COVID-19: हिमाचल के सभी विधायक CM कोविड राहत कोष में देंगे एक माह का वेतन

हिमाचल में बुधवार को ऑल पार्टी मीटिंग हुई थी.

हिमाचल में बुधवार को ऑल पार्टी मीटिंग हुई थी.

All Party Meeting in Shimla Over Corona virus: नेता प्रतिपक्ष एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता मुकेश अग्निहोत्री ने कोविड-19 मामलों और कोविड के कारण हो रही मृत्यु तथा कोविड की जांच रिपोर्ट प्राप्त करने में देरी पर चिंता व्यक्त की.

  • Share this:

शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के सभी विधायक (MLA) एक माह का वेतन सीएम कोविड राहत कोष में दान करेंगे. इससे पहले, कर्मचारियों और मंत्रियों का वेतन काटने का ऐलान सरकार ने किया था. मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने आयोजित सर्वदलीय बैठक की अध्यक्षता करते हुए नेताओं को राज्य में कोविड-19 की वर्तमान स्थिति और इस महामारी के प्रसार को रोकन के लिए राज्य सरकार द्वारा उठाए जा रहे कदमों के बारे में जानकारी दी.

और क्या बोले सीएम जयराम

जय राम ठाकुर ने कहा कि वर्तमान में राज्य में आॅक्सीजन उत्पादन क्षमता 53 मीट्रिक टन है जिसमें आईएनओएक्स, सोलन से राज्य का 15 मीट्रिक टन कोटा भी सम्मिलित है. प्रदेश सरकार ने केन्द्र से राज्य कोटा 30 मीट्रिक टन तक बढ़ाने का आग्रह किया है. वर्तमान में राज्य में नौ स्थानों पर ऑक्सीजन सिलेंडरों को भरने की क्षमता है और दीन दयाल उपाध्याय अस्पताल शिमला, क्षेत्रीय अस्पताल धर्मशाला और श्री लाल बहादुर शास्त्री राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय नेरचैक में पीएसए प्लांट कार्यशील कर दिए गए हैं.

केंद्र ने छह नए प्लांट की दी मंजूरी
उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने हाल ही में राज्य के लिए छः नए आॅक्सीजन प्लांट स्वीकृत किए हैं जिन्हें नागरिक अस्पताल पालमपुर, क्षेत्रीय अस्पताल मण्डी, शिमला जिला के नागरिक अस्पताल रोहड़ू और खनेरी, डा. यशवंत सिंह परमार राजकीय चिकित्सा महाविद्यालय नाहन और क्षेत्रीय अस्पताल सोलन में स्थापित किया जाएगा. उन्होंने कहा कि केन्द्र सरकार ने प्रदेश के लिए पूर्व सात ऑक्सीजन प्लांट स्वीकृत किए हैं जिनके कार्यशील होने से न केवल प्रदेश बल्कि सम्पूर्ण क्षेत्र के लिए निर्बाध आॅक्सीजन आपूर्ति सुनिश्चित होगी. राज्य सरकार ने केन्द्र को प्रदेश के लिए 5000 डी-टाइप और 3000 बी-टाइप सिलेंडर उपलब्ध करवाने का भी आग्रह किया है. जय राम ठाकुर ने कहा कि राज्य सरकार विभिन्न स्वास्थ्य संस्थानों में बिस्तर क्षमता बढ़ाने के लिए प्रयासरत है. नेरचौक मेडिकल कालेज को समर्पित कोविड अस्पताल बनाया गया है जहां 300 बिस्तरों की क्षमता है. इसी तरह, एमसीएच सुन्दरनगर और मण्डी को भी समर्पित कोविड अस्पताल बनाया गया है. मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्य में टीकाकरण अभियान सफलतापूर्वक चल रहा है और अभी तक पात्र व्यक्तियों को वैक्सीन की 18.80 लाख खुराकें दी जा चुकी हैं. सर्वदलीय बैठक मे सभी विधायकों का एक माह का वेतन मुख्यमंत्री कोविड-19 राहत कोष में अंशदान करने का भी निर्णय लिया गया.

कांग्रेस ने जताई चिंता

नेता प्रतिपक्ष एवं वरिष्ठ कांग्रेस नेता मुकेश अग्निहोत्री ने कोविड-19 मामलों और कोविड के कारण हो रही मृत्यु तथा कोविड की जांच रिपोर्ट प्राप्त करने में देरी पर चिंता व्यक्त की. उन्होंने सरकार को आश्वासन दिया कि इस कठिन समय में विपक्ष सरकार के साथ खड़ा है और जनता के हित में राज्य सरकार के फैसलों का पूरा समर्थन करेगा. उन्होंने कोविड-19 रोगियों के उपचार के लिए ऊना जिले के बाथू और पंडोगा में सामान्य सुविधा केंद्रों की स्थापना का भी सुझाव दिया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज