हिमाचल प्रदेश: कांगड़ा जिले के इस गांव में कोरोना विस्फोट, 75% आबादी संक्रमित

हिमाचल के एक गांव में अब भी कोरोना संक्रमण कम नहीं हुआ है. (file photo)

कांगड़ा जिले में शाहपुर तहसील की सिहुंवा पंचायत आज भी सबसे ज़्यादा कोरोना संक्रमित है. यहां की 75 फ़ीसदी जनता में कोरोना का संक्रमण पाया गया है. पंचायत को प्रशासन ने कंटेनमेंट जोन घोषित किया है.

  • Share this:
कांगड़ा. हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में शाहपुर तहसील की सिहुंवा पंचायत आज भी सबसे ज़्यादा कोरोना संक्रमित है. यहां की 75 फ़ीसदी जनता में कोरोना का संक्रमण पाया गया है. ऐसे में इस पंचायत को प्रशासन की गाइडलाइन के मुताबिक कंटेनमेंट जोन घोषित किया गया है. जब से सिहुंवा पंचायत में कोरोना का ब्लास्ट हुआ है. यहां की आधे से ज़्यादा की आबादी पूरी तरह से घर में कैद हो कर रह गई है, ऐसे में इस पंचायत के वो लोग और भी मजबूर और लाचार हो चुके हैं. जो दो जून की रोटी के जुगाड़ के लिये दिहाड़ी मजदूरी किया करते थे, या फिर बाजारों में स्वरोजगार चलाया करते थे.

बावजूद इसके इसे इस पंचायत के प्रधान अजय बबली की सूझबूझ का ही नतीज़ा कहेंगे कि इन हालातों में भी इस पंचायत की जनता को उन्होंने एक सूत्र में पिरोये रखा और उन्हें हर हाल में हर एजेंसी की मदद के जरिये हर घर परिवार तक राशन भी मुहैया करवाया, इतना ही नहीं अब तो बड़ी बड़ी संस्थाएं भी सिहुंवा पंचायत के संक्रमित और लाचार लोगों की मदद के लिये आगे आई हैं. आज माता बगलामुखी की जयंती के ख़ास अवसर पर बगुलामुखी ट्रस्ट बनखंडी के मंहत रजतगिरी ने सिंहवा पंचायत के प्रधान के साथ सम्पर्क किया और हर सम्भव सहयोग की अपील की.

रजतगिरी की इस अपील पर प्रधान अजय बबली ने फ़िलहाल राशन वितरण की डिमांड की जिसको मद्देनजर रखते हुए मंहत रजतगिरी ने अपने अनुयायियों की अगुवाई में इस पंचायत के लोगों के लिये राशन पहुंचाया. साथ ही अपील की कि अगर लोगों को जीवनरक्षक दवाइयों या अन्य चीजों की भी ज़रूरत महसूस होती है तो वो भी बेझिझक मांगें बगलामुखी ट्रस्ट हर हाल में वो भी मुहैया करवायेगा.