होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /पूर्व CM वीरभद्र सिंह के घर पर रेड डालेगी ED-CBI? बेटे विक्रमादित्य सिंह ने जताया अंदेशा

पूर्व CM वीरभद्र सिंह के घर पर रेड डालेगी ED-CBI? बेटे विक्रमादित्य सिंह ने जताया अंदेशा

कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह (FILE PHOTO)

कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह (FILE PHOTO)

CBI and ED Raid: गौरतलब है कि 26 सितंबर 2015 में वीरभद्र सिंह के आवास पर सीबीआई ने रेड डाली थी. इस दिन वीरभद्र सिंह की ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

विक्रमादित्य सिंह ने लिखा- सुनने आय़ा है कि ईडी और सीबीआई हिमाचल में दस्तक देने वाली है.
26 सितंबर 2015 में वीरभद्र सिंह के आवास पर सीबीआई ने रेड डाली थी.

शिमला. देशभर में ईडी और सीबीआई के छापों को लेकर सियासत भी जोरों पर हैं. ऐसे में क्या हिमाचल प्रदेश में भी किसी नेता या कारोबारी पर ईडी या सीबीआई की छापे पड़ेंगे? यह हम नहीं कह रहे हैं. ऐसा अंदेशा कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह ने जताया है. हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव को लेकर सियासी सरगर्मियों के बीच सूबे के पूर्व सीएम और दिवंगत कांग्रेस नेता वीरभद्र सिंह के बेटे विक्रमादित्य सिंह ने ईडी और सीबीआई की छापेमारी को लेकर यह अंदेश जताया है कि हिमाचल में भी छापेमारी की तैयारी चल रही है.

विक्रमादित्य सिंह ने सोशल मीडिया पर लिखा- सुनने में आय़ा है कि ईडी और सीबीआई हिमाचल में दस्तक देने वाली है. हालीलॉज के दरवाजे हमेशा आपके लिए खुले हैं. जलपान की व्यवस्था कर दी गई है. अतिथि देवो भवः.

बता दें कि हॉलील़ॉज पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह का आवास है. शिमला में रिज से कुछ दूर पर यह घर है. वीरभद्र सिंह के निधन के बाद अब उनकी प्रतिभा सिंह और बेटे कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह रहते हैं.

कांग्रेस विधाायक विक्रमादित्य सिंह की पोस्ट.

सात साल पहले हुई थी छापेमारी

गौरतलब है कि 26 सितंबर 2015 में वीरभद्र सिंह के आवास पर सीबीआई ने रेड डाली थी. इस दिन वीरभद्र सिंह की बेटी मीनाक्षी की शादी थी. सीबीआई ने आय से अधिक संपत्ति के मामले में शिमला में वीरभद्र सिंह के निजी आवास हॉली लॉज, रामपुर में पुश्तैनी महल (पद्म पैलेस) और दिल्ली में सरकारी घर समेत कुल 11 ठिकानों पर एक साथ छापामारी की थी. सीबीआई टीम साढ़े 11 घंटे तक वीरभद्र सिंह के घर पर डटी रही थी. अब वीरभद्र सिंह के बेटे ने छापेमारी का अंदेशा जताया है.

Tags: CBI Probe, Himachal pradesh, Shimla News

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें