येलो लाइन पार्किंग: BJP के अपने ही पार्षदों का MC के खिलाफ धरना

मेयर ने कहा कि शिमला बस हादसे के बाद शहर के सभी वार्डों में येलो लाइन लगाने के निर्देश जारी किए हैं. SDM और निगम संयुक्त आयुक्त के नेतृत्व में करीब 11 हजार वाहनों के लिए पार्किंग की जगह चिन्हित की गई.

Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 24, 2019, 6:00 PM IST
येलो लाइन पार्किंग: BJP के अपने ही पार्षदों का MC के खिलाफ धरना
नगर निगम शिमला के बाहर धरना देते भाजपा के दो पार्षद.
Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 24, 2019, 6:00 PM IST
हिमाचल में शिमला में येलो लाइन पार्किंग शुरू न होने पर भाजपा पार्षदों ने मोर्चा खोल दिया हैं. पार्षदों ने अपनी ही पार्टी के शासित नगर निगम के खिलाफ धरना दिया है. भाजपा के दो पार्षद नगर निगम के खिलाफ बुधवार को धरने पर बैठ गए.

ये हैं दोनों पार्षद
संजौली के इंजनघर वार्ड की बीजेपी पार्षद आरती चौहान और टूटू वार्ड के पार्षद विवेक बुधवार को नगर निगम की महापौर कुसुम सदरेट के कार्यालय के बाहर धरने पर बैठ गए. दोनों ने जब तक येलो लाइन पार्किंग शुरू करने को लेकर आश्वासन नहीं मिलता, तब तक धरना जारी रखने का ऐलान किया है.

ये कहना है दोनों का

दोनों पार्षदो ने कहा कि 2 जुलाई को नगर निगम ने स्पेशल हाउस बुलाया गया था, जिसमें येलो लाइन पार्किंग शुरू करने को लेकर प्रस्ताव पारित कर जिला प्रशासन को मंजूरी के लिए भेजा गया था, लेकिन जिला प्रशासन बार-बार उस पर आपत्ति लगा कर फाइल वापिस नगर निगम को भेज रहा है. इसका खामियाजा शहर की जनता को भुगतना पड़ रहा है.

पहले पार्किंग सुविधा फिर चालान
उनका कहना है कि जिन क्षेत्रों में जिला प्रशासन को आपत्ति है, वहां येलो लाइन पार्किंग लगाने का कार्य न शुरू करे, लेकिन जहाँ कोई आपत्ति नहीं है, वहां जल्द से जल्द पार्किंग की सुविधा दी जाए. पार्षदों का कहना है कि पुलिस द्वारा सड़क किनारे खड़ी गाड़ियों का चालान किया जा रहा है, जबकि पहले लोगों को पार्किंग की सुविधा दे, उसके बाद पुलिस कार्रवाई करे. उन्होंने कहा कि जब तक उन्हें आश्वासन नहीं मिलता, तब तक वे धरना खत्म नहीं करेंगे.
Loading...

मेयर और लोग ये बोले
लोगों का कहना है कि इस तरह के धरने-प्रदर्शन कर निगम पार्षद सस्ती लोकप्रियता हासिल करना चाहते हैं. यदि पार्षदों को शहरवासियों की चिंता है तो डीसी और निगम आयुक्त कार्यालय के बाहर प्रदर्शन करे और अपनी सरकार से पार्किंगों के निर्माण के लिए लड़ाई लड़े. मेयर कुसुम सदरेट का कहना है कि निगम ने शहर के सभी वार्डों में करीब 11 हजार से ज्यादा वाहनों के लिए पार्किंग की जगह चिन्हित की है. जिला प्रशासन को चिन्हित स्थानों को लेकर आपत्ति है. डीसी शिमला ने पार्किंग के प्रारूप को दो बार वापिस कर संसोधन माँगा है. अभी तक येलो लाइन लगाने का कार्य शुरू नहीं हो पाया है.

11 हजार वाहनों को मिलेगी सुविधा
मेयर ने कहा कि शिमला बस हादसे के बाद शहर के सभी वार्डों में येलो लाइन लगाने के निर्देश जारी किए हैं. SDM और निगम संयुक्त आयुक्त के नेतृत्व में करीब 11 हजार वाहनों के लिए पार्किंग की जगह चिन्हित की गई. उन्होंने कहा कि पार्षदों के मांगों का जल्द समाधान किया जाएगा. डीसी शिमला ने दस लोगों की कमेटी का गठन किया है, जो जल्द ही वार्डों में येलो लाइन लगाने का कार्य शुरु करेगी.

ये भी पढ़ें: हिमाचल BJP महिला मोर्चा-BJYM पदाधिकारी का अश्लील VIDEO वायरल

श्रीखंड महादेव:ईशानी ने बर्फ में नंगे पांव की 35Km की यात्रा

EVM नहीं, बैलट पेपर हों पछाद-धर्मशाला उपचुनाव: कांग्रेस

उत्तर पुस्तिका की जांच करने वाले तीन टीचर ड्यूटी से बर्खास्त

हिमाचल में मॉनसून: आज से दो दिन तक भारी बारिश की चेतावनी

हिमाचल में डेंगू की दस्तक! 2 लोगों को डेंगू होने की आशंका

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: July 24, 2019, 5:48 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...