धवाला v/s पवन राणा: अनुशासनहीनता पर भाजपा ज्वालामुखी मंडल भंग

विधायक रमेश धवाला और संगठन मंत्री पवन राणा.
विधायक रमेश धवाला और संगठन मंत्री पवन राणा.

दरअसल, यह पूरा मामला भाजपा के हिमाचल संगठन मंत्री पवन राणा और भाजपा के सीनियर नेता और विधायक रमेश ध्वाला से जुड़ा है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 31, 2020, 7:26 AM IST
  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश भाजपा (Bjp) के अध्यक्ष सुरेश कश्यप ने अनुशासनहीनता के आरोप में भाजपा (Bjp) ज्वालामुखी मंडल को भंग कर दिया. सुरेश कश्यप की ओर से जारी पत्र में कहा गया है कि संगठनात्मक जिला देहरा (Dehra) के ज्वालामुखी मंडल के कुछ पदाधिकारियों ने संगठन के खिलाफ बयानबाजी कर पार्टी की छवि को धूमिल करने का प्रयास किया है. यह अनुशासनहीनता है और इसलिए यह कार्रवाई की गई है.

इन पर गिरी गाज
कश्यप के पत्र के अनुसार, मंडल के सभी मोर्चे एवं प्रकोष्ठ भी भंग कर दिए हैं, जिन कार्यकर्ताओं को तत्काल प्रभाव से दायित्व मुक्त किया गया है. इनमें देहरा भाजपा उपाध्यक्ष कुलदीप शर्मा, देहरा भाजपा सचिव जोगिंद्र कौशल, ज्वालामुखी पूर्व मंडल अध्यक्ष चमन लाल पुंडीर, देहरा युवा मोर्चा अध्यक्ष नितिन ठाकुर, प्रदेश सह प्रवक्ता राकेश ठाकुर, महिला मोर्चा से जिला महामंत्री भावना शर्मा और शहरी केंद्र अध्यक्ष रामस्वरूप शास्त्री शामिल हैं.

क्या बोले कश्यप
कश्यप ने कहा कि पार्टी अनुशासन के लिए जानी जाती है और यहां पर कोई भी पदाधिकारी, कार्यकर्ता संगठन से ऊपर नहीं हो सकता है. सभी नेताओं और कार्यकर्ताओं को अनुशासन में रहकर ही पार्टी के लिए काम करना होता है. उन्होंने कहा कि जल्द ज्वालामुखी के नए मंडल और मोर्चे एवं प्रकोष्ठों का गठन किया जाएगा.



क्यो हुई कार्रवाई
दरअसल, यह पूरा मामला भाजपा के हिमाचल संगठन मंत्री पवन राणा और भाजपा के सीनियर नेता और विधायक रमेश ध्वाला से जुड़ा है. दोनों में लंबे समय से खींचतान चली है. यह कार्रवाई स्थानीय विधायक रमेश धवाला और प्रदेश भाजपा संगठन मंत्री पवन राणा के बीच चल रहे सियासी युद्ध के चलते मानी जा रही है. इन दोनों नेताओं में मतभेद हैं और इसके चलते आए दिन ध्वाला की ज्वाला धधकती रहती है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज