हिमाचल उपचुनाव: पच्छाद सीट पर BJP ने लगाई हैट्रिक, रीना कश्यप जीतीं

वोट डालने के बाद रीना कश्यप. (FILE PHOTO)
वोट डालने के बाद रीना कश्यप. (FILE PHOTO)

By Election Himachal: पच्छाद में अनुमान के अनुसार, मुकाबला दिलचस्प रहा है. भाजपा से बागी दयाल प्यारी 12 हजार के करीब वोट ले गई हैं.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के धर्मशाला के बाद अब पच्छाद सीट (Pacchad Assembly Seat) भी भाजपा (BJP) के खाते में गई है. पच्छाद से भाजपा की रीना कश्यप ने कांग्रेस (Congress) के गंगूराम मुसाफिर को हराया है. गंगूराम यहां से सात बार के विधायक थे. हालांकि, 2012 से वह यहां से हार रहे थे. तीसरे नंबर पर भाजपा से बागी दयाल प्यारी रही हैं.

इतने वोट मिले
भाजपा (BJP) की रीना कश्यप को उपचुनाव में 22,048 मत हासिल हुए, जबकि उनके निकटतम प्रतिद्वंदी गंगूराम मुसाफिर को 19,306 वोट हासिल हुए हैं. आजाद और भाजपा से बागी प्रत्याशी दयाल प्यारी ने जबरदस्त प्रदर्शन करते हुए 11,651 मत हासिल किए

पच्छाद में भाजपा की हैट्रिक
पच्छाद सीट पर भाजपा ने जीत की हैट्रिक लगा दी है. कांग्रेस का परंपरागत गढ़ पच्छाद सीट पर भाजपा ने जीत का परचम लहराया है. 2012 के बाद से भाजपा इस सीट पर जीत रही है. इससे पहले, 2012 और 2017 में भाजपा सुरेश कश्यप यहां से जीते थे. लेकिन हाल ही में लोकसभा चुनाव में सुरेश कश्यप शिमला से सांसद बन गए और यह सीट खाली हो गई थी.



पच्छाद में त्रिकोणीय मुकाबला
पच्छाद में अनुमान के अनुसार, मुकाबला दिलचस्प रहा है. भाजपा से बागी दयाल प्यारी 12 हजार के करीब वोट ले गई हैं. उनकी वजह से चुनाव काफी रोचक बना रहा है. भाजपा और कांग्रेस के प्रत्याशी में हार का फासला 2500 मतों के करीब रहा है.

गंगूराम का करियर खत्म?
पच्छाद से कांग्रेस के गंगूराम मुसाफिर की हार के बाद अब उनका करियर लगभग खत्म हो गया है. वह यहां से सात बार के विधायक थे. वह कांग्रेस सरकार में मंत्री भी रहे हैं और विधानसभा स्पीकर का पद भी उनके पास रहा है. अब लगातार तीन बार हारने के बाद उनका करियर खत्म हो गया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज