अपना शहर चुनें

States

हिमाचल बजट सत्र: सरकार को घेरने के लिए रणनीति बनाने में जुट गया विपक्ष

6 मार्च को सीएम जयराम ठाकुर अपना चौथा बजट पेश करेंगे.
6 मार्च को सीएम जयराम ठाकुर अपना चौथा बजट पेश करेंगे.

Budget Session of Himachal Pradesh: छात्र अभिभावक मंच ने निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ 5 मार्च को विधानसभा का घेराव करेगा.

  • Share this:
शिमला. 26 फरवरी से हिमाचल प्रदेश विधानसभा का बजट सत्र (Budget Session of Himachal Pradesh Legislative Assembly) शुरू हो रहा है. 6 मार्च को सीएम जयराम ठाकुर अपना चौथा बजट पेश करेंगे. विधानसभा सत्र को लेकर विपक्ष सरकार को घेरने के लिए रणनीति बनाने में जुट गया है. विभिन्न मुद्दों को लेकर मुख्य विपक्षी दल कांग्रेस और माकपा सरकार की सदन के भीतर और बाहर दोनों जगहों पर घेरेबंदी की बिसात बिछाने के लिए लगातार मंथन चल रहा है. कांग्रेस (Congress) का युवा विंग यूथ कांग्रेस और छात्र विंग एनएसयूआई के अलावा माकपा और वामपंथ से जुड़े सीटू, एसएफआई,डीवाईएफआई समेत अन्य संगठन सत्र के दौरान विधानसभा का घेराव करेंगे.

ये बोले कांग्रेस नेता

कांग्रेस के प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने कहा कि घेराव किस दिन किया जाएगा, इसकी घोषणा कुछ दिनों में की जाएगी. मुख्य मुद्दों की बात करें तो किसान आंदोलन, महंगाई, बेरोजगारी और भ्रष्टाचार कांग्रेस का मुख्य मुद्दा रहेगा. राठौर ने कहा कि कांग्रेस के विधायक सदन के भीतर आक्रामक रहेंगे और जनहित से जुड़े मुद्दों पर सरकार के खिलाफ हल्ला बोला जाएगा, सदन हो या सड़क दोनों जगह सरकार के खिलाफ बड़े स्तर प्रदर्शन किया जाएगा.



माकपा ने नहीं खोले पत्ते
68 सीटों वाली हिमाचल विधानसभा में माकपा का एकमात्र विधायक है. ठियोग से माकपा विधायक राकेश सिंघा अकेले जरूर हैं लेकिन कई बार ये देखा गया है कि अकेले दम पर सरकार को घेरने का माद्दा रखते हैं.माकपा विभिन्न विभागों में खाली पद, सड़क, शिक्षा,बेरोजगारी से लेकर तमाम ज्वलंत मुद्दों को लेकर विधानसभा के घेराव की तैयारी कर रही है लेकिन अब तक वामपंथी दल ने अपने पत्ते नहीं खोले हैं.

5 मार्च को छात्र अभिभावक मंच घेरेगा विधानसभा

छात्र अभिभावक मंच ने एलान किया है कि निजी स्कूलों की मनमानी के खिलाफ 5 मार्च को विधानसभा का घेराव किया जाएगा. प्राइवेट स्कूलों की ओर से ली जाने वाली फीस, प्रवेश प्रक्रिया, पाठयक्रम को संचालित करने के लिए कानून बनाने, रेगुलेटरी कमिशन गठित करने, टयूशन फीस के साथ एनुअल चार्जिज सहित अन्य सभी तरह के चार्जिज की वसूली पर रोक लगाने, ड्रेस, किताबों और कार्यक्रमों के नाम पर ठगी रोकने के मुद्दों पर घेराव किया जाएगा. मंच के संयोजक विजेंद्र मेहरा का कहना है कि इस प्रदर्शन में प्रदेशभर से अभिभावक जुटेंगे. हालांकि शिक्षा मंत्री गोबिंद सिंह ठाकुर एलान कर चुके हैं कि निजी स्कूलों की मनमानी पर नकेल कसने के लिए सरकार वर्ष 1997 के कानून में संशोधन कर कानून को कड़ा रूप देगी लेकिन छात्र अभिभावक मंच अलग से नए और कड़े कानून की मांग कर रहा है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज