APG यूनिवर्सिटी में मारपीट: रजिस्ट्रार ने पुलिस को दिए फर्जी छात्रों के नाम

अफगानी और भारतीय छात्रों के बीच खूनी झड़प हुई पर रजिष्ट्रार ने पुलिस में दी शिकायत में दो फर्जी नाम दे दिए.

Ranbir Singh | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 4, 2019, 12:10 PM IST
APG यूनिवर्सिटी में मारपीट: रजिस्ट्रार ने पुलिस को दिए फर्जी छात्रों के नाम
अफगानी और भारतीय छात्रों के बीच खूनी झड़प के बाद रजिष्ट्रार ने पुलिस में दो नाम पुलिस को फर्जी तौर पर लिखवाए.
Ranbir Singh | News18 Himachal Pradesh
Updated: September 4, 2019, 12:10 PM IST
शिमला. हिमाचल की राजधानी शिमला (Shimla) स्थित एपीजी यूनिवर्सिटी (APG University) में अफगानी (Afgani) और भारतीय छात्रों (Indian student) के बीच जमकर झड़प (Bloody Clash) हुई थी. अफगानी छात्रों के साथ-साथ भारतीय छात्रों को भी काफी चोटें आईं. लेकिन एपीजी यूनिवर्सिटी के रजिस्ट्रार ने ही पुलिस को भारतीय छात्रों के नाम ही पुलिस को दिए थे. रजिष्ट्रार (Registrar) ने पुलिस में दी शिकायत में एक भी अफगानी छात्र का नाम नहीं शामिल किया है. आप वीडियो देखेंगे तो आपको अफगानी छात्र भारतीय छात्रों से मारपीट करते हुए साफ देखे जा सकते हैं. रजिष्ट्रार ने पीयूष, फरहान, मुस्कान मलिक, गौरव दुबे, करन महतो, शशांक और सरनदीप के नाम पुलिस को दिए, जबकि जानकारी यह भी मिली है कि इनमें से शशांक और सरनदीप के नाम फर्जी हैं. यही वजह है कि पुलिस ने 5 छात्रों के नाम पर ही केस दर्ज किया है.

मजबूरी में पुलिस ने कराया मेडिकल

इससे इतर NSUI के प्रदेश महासचिव प्रतीक शर्मा ने आरोप लगाते हुए कहा कि शुरूआत में पुलिस ने घायल छात्रों का मेडिकल करवाने तक से इनकार कर दिया था. छात्रों को गंभीर चोटे आई इसलिए पुलिस को मजबूरी में मेडिकल करवाना पड़ा. प्रतीक शर्मा ने कहा कि घायलों में से पीयूष नाम के छात्र को गले में बहुत ज्यादा चोट लगी थी. पीयूष को सांस लेने में तकलीफ हो रही थी.



घायल छात्र पीयूष को डॉक्टरों ने सांस की नली लगाई

NSUI के जिला महासचिव शुभम वर्मा ने बताया कि डॉक्टरों को पीयूष को सांस की नाली भी लगानी पड़ी है. उन्होंने बताया कि छात्र की मेडिकल रिपोर्ट में यह सब दर्ज है. दो दिन तक छात्र अस्पताल में रहा लेकिन पुलिस कह रही है कि चोट ज्यादा गभीर नहीं है. पुलिस ने माना कि रजिस्ट्रार की ओर से ही फर्जी नाम दिए गए थे.

अफगानी छात्रों के खिलाफ भारतीय छात्रों ने दी शिकायत
Loading...

Bloody Clash-खूनी झड़प
पुलिस ने माना कि रजिस्ट्रार की ओर से ही फर्जी नाम दिए गए थे.


भारतीय छात्रों ने भी अफगानी छात्रों के खिलाफ शिकायत दी है. अब अफगानी छात्रों की संलिप्तता की भी जांच की जा रही है.

यह भी पढ़ें: नौकरी का झांसा देकर युवती से किया दुष्कर्म, पीड़िता ने दर्ज कराया बयान

कोटखाई गैंगरेप और मर्डर: गवाह का दावा, जहां सूरज की हत्या हुई वहां मौजूद थे IG जैदी

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 4, 2019, 11:50 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...