Home /News /himachal-pradesh /

Farm Laws: कांग्रेस MLA विक्रमादित्य सिंह बोले- हिमाचल उपचुनाव का असर, तीनों काले कानून वापस

Farm Laws: कांग्रेस MLA विक्रमादित्य सिंह बोले- हिमाचल उपचुनाव का असर, तीनों काले कानून वापस

कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह  प्रत्याशी प्रतिभा सिंह के बेटे हैं. (FILE PHOTO)

कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह प्रत्याशी प्रतिभा सिंह के बेटे हैं. (FILE PHOTO)

Agriculture Laws and Kishan Andholan: हिमाचल के डलहौजी से कांग्रेस विधायक आशा कुमारी ने कहा कि सबको पहले ही मालूम था कि यह किसानों के हक में नहीं है. कांग्रेस ने मुद्दे को लेकर अपने तरीके से उठाई. हालांकि, आशा कुमारी ने कहा कि आंदोलन की वजह से 7 सौ किसानों की जानें गई है, उसके लिए कौन जिम्मेदार है?

अधिक पढ़ें ...

शिमला. केंद्र की मोदी सरकार ने तीन कृषि कानूनों (Agriculture laws) को वापस लेने का ऐलान किया है. शुक्रवार को पीएम मोदी ने देश के नाम संबोधन में माफी मांगते हुए ऐलान किया कि वह कृषि कानूनों को वापस ले रहे हैं. अब पूरे मामले को लेकर सियासी नेताओं से लेकर आम आदमी की प्रतिक्रियाएं आ रही हैं. हिमाचल के पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के बेटे और कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने भी मामले पर बयान दिया है. विक्रमादित्य सिंह (Vikramaditya Singh) ने मोदी सरकार के ऐलान को हिमाचल उपचुनाव से जोड़ते हुए सोशल मीडिया पर बयान जारी किया.

विक्रमादित्य सिंह ने लिखा, “हिमाचल उपचुनाव का असर, तीनों काले कानून वापस.” दरअसल, हाल ही में हिमाचल में चार सीटों पर उपचुनाव हुए हैं और यहां पर चारों सीटों पर भाजपा की हार हुई है. मंडी लोकसभा सीट भी भाजपा को गंवानी पड़ी. दूसरे राज्यों में भी चुनाव में हार के चलते सरकार को अब फैसलों की समीक्षा और बदलाव करना पड़ रहा है.
पहले पेट्रोल के रेट हुए थे कम
इससे पहले, विक्रमादित्य सिंह ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कमी को लेकर उपचुनाव का असर बताया था. विक्रमादित्य सिंह ने कहा था कि हिमाचल में उपचुनाव की हार की गूंज दिल्ली तक सुनाई दी गई है. इसी वजह से सरकार ने पेट्रोल और डीजल के दाम कम किए हैं.

क्या बोली आशा कुमारी

हिमाचल के डलहौजी से कांग्रेस विधायक आशा कुमारी ने कहा कि सबको पहले ही मालूम था कि यह किसानों के हक में नहीं है. कांग्रेस ने मुद्दे को लेकर अपने तरीके से उठाई. हालांकि, आशा कुमारी ने कहा कि आंदोलन की वजह से 7 सौ किसानों की जानें गई है, उसके लिए कौन जिम्मेदार है? हमारा मानना है कि कानून बनने ही नहीं चाहिए थे. आशा कुमारी ने कहा कि एमएसपी को लेकर सरकार को किसानों से बातचीत करनी चाहिए. ये सरकार अहंकार में है और भूल जाती है कि जनता की भावना और ताकत क्या है? और हिमाचल उपचुनाव के जरिये कांग्रेस पार्टी ने रास्ता दिखाया है और सरकार ने चुनाव को देखते हुए कृषि कानूनों को वापस लिया है. आशा कुमारी ने हिमाचल की जनता का आभार जताया और कहा कि जनता ने सरकार को आइया दिखाया है और आने वाले समय में महंगाई कम होगी.

Tags: Farmers Agitation on Delhi Border, Himachal election, Modi Govt

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर