हिमाचल में कोरोना का कहर जारी, 24 घंटो में 796 केस, 12 की मौत

हिमाचल में कोरोना से 12 लोगों की मौत
हिमाचल में कोरोना से 12 लोगों की मौत

Covid-19: केंद्र के एक आंकड़े मुताबिक देश में सबसे ज्यादा संक्रमण दर वाले 10 जिलों में 4 जिले हिमाचल के हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 20, 2020, 7:37 AM IST
  • Share this:
शिमला. हिमाचल में कोरोना का कहर लगातार जारी है. स्वास्थ्य विभाग (Health Department) के मुताबिक बीते 24 घंटो के भीतर प्रदेश में 12 लोगों की मौत कोरोना से हुई है और कुल मौतों का आंकड़ा 480 तक पहुंच गया है. गुरुवार को रात 9 बजे तक प्रदेश में एक्टिव केसों (Active Cases) की संख्या 6980 पहुंच गई है. बुधवार को 661 नए मामले सामने आए थे, गुरूवार को 796 नए मामले सामने आए हैं. केंद्र के एक आंकड़े मुताबिक देश में सबसे ज्यादा संक्रमण दर वाले 10 जिलों में 4 जिले हिमाचल के हैं. लाहौल-स्पीति में 50% शिमला 17.2% मंडी 14.5% और किन्नौर जिले में संक्रमण दर 13.5% है. प्रदेश में शिमला और मंडी जिले हॉट स्पॉट बने हुए हैं.

इन जिलों में आए इतने केस

स्वास्थ्य विभाग की ओर से जारी किए गए मीडिया बुलेटिन के मुताबिक गुरूवार को बिलासपुर में 25, चंबा में 43, हमीरपुर में 31, कांगड़ा में 95, किन्नौर में 6, कुल्लू में 114, लाहौल-स्पीति में 46, मंडी में 124, शिमला में 212,सिरमौर में 13, सोलन में 73 और ऊना में 4 नए केस आए हैं.



इन जिलों में इतनी मौत
मौत की बात करें तो अब तक बिलासपुर में 14, चंबा में 24, हमीरपुर में 18,कांगड़ा में 94,किन्नौर में 10 ,कुल्लू में 54, लाहौल-स्पीति में 5,मंडी में 62, शिमला में 115,सिरमौर में 20,सोलन में 44 और ऊना में 19 लोगों की मौत हुई है. ये आंकड़े चिंताजनक हैं.

अब तक 4 लाख 75 हजार 263 लोगों के टेस्ट

स्वास्थ्य विभाग के अनुसार अब तक 4 लाख 75 हजार 263 लोगों के टेस्ट हो चुके हैं जिनमें 4 लाख 42 हजार 423 लोगों की रिपोर्ट नेगेटिव आई है और 32 हजार 197 लोग पॉजीटिव पाए गए हैं. अब तक 24 हजार 706 लोग हिमाचल में ठीक हो चुके हैं.

ये बोले सीएम

सीएम ने कहा है कि सरकार ने टेस्टिंग बढ़ा दी है जिसके चलते ज्यादा केस सामने आ रहे हैं. साथ ही कहा था कि शादी समारोह और त्यौहारों के चलते भी संक्रमण फैला है, इसलिए शादी समारोह में 100 से ज्यादा लोगों के जमा होने पर रोक लगाई है. सीएम ने फिर से जनता से नियमों की पालना के अलावा सोशल डिस्टेंसिंग बनाए रखने, मास्क पहनने और अन्य सभी तरह के नियमों की पालना की अपील की है.

माकपा ने सवाल उठाए और महत्वपूर्ण सुझाव दिए

भारत की कम्युनिस्ट पार्टी(मार्क्सवादी) ने प्रदेश में प्रतिदिन तेजी से बढ़ रहे कोविड19 संक्रमित मरीजों और इससे हो रही मौतों की संख्या में हो रही वृद्धि को लेकर गंभीर चिंता व्यक्त की है. माकपा ने नेता संजय चौहान ने कहा कि राज्य सरकार के इससे निपटने को लेकर संजीदगी से प्रयास नहीं कर ही है. उन्होंने कहा कोविड19 संक्रमित मरीजों की संख्या में तेजी से वृद्धि हुई है और प्रतिदिन केवल मात्र 4200 के लगभग ही टेस्ट हो रहे हैं जोकि पर्याप्त नहीं है. बावजूद इसके प्रदेश में प्रतिदिन 600 से अधिक संक्रमण के मामले आ रहे हैं और इससे हो रही मौतों की संख्या में भी तेजी से वृद्धि हुई है. पार्टी ने मांग की कि सरकार तेजी से फैल रहे संक्रमण को रोकने के लिए युद्धस्तर की रणनीति बनाकर एक कुशल नेतृत्व में टास्क फोर्स का गठन किया जाए.

रैलियों पर सवाल, कार्यक्रमों पर रोक लगाने की मांग

माकपा का कहना है कि सरकार ने सामाजिक, धार्मिक ,राजनीति व अन्य समारोहों में हिस्सा लेने वाले लोगों की संख्या निर्धारित की है लेकिन मुख्यमंत्री, मन्त्री, अधिकारी व अन्य सत्ता पक्ष से जुड़े लोग राजनैतिक रैलियां औ अन्य कार्यक्रमों मे बड़ी संख्या में लोगों को जमा कर रहे हैं. इन कार्यक्रमों में कोविड19 के लिए तय नियमों की खुलेआम धज्जियां उड़ाई जा रही है और अब सरकार केवल जनता को दोषी बताकर अपने आप को दोषमुक्त बता रही है. माकपा ने मांग की कि सरकार ने जिस प्रकार से अब सामाजिक, धार्मिक व अन्य आयोजनों व कार्यक्रमों में लोगो की भागीदारी कम करने के लिए सीमा तय कर रोक लगाई है, वैसे ही सरकार को तुरन्त अपने सभी राजनैतिक व अन्य सरकारी कार्यक्रमों पर रोक लगानी चाहिए और सारा ध्यान प्रदेश में तेजी से फैल रहे कोविड19 के संक्रमण को रोकने के लिए लगाना चाहिए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज