हिमाचल में रोड सेफ्टी ऑडिट के बाद ही पास होंगी नई सड़कें

सीएम ने कहा कि राज्य के लिए केन्द्र सरकार द्वारा स्वीकृत 69 राष्ट्रीय राज मार्गों में से, 4031 किलोमीटर लम्बे 63 राष्ट्रीय राजमार्गों की डीपीआर लोक निर्माण विभाग द्वारा बना ली गई है, जबकि 170 किलोमीटर की कुल लम्बाई वाले तीन राष्ट्रीय उच्च मार्गों की डीपीआर एनएचआईडीसीएल द्वारा बनाई गई है.

News18 Himachal Pradesh
Updated: July 9, 2019, 1:47 PM IST
हिमाचल में रोड सेफ्टी ऑडिट के बाद ही पास होंगी नई सड़कें
हिमाचल में ऑडिट के बाद ही सड़कों को पास किया जाएगा.
News18 Himachal Pradesh
Updated: July 9, 2019, 1:47 PM IST
हिमाचल में रोड सेफ्टी ऑडिट के बाद ही अब नई सड़कें पास होंगी. हिमाचल के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने राज्य लोक निर्माण विभाग की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की और इसमें इस मुद्दे पर मंथन हुआ है. सीएम ने कहा कि जल निकास सुविधा सड़क स्वीकृति का एक मुख्य बिन्दु होना चाहिए, क्योंकि प्रायः यह देखा गया है कि खराब जल निकास सुविधाओं के कारण सड़कों को भारी क्षति पहुंचती है. उन्होंने इस अवसर पर अधिक गांवों को सड़क सुविधा से जोड़ने के लिए बजट में पर्याप्त वृद्धि करने की आवश्यकता पर भी बल दिया.

कोताही को गंभीरता से लेंगे : सीएम
जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना राज्य के ग्रामीण क्षेत्रों को सड़क सुविधा सुनिश्चित करने में वरदान सिद्ध हुई है. उन्होंने कहा कि इस योजना के अन्तर्गत निर्मित की जा रही सड़क परियोजनाओं को समयबद्ध आधार पर पूरा करना सुनिश्चित बनाया जाना चाहिए. उन्होंने कहा कि इस सम्बन्ध में किसी भी प्रकार की कोताही को गम्भीरता से लिया जाएगा तथा इसके लिए जिम्मेबार अधिकारियों की जवाबदेही तय की जाएगी.

यह है लक्ष्य

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत इस वर्ष 2520 किलोमीटर नई सड़कों के निर्माण और 77 बस्तियों को सड़क सुविधा से जोड़ने का लक्ष्य रखा गया है. उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के तहत सभी स्वीकृतियां और उनकी पूर्ति समयबद्ध सुनिश्चित की जानी चाहिए. बैठक में यह भी जानकारी दी गई कि पीएमजीएसवाई-2 के अन्तर्गत 1250 किलोमीटर नई सड़कों का निर्माण किया जाएगा.

4115 ब्लैक स्पॉटस का सुधार
उन्होंने कहा कि रिटेनिंग दिवारों, क्रैश बेरियर और पैरापिट्स के निर्माण के माध्यम से 4115 ब्लैक स्पॉटस का सुधार किया गया है. उन्होंने कहा कि राज्य में सभी नई सड़कों की स्वीकृति निष्पक्ष एजेंसी द्वारा सुरक्षा ऑडिट के बाद ही दी जाएगी, भविष्य में सड़क सुरक्षा ऑडिट डीपीआर का महत्त्वपूर्ण भाग होगा.
Loading...

हाईवे निर्माण के लिए डीपीआर
सीएम ने कहा कि राज्य के लिए केन्द्र सरकार द्वारा स्वीकृत 69 राष्ट्रीय राज मार्गों में से, 4031 किलोमीटर लम्बे 63 राष्ट्रीय राजमार्गों की डीपीआर लोक निर्माण विभाग द्वारा बना ली गई है, जबकि 170 किलोमीटर की कुल लम्बाई वाले तीन राष्ट्रीय उच्च मार्गों की डीपीआर एनएचआईडीसीएल द्वारा बनाई गई है.

हिमाचल की 3131 पंचायतों में सड़क
हिमाचल की कुल 3226 पंचायतों में से 3131 पंचायतों को सड़क सुविधा से जोड़ दिया गया हैं, जबकि प्रदेश की 18, 711 बस्तियों में से 13782 बस्तियों को सड़क सुविधा से जोड़ा गया है.प्रधान सचिव लोक निर्माण विभाग जेसी शर्मा ने मुख्यमंत्री को आश्वस्त किया कि विभाग उनकी आशाओं पर खरा उतरने के लिए पूर्ण निष्ठा एवं समर्पण की भावना से कार्य करेगा.

ये भी पढ़ें: हिमाचल: कार-टैंकर में टक्कर, पिता की मौत, 2 बेटियां PGI रेफर

चंडीगढ़ से कार खरीद कर जा रहे थे घर, हादसे में 2 युवक की मौत

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 9, 2019, 12:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...