शिमला: मां का 106 साल पहले का बर्थ सर्टिफिकेट लेने नगर निगम पहुंचा ब्रिटिश दंपति
Shimla News in Hindi

शिमला: मां का 106 साल पहले का बर्थ सर्टिफिकेट लेने नगर निगम पहुंचा ब्रिटिश दंपति
शिमला में नगर निगम के दफ्तर पहुंचा ब्रिटिश जोड़ा.

नगर निगम की स्वास्थ्य शाखा के पास करीब 150 साल का रिकॉर्ड मौजूद है. साल 1870 के बाद शिमला में पैदा हुए ज्यादातर लोगों का रिकॉर्ड सुरक्षित है.

  • Share this:
शिमला. परिजनों की यादें संजोने के लिए एक ब्रिटिश जोड़ा (British Couple) शिमला पहुंचा. इस दौरान महिला जेलियन ने मां का बर्थ सर्टिफिकेट शिमला नगर निगम (Municipal Corporation Shimla) से हासिल किया. बता दें कि जेलियन की मां का जन्म 106 साल पहले शिमला में हुआ था. अंग्रेजों के शासनकाल में शिमला देश की समर कैपिटल थी. गर्मियों में अंग्रेज शिमला से ही शासन चलाते थे.

जानकारी के अनुसार, इंग्लैंड के साउथ हेम्पटन शहर की जेलियन पति के साथ भारत घूमने आई थीं. इस दौरान वह शनिवार को शिमला पहुंचीं और निगम दफ्तर गईं. जेलियन की मां पीएम स्वॉयर का जन्म 106 साल पहले अंग्रेजी शासनकाल के दौरान शिमला में हुआ था. नगर निगम के अधिकारियों को जेलियन ने बताया कि उनकी मां और नाना कई साल शिमला में रहे थे. जेलियन की बेटी दिल्ली में रहती हैं. वह दिल्ली में बेटी के साथ कुछ दिन बिताने के बाद वह शिमला पहुंची थीं. शनिवार दोपहर निगम कार्यालय में संयुक्त आयुक्त अजीत भारद्वाज और निगम स्वास्थ्य अधिकारी से उन्होंने मां का बर्थ रिकॉर्ड मांगा. एमसी की स्वास्थ्य शाखा से जेलियन की मां के जन्म का रिकॉर्ड मिला है.

रिकॉर्ड में यह है
रिकॉर्ड के अनुसार, 22 सितंबर 1914 को जेलियन की मां का शिमला में जन्म हुआ था. जेलियन के नाना शिमला में कैप्टन थे और मालब्रो में रहते थे. जेलियन को अपनी मां का पुराना घर तो नहीं मिला, लेकिन याद के तौर पर जन्म प्रमाणपत्र जरूर मिल गया.



पहले भी आते रहे हैं विदेशी


नवंबर 2019 में भी एक ब्रिटिश दंपति शिमला पहुंचा था. यह दंपति भी इंग्लैंड से यहां पहुंचा था. दंपति के परिजन शिमला में वर्ष 1879 में पैदा हुए थे. उन्हें रिकॉर्ड में तारीख नहीं मिली थी. हालांकि, सिर्फ बर्थ ईयर का पता चला था.

शिमला एमसी ऑफिस में दंपति.
शिमला एमसी ऑफिस में दंपति.


निगम के पास है 150 साल का रिकॉर्ड
नगर निगम की स्वास्थ्य शाखा के पास करीब 150 साल पुराना जन्म-मृत्यु का रिकॉर्ड मौजूद है. साल 1870 के बाद शिमला में पैदा हुए ज्यादातर लोगों का रिकॉर्ड नगर निगम के पास है. इसमें 1870 से 1947 तक पैदा हुआ ब्रिटिश नागरिक के जन्म होने का भी रिकॉर्ड शामिल है.

ये भी पढ़ें: हिमाचल में हथियार के दम पर किडनैपिंग के बाद स्कूली छात्रा से गैंगरेप

बजट सत्र:कांग्रेस नेता मुकेश का तीखा हमला, हिमाचल को सरकार ने थाईलैंड बना दिया

हिमाचल विधासभा का बजट सत्र : स्पीकर के नाम पर आज विचार करेगी भाजपा
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading