Home /News /himachal-pradesh /

Ashwani Kumar Suicide Case: 4 पेज का सुसाइड नोट, मार्च से डिप्रेशन में थे हिमाचल के पूर्व DGP अश्वनी कुमार

Ashwani Kumar Suicide Case: 4 पेज का सुसाइड नोट, मार्च से डिप्रेशन में थे हिमाचल के पूर्व DGP अश्वनी कुमार

डॉक्टर अश्वनी कुमार हिमाचल के डीजीपी भी रह चुके हैं.(FILE PHOTO)

डॉक्टर अश्वनी कुमार हिमाचल के डीजीपी भी रह चुके हैं.(FILE PHOTO)

Ashwani Kumar Suicide Case: 1973 बैच के आईपीएस अधिकारी अश्वनी कुमार ने बुधवार शाम को आत्महत्या कर ली. वह हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले से ताल्लुक रखते थे.

शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की राजधानी शिमला (Shimla) में गुरुवार को हिमाचल के पूर्व डीजीपी, सीबीआई (CBI) निदेशक और नागालैंड के पूर्व राज्यपाल अश्वनी कुमार का अंतिम संस्कार किया गया. क्या आम क्या खास, हर किसी ने नम आंखो से अपने प्रिय अश्वनी कुमार (Ashwani Kumar) को अंतिम विदाई दी. देश के राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद (Ramnath Kovind) ने भी शोक जताया है. शोक संतप्त परिवार के प्रति संवेदना जताई है और शोक संदेश भी दिया है. राष्ट्रपति (President) ने उन्हें देश का बेहतरीन अफसर बताया है और उनकी सेवाओं की सराहना की है.

तिरंगे में लिपटे हुए अश्वनी का पार्थिव शरीर जैसे ही शिमला के उपनगर संजौली स्थित चलौंठी शमशानघाट पहुंचा तो आंसूओं का सैलाब उमड़ पड़ा. उनके पार्थिव शरीर को काफी देर तक अंतिम दर्शनों के लिए रखा गया. परिजनों और रिश्तेदारों का रो-रो कर बुरा हाल था. शमशान घाट में उनकी पत्नी,बेटा,बहु और ससुर मौजूद रहे. उनके बेटे ने मुखाग्नि दी.

क्या बोले एसपी
एसपी मोहित चावला ने कहा कि सुबह जल्दी पोस्टमॉर्टम करवाया गया,उम्मीद है कि जल्द ही रिपोर्ट आ जाएगी. एसपी ने कहा कि परिजनों से बातचीत की गई. उन्होंने किसी तरह के फॉउल प्ले की बात नहीं कही है. उन्होंने कहा कि मामले की जांच जारी है. साथ ही कहा कि सुसाइड नोट चार पैराग्राफ का है और हर बात को स्पष्ट बताया है. एसपी ने कहा कि इस घटना पर विश्वास कर पाना मुश्किल है, यकीन नहीं होता कि अब वो हमारे बीच नहीं हैं, अश्वनी कुमार पिता समान थे और हर पुलिसकर्मी के लिए रोल मॉडल हैं.

क्या बोले परिजन
अश्वनी कुमार के भतीजे ने News-18 से कहा कि वो मार्च से ही डिप्रेशन में थे. उन्होंने अपनी परेशानी के बारे में नहीं बताया,इससे ज्यादा वो कुछ नहीं कह पाए. एक जानकारी मिली है कि लॉकडाउन के दौरान काफी समय तक वे मुंबई में फंसे रहे. इस दौरान वे काफी परेशान रहे. ये भी पता चला है कि उनकी बहु ने उन्हें एक लैपटॉप दिया था, जिस कमरे में उन्होंने सुसाइड किया वहां एक टेबल पर लैपटॉप रखा था.

आम से लेकर नेताओं ने दी विदाई
सीबीआई के पूर्व निदेशक और हिमाचल के डीजीपी रहे अश्वनी कुमार को अंतिम विदाई देने के लिए भारी संख्या में लोग पहुंचे. हिमाचल के राज्यपाल की ओर से उनके एडीसी, मुख्यमंत्री की ओर से उनके मुख्य सचिव अनिल कुमार खाची, प्रधान सचिव जेसी शर्मा ने शमशानघाट पहुंचकर श्रद्धांजलि दी. कैबिनेट मंत्री सुखराम चौधरी, नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री, कांग्रेस विधायक सुखविंद्र सिंह सुक्खू,पूर्व मंत्री जीएस बाली, पूर्व विधायक रोहित ठाकुर, शिमला के पूर्व मेयर संजय चौहान,पूर्व डिप्टी मेयर टिकेंद्र पंवर समेत कई नेताओं ने शमशानघाट जाकर श्रद्धांजलि दी. हिमाचल के डीजीपी संजय कुंडू समेत तमाम आला अधिकारियों के अलावा डीजी जेल सोमेश गोयल, पूर्व डीजीपी सीताराम मरड़ी,डीसी शिमला अमित कश्यप,एसपी मोहित चावला समेत कई अधिकारियों ने श्रद्धांजलि दी.

अश्वनी कुमार ने आत्महत्या की थी
बता दें कि 1973 बैच के आईपीएस अधिकारी अश्वनी कुमार ने बुधवार शाम को आत्महत्या कर ली. वह हिमाचल प्रदेश के सिरमौर जिले से ताल्लुक रखते थे. रातभर शव को मॉर्चरी में रखा गया और सुबह पोस्टमॉर्टम किया गया. उसके बाद शव को परिजनों के हवाले किया गया. पुलिस को घटना स्थल पर एक सुसाइड नोट मिला था. डीजीपी ने बताया कि उन्होंने सुसाइड नोट में लिखा है कि किसी गंभीर बीमारी से ग्रस्ति थे और अपनी मर्जी से अपना जीवन समाप्त करने की बात कही. सुसाइड नोट में किसी को भी दोषी नहीं ठहराया है.

Tags: CBI, Himachal news, Shimla, Suicide

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर