News18 Impact: बिना चोट के ही टूट रही हैं प्रिंस की हड्डियां, CM ने इलाज के लिए दिए 1 लाख रुपए

बद्दी का 10 साल का प्रिंस.

Bone Fracture Disease: प्रिंस की मां गीता ने बताया कि बेटा बचपन से ही होनहार तथा पढ़ने में तेज था. लेकिन बीमारी के बारे में पहली बार उस समय पता चला, जब वह 4 साल का था. अचानक प्रिंस की स्कूल में टांग की हड्डी टूट गई.

  • Share this:
    शिमला. हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने सोलन जिला के बद्दी क्षेत्र के अन्तर्गत मल्कु माजरा के 10 वर्षीय प्रिंस चौधरी के इलाज के लिए एक लाख रुपये की आर्थिक सहायता दी है. प्रिंस हड्डियों के गम्भीर रोग से पीड़ित है और पीजीआई चंडीगढ़ (PGI Chandigarh) में उपचाराधीन है. प्रिंस की हड्डियां बिना चोट लगे ही टूट जाती हैं. परिवार ने इलाज के लिए मदद की गुहार लगाई थी. माता-पिता को उनके इलाज के लिए मुख्यमंत्री राहत कोष से एक लाख रुपये स्वीकृत किए. आज बुधवार को प्रिंस का चंडीगढ़ में ऑपरेशन होना है.

    मुख्यमंत्री ने कहा कि प्रदेश सरकार गरीबों और जरूरतमंदों को सहायता प्रदान करने और यह सुनिश्चित करने के लिए प्रतिबद्ध है कि धन के अभाव के कारण कोई भी व्यक्ति उचित उपचार से वंचित न रहे. उन्होंने कहा कि प्रदेश सरकार यह सुनिश्चित कर रही है कि सभी जरूरतमंदों को मुख्यमंत्री राहत कोष से हर सम्भव सहायता प्रदान की जा सके. उन्होंने लोगों से मुख्यमंत्री राहत कोष के लिए उदारतापूर्वक अंशदान करने का आग्रह किया, ताकि आवश्यकता के समय में जरूरतमंदों को राहत प्रदान की जा सके.

    सत्ती ने भी लिखा था पत्र
    छठें राज्य वित्त आयोग के अध्यक्ष सतपाल सिंह सत्ती ने भी मुख्यमंत्री को पत्र लिखकर बच्चे और उसके माता-पिता की स्थिति से अवगत करवाया था. उन्होंने मुख्यमंत्री को बताया था कि इस बीमारी के उपचार का सालाना खर्च लगभग दो लाख रुपये है और बच्चे के माता-पिता की आर्थिक स्थिति अच्छी नहीं है और बच्चे के पिता गुरुमेल सिंह पहले ही इलाज के लिए अपनी जमीन और गहने बेच चुके हैं.

    क्या कहती है मां
    प्रिंस की मां गीता ने बताया कि बेटा बचपन से ही होनहार तथा पढ़ने में तेज था, लेकिन बीमारी के बारे में पहली बार उस समय पता चला, जब वह 4 साल का था. अचानक प्रिंस की स्कूल में टांग की हड्डी टूट गई. उसी समय से उसकी पढ़ाई भी छूट गई है. गीता ने बताया कि उनका बेटा प्रिंस इस समय न केवल बीमारी की पीड़ा से जूझ रहा है, बल्कि पढ़ाई छूटने की बात को याद करते बेहद परेशान होकर रोने लग पड़ता है. प्रिंस की टांग व बाजू सहित शरीर के किसी भी हिस्से की हड्डी का टूटने का सिलसिला पिछले 6 साल से चल रहा है. क्षेत्र के जाने-माने अस्पतालों के अलावा वर्तमान में पीजीआई चंडीगढ़ में उसका उपचार किया जा रहा है.

    बीमारी के कारण बेटा चलने में असमर्थ, लोगों से दान की अपील
    गीता देवी ने बताया कि इस बीमारी के कारण उनका बेटा चलने फिरने में असमर्थ है. इस वजह से महीने में कई बार उसे किराए की टैक्सी लेकर अस्पतालों में प्लास्टर इत्यादि करवाना पड़ता है तथा इस इलाज से संबंधित प्रक्रिया में हजारों रुपए खर्च हो जाते हैं. इलाज के लिए हर संभव सहायता करें. प्रिंस के इलाज में सहायता के लिए कोई भी दानी सज्जन अथवा संस्था उसकी मां गीता देवी के हिमाचल प्रदेश ग्रामीण बैंक के बचत खाते 89220108946592 में डाल सकते हैं तथा सहायता के संबंध में उनके मोबाइल नंबर 7876671938 पर संपर्क कर सकते हैं.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.