पार्किंग में व्यावसायिक गतिविधियां चलाने वाले भवन मालिकों पर कसेगा शिकंजा

राजधानी शिमला में पार्किंग समस्या दूर करने के लिए नगर निगम शिमला शहर में येलो लाइन लगाकर नए स्थान चिह्नित कर रहा है.

Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 26, 2019, 1:26 AM IST
पार्किंग में व्यावसायिक गतिविधियां चलाने वाले भवन मालिकों पर कसेगा शिकंजा
नगर निगम शिमला उन भवन मालिकों की सूची बना रहा है जो पार्किंग में व्यवसायिक गतिविधियां चला रहे हैं.
Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 26, 2019, 1:26 AM IST
राजधानी शिमला में पार्किंग समस्या दूर करने के लिए नगर निगम शिमला शहर में येलो लाइन लगाकर नए स्थान चिह्नित कर रहा है. वहीं नगर निगम शिमला शहर के ऐसे भवन मालिकों पर शिकंजा कसने जा रहा है जिन्होंने भवन निर्माण के दौरान पार्किंग दर्शाई है, लेकिन अब उस पार्किंग में कोई व्यवसायिक गतिविधियां चलाई जा रही हैं. शिमला में हुए बस हादसे के दौरान सड़क किनारे खड़ी गाड़ियां एक मुख्य वजह रही हैं. इसके बाद प्रदेश सरकार ने नगर निगम शिमला को इस तरह के मामले पर कड़ी कार्रवाई करने के निर्देश दिए हैं.

बता दें कि शिमला शहर में ऐसे सैंकड़ों भवन हैं जिनके सड़क के साथ लगते फ्लोर में व्यवसायिक गतिविधियां चल रही हैं. लेकिन भवनों में रह रहे लोगों के वाहन सड़क किनारे खड़े रहते हैं. इसके चलते सड़कें संकीर्ण हो जाती हैं और जाम की स्थिति उत्पन्न हो जाती है. व्यवसायिक गतिविधि चलाने वाले ऐसे भवन मालिकों के खिलाफ नगर निगम बड़ी कार्रवाई करने जा रहा है.

बिजली पानी की सप्लाई रोक दी जाएगी

शिमला में पार्किंग समस्या - Parking problem in shimla
मेयर कुसुम सदरेट ने कहा कि निगम भवन मालिकों को नोटिस भेजकर दोबारा पार्किंग बहाल करने का निर्देश देगा.


मेयर कुसुम सदरेट ने बताया कि शिमला में हुए सड़क हादसे के बाद सरकार ने नगर निगम से शहर की पार्किंग व्यवस्था को लेकर रिपोर्ट मांगी थी. उसमें शहर की ऐसी पार्किंग की भी सूची मांगी गई थी जिसमें पार्किंग के नाम पर व्यवसायिक गतिविधियां चल रही हैं. निगम अभी ऐसे भवन मालिकों की जांच कर रहा है, जिन्होंने भवन कम्पलीशन रिपोर्ट के समय सड़क किनारे फ्लोर में पार्किंग दर्शाई है, लेकिन उसमें व्यवसायिक गतिविधियां चलाई जा रही हैं.

उन्होंने कहा कि निगम जांच प्रक्रिया पूरी होने के बाद ऐसे भवन मालिकों को नोटिस भेजकर दोबारा पार्किंग बहाल करने का निर्देश देगा. यदि कोई भवन मालिक उसके बाद भी निर्देशों का पालन नहीं करता है तो ऐसे भवन मालिकों के खिलाफ कार्रवाई कर बिजली पानी की सप्लाई रोक दी जाएगी.

ये भी पढ़ें - World War II के हीरो भंडारी राम को दी गई श्रद्धांजलि
Loading...

ये भी पढ़ें - हिमाचल: बंदरों को न दें खाने-पीने की चीजें, हो सकती है सजा

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 25, 2019, 5:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...