अपना शहर चुनें

States

COVID-19: हॉटस्पॉट बनने के बाद हिमाचल में 45 फार्मा इंडस्ट्री बंद, हाइड्राेक्लाेराेक्वीन का भी होता था उत्पादन

उद्योग विभाग में निदेशक हंस राज शर्मा ने बताया कि बद्दी बराेटीवाला इलाके को हाॅटस्पाॅट में शामिल किया गया है. (प्रतीकात्मक फोटो)
उद्योग विभाग में निदेशक हंस राज शर्मा ने बताया कि बद्दी बराेटीवाला इलाके को हाॅटस्पाॅट में शामिल किया गया है. (प्रतीकात्मक फोटो)

हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के बद्दी में सबसे ज्यादा दवाई बनानी वाली फैक्ट्रियां हैं. लेकिन बद्दी बराेटिवाला में ही सबसे अधिक क्षेत्र हाॅटस्पाॅट चिन्हित किए गए हैं.

  • Share this:
शिमला. कोरोना वायरस (Corona virus) के मामले काम होने के नाम नहीं ले रहे हैं. अभी तक हजारों लोग इस संक्रमन के चपेट में आ गए हैं. वहीं, सैकड़ों लोगों की मौत हो गई है. कोरोना संक्रमित हॉटस्पॉट को सील किया जा रहा है. वहीं, इस महामारी से हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) भी अछुता नहीं है. कहा जा रहा है कि कोरोना हाॅटस्पाॅट बनने के बाद प्रदेश में 45 फार्मा इंडस्ट्री (Pharma Industry) बंद हाे गई है. इससे प्रदेश में दवा उत्पादन का काम प्रभावित हुआ है. खास कर हाइड्राेक्लाेराेक्वीन दवाई के उत्पादन पर भी गहरा असर पड़ा है. अभी हाइड्राेक्लाेराेक्वीन की मांग देश ही नहीं विदेश में भी है. खुद भारत अमेरिका सहित कई देशों को हाइड्राेक्लाेराेक्वीन की सप्लाई कर रहा है. दरअसल, कोरोना मरीजनों के इलाज के लिए हाइड्राेक्लाेराेक्वीन सबसे ज्यादा कारगर दवाई है.

हिमाचल के बद्दी में सबसे ज्यादा दवाई बनानी वाली फैक्ट्रियां हैं. लेकिन बद्दी बराेटिवाला में ही सबसे अधिक क्षेत्र हाॅटस्पाॅट चिन्हित किए गए हैं. ऐसे में प्रशासन ने इन क्षेत्राें काे पूरी तरह से सील करने के आदेश जारी किए हैं. यानि कि यहां पर जरूरी सामान खरीदने के लिए भी किसी को घर से बाहर नहीं निकलने दिया जाएगा. यही वजह है कि हिमाचल में फार्मा उद्याेगाें का काम पूरी तरह से ठप हाे गया है.

इन कंपनियाें काे दी थी मंजूरी
बता दें कि जयराम ठाकुर सरकार ने हाल ही में फार्मा कंपनियों काे काम करने की मंजूरी दी थी. सरकार ने दवाईयाें काे आवश्यक वस्तुओं की श्रेणी में रखा था. मंजूरी मिलते ही प्रदेश भर में करीब 350 फार्मा उद्याेगाें ने काम करना भी शुरू कर दिया था. लेकिन बद्दी बराेटिवाला में सबसे अधिक क्षेत्र हाॅट स्पाॅट चिन्हित किए जाने के बाद काम बंद हो गए.
दैनिक भास्कर के मुताबिक, उद्योग विभाग के निदेशक हंस राज शर्मा ने बताया कि बद्दी बराेटीवाला इलाके को हाॅटस्पाॅट में शामिल किया गया है. ऐसे में इन क्षेत्राें काे पूरी तरह से सील कर दिया गया है. यहां किसी को घर से बाहर निकलने तक की इजाजत नहीं है. हर गतिविधि पर पूर्ण राेक लगा दी गई है. ऐसे में दवा बनाने वाली करीब 45 फर्मा उद्याेग पूरी तरह से बंद हाे गए हैं.



प्रदेश में कुल 33 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं
बता दें कि मंगलवार को हिमाचल प्रदेश के हॉटस्पॉट जिले ऊना में एक और पॉजिटिव मरीज मिला था. कांगड़ा के टांडा मेडिकल कॉलेज में ऊना से कुल 26 संदिग्धों के सैंपल की रिपोर्ट मंगलवार को आई थी. इसमें 23 सैंपल नेगेटिव और 1 पॉजिटिव और दो सैंपलों की रिपोर्ट का इंतजार है. ऊना के सीएमओ रमन शर्मा इस बात की पुष्टि की है. गौरतलब है कि ऊना में कोरोना वायरस अब तक 15 मामले सामने आ चुके हैं. वहीं, प्रदेश में कुल 33 लोग कोरोना वायरस से संक्रमित हैं.
ये भी पढ़ें- 

COVID-19 लॉकडाउन: Delhi-NCR में आप ऐसे प्राप्त कर सकते हैं कर्फ्यू ई-पास

लॉकडाउन के बीच पुलिस ने दी चंद घंटे की छूट,दूल्‍हा-दुल्‍हन ने फटाफट लिए 7 फेरे
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज