमाचल सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष परविंद्र सिंह खालसा ने मंडी में आयोजित पत्रकारवार्ता में दी.

17 करोड़ 84 लाख 45 हजार मुआवजा
अध्यक्ष परविंद्र सिंह खालसा ने बताया कि हिमाचल प्रदेश के 231 दंगा पीड़ित सिखों ने नुकसान को लेकर पुलिस में शिकायतें दर्ज करवाई थीं और इनका कुल मुआवजा 17 करोड़ 84 लाख 45 हजार बनता है, लेकिन सरकार ने सभी दंगा पीड़ितों को मात्र दो-दो लाख रुपये राशि देने का ऐलान वर्ष 2012 में किया था. उन्होंने हैरानी जताते हुए कहा कि आज दिन तक यह राशि पीड़ित परिवारों को नहीं मिल पाई है. उन्होंने राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग से प्रदेश के सभी जिलों के उपायुक्तों को दिल्ली तलब करने की मांग उठाई है, ताकि इनसे यह पूछा जा सके कि यह मुआवजा राशि अभी तक क्यों अदा नहीं की गई है.

बाहरियों से न्याय, अपनों से अन्याय
परविंद्र सिंह खालसा का कहना है कि एक तरफ केंद्र सरकार एनआरसी व सीएए के माध्यम से बाहरी लोगों को नागरिकता देने जा रही है. वहीं, अपने ही देश के दंगा पीड़ितों को अभी तक न्याय नहीं दिला सकी है. हिमाचल सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी द्वारा जुटाए गए आंकड़ों के मुताबिक, प्रदेश के 560 सिख परिवार दंगों के बाद दूसरों राज्यों में पलायन कर चुके हैं. मात्र 231 परिवार ही ऐसे बचे हैं, जिन्हें यह राशि मिलनी है. इनमें मंडी के 89, कुल्लू के 59, भुंतर के 42, बैजनाथ के 20, मनाली के 20 और शिमला के दो सिख परिवार शामिल हैं.

हिमाचल सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष परविंद्र सिंह खालसा ने मंडी में पत्रकारवार्ता आयोजित की.
हिमाचल सिख गुरुद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष परविंद्र सिंह खालसा ने मंडी में पत्रकारवार्ता आयोजित की.
खालसा ने बताया कि इस पूरे मामले को लेकर राष्ट्रीय अल्पसंख्यक आयोग की दो सदस्यीय टीम जल्द हिमाचल दौरे पर आएगी और पूरी स्थिति का जायजा लेगी. इस मौके पर गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के जिला प्रधान सरदार हंसपाल सिंह व अन्य पदाधिकारी मौजूद रहे.

ये भी पढ़ें: हिमाचल की 13 वर्षीय बेटी अलाइका को राष्ट्रीय बाल वीरता पुरस्कार

सोलन क्रेन ड्राइवर मर्डर केस: 24 घंटे में सभी 6 आरोपी युवक दिल्ली से गिरफ्तार

नशा तस्करी में सलिंप्त महिला सहित दो आरोपियों की 20.50 लाख की संपत्ति जब्त

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 22, 2020, 5:52 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर