हिमाचल प्रदेश: कोरोना के बाद ब्लैक फंगस के मरीजों की संख्या बढ़ी, पांच मरीजों की मौत

हिमाचल प्रदेश: बढ़ रहे ब्लैक फंगस के मामले, पांच मरीजों की मौत.

हिमाचल प्रदेश: बढ़ रहे ब्लैक फंगस के मामले, पांच मरीजों की मौत.

हिमाचल प्रदेश में कोरोना के बाद ब्लैक फंगस का कहर भी बढ़ता जा रहा है. ब्लैक फंगस से अब तक प्रदेश में पांच मरीजों की मौत हो चुकी है. इनमें तीन आईजीएमसी में जबकि दो मौतें टांडा मेडिकल कॉलेज में हुई हैं.

  • Share this:

शिमला. हिमाचल प्रदेश ( himachal pradesh ) में कोरोना के बाद ब्लैक फंगस ( black fungus ) का कहर भी बढ़ता जा रहा है. ब्लैक फंगस से अब तक प्रदेश में पांच मरीजों की मौत हो चुकी है. इनमें तीन आईजीएमसी में जबकि दो मौतें टांडा मेडिकल कॉलेज में हुई हैं. आईजीएमसी में ब्लैक फंगस से पीडि़त एक महिला मरीज की मौत हो गई है. यह महिला मरीज नेरचौक से आईजीएमसी रेफर की गई थी.

अस्पताल में ब्लैक फंगस से पीडि़त महिला मरीज की मौत की पुष्टि एमएस डॉ. जनकराज ने की है. आईजीएमसी में हमीरपुर की रहने वाली इस महिला को आईजीएमसी में 20 मई को दाखिल किया था. ब्लैक फंगस का प्रदेश में यह पहली मरीज थी. अस्पताल पहुंचने के बाद महिला को आइसोलेशन वार्ड में दाखिल किया था. यहां महिला मरीज चिकित्सकों की निगरानी में थी. हालांकि, महिला का शुगर लेवल अधिक होने के चलते चिकित्सक शुरुआती दिनों में महिला मरीज की सर्जरी नहीं कर पाए थे, लेकिन हालत में हल्का सुधार होने के बाद चिकित्सकों ने महिला मरीज की आंखों के पास हुए फंगस के इलाज के दौरान एक आंख को भी निकाल दिया था. महिला की हालत काफी गंभीर बनी हुई थी. इसके चलते महिला मरीज की मौत हो गई.

कोरोना महामारी से ग्रस्त लोगों में दिख रहे ब्लैक फंगस के सबसे ज्यादा मामले

आईजीएमसी में अस्पताल में अब तक इस बीमारी से 3 मरीजों की मौत हो गई है, जबकि 12 मरीज इस बीमारी से अस्पताल में उपचार के लिए आ चुके हैं, जिनमें से 11 मरीजों में ब्लैक फंगस के लक्षण पाए गए हैं. इनमें एक व्यक्ति की रिपोर्ट आना बाकी है. डॉ जनक राज ने बताया कि अस्पताल में उपचारित मरीजों में कोरोना के बाद लक्षण पाए गए हैं, जबकि एक मरीज में कोरोना के लक्षण नहीं हैं. उन्होंने बताया कि अस्पताल में प्रदेश के विभिन्न जगहों से ब्लैक फंगस के मामले सामने आए हैं. हालांकि ब्लैक फंगस पुरानी बीमारी है, जिससे घबराने की जरूरत नहीं है. उन्होंने बताया कि कोरोना महामारी के बीच यह ब्लैक फंगस दोबारा देखा गया है,  जिसके चलते विभिन्न जगहों से मरीज आ रहे हैं. जिसमे मरीजों की बार बार सर्जरी की जाती है और जबड़े के भाग से लेकर आंख का ऑपरेशन किया जा रहा है. इन मरीजों के लिए आईसोलेशन वार्ड बनाया गया है ताकि अन्य मरीजों को संक्रमण न फैल सके.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज