Rahul Gandhi in Shimla: 4 दिन के वादियों में बिताने के बाद दिल्ली लौटे राहुल

शिमला में प्रियंका के घर पर राहुल गांधी. (फाइल फोटो)
शिमला में प्रियंका के घर पर राहुल गांधी. (फाइल फोटो)

Rahul Gandhi in Shimla: शिमला में 15 किमी दूर छराबड़ा में प्रियंका गांधी ने अपना आशियाना बनाया है. करीब साढ़े चार बीघा जमीन पर प्रियंका का घर साल 2008 में बनना शुरू हुआ था.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 3, 2020, 2:33 PM IST
  • Share this:
शिमला. बिहार में पहले चरण की सियासी थकान मिटाने के लिए कांग्रेस महासचिव राहुल गांधी शिमला (Shimla) पहुंचे थे. चार दिन शिमला में रहने के बाद अब राहुल गांधी मंगलवार सुबह शिमला से चंडीगढ़ लौट गए हैं. चार दिन तक राहुल गांधी अपनी बहन प्रियंका गांधी वाड्रा के छराबड़ा में घर में दोस्तों के साथ रुके थे.

गाड़ी से चंड़ीगढ़ लौटे

जानकारी के अनुसार, अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी महासचिव राहुल गांधी मंगलवापर सुबह ही शिमला से बिहार के लिए रवाना हुए हैं. कांग्रेस  सूत्रों के अनुसार राहुल गांधी सुबह सात बजे ही छराबड़ा से गाड़ी में सड़कमार्ग होते हुए चंडीगढ़ गए हैं. चंडीगढ़ से वह बिहार जाएंगे.



30 अक्तूबर को आए थे शिमला
राहुल गांधी 30 अक्तूबर को शिमला के छराबड़ा में अपनी बहन प्रियंका के घर दोस्तों के साथ पहुंचे थे. इस दौरान राहुल गांधी ज्यादतर समय घर पर ही रहे.  इस दौरान राहुल ने दोस्तों के साथ छराबड़ा के आसपास जंगलों में सैर सपाटा किया. प्रदेश के कुछ नेता और कार्यकर्ता राहुल गांधी से मिलने पहुंचे थे. इस दौरान हालांकि, राहुल ने उनसे ज्यादा देर मुलाकात नहीं की.

सियासी थकान मिटाने पहुंचे थे शिमला

दरअसल, राहुल ने बिहार चुनाव के लिए वहां पर प्रचार और सियासी रैलियां की थी. इसके बाद वह सियासी थकान मिटाने शिमला पहुंचे थे. हालांकि, बहन प्रियंका गांधी शिमला नहीं आई थी. राहुल हमेशा ही अपनी बहन के साथ शिमला आते हैं.

छराबड़ा में है प्रियंका का घर

शिमला में 15 किमी दूर छराबड़ा में प्रियंका गांधी ने अपना आशियाना बनाया है. करीब साढ़े चार बीघा जमीन पर प्रियंका का घर साल 2008 में बनना शुरू हुआ था. हिमाचल कांग्रेस के नेता केहर सिंह खाची के नाम पर जमीन की पावर ऑफ अटॉर्नी है. प्रियंका को मकान बनाने के लिए तत्कालीन कांग्रेस सरकार ने लैंड रिफॉर्म्स एक्ट के सेक्शन 118 में नियमों में ढील दी थी. इस सेक्शन के तहत हिमाचल से बाहर रहने वाले लोग जमीन नहीं खरीद सकते हैं. वर्ष 2007 में इस जमीन की मार्केट वेल्यू करीब एक करोड़ रुपये बीघा थी, जबकि प्रियंका गांधी को मकान बनाने के लिए 4 बीघा जमीन 47 लाख रुपये में दी गई.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज