होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /

HRTC स्कूल बस हादसा: खटारा थी बस, इंश्योरेंस भी हो चुका था खत्म

HRTC स्कूल बस हादसा: खटारा थी बस, इंश्योरेंस भी हो चुका था खत्म

जानकारी के अनुसार, खलीणी के झंझीडी में यह सड़क संकरी थी. इस दौरान ड्राइवर बस को निकाल रहा था, लेकिन जगह कम होने की वजह से बस 500 मीटर नीचे लुढ़क चली गई है.  

    हिमाचल प्रदेश के शिमला में एचआरटीसी स्कूल हादसे में चौंकाने वाला खुलासा हुआ है. बस की हालात काफी खटारा थी और दस जून यह बस मैहली के पास खराब हो गई थी. इसके अलावा, बस की इंश्योरेंस भी खत्म हो चुकी थी. अब घटना के बाद सरकार और प्रशासन की कार्यप्रणाली पर सवाल उठने लगे हैं.

    ये है मामला
    सोमवार सुबह शिमला में एचआरटीसी की स्कूल बस हादसे का शिकार हो गई है. हादसे में दो बच्चों समेत ड्राइवर कुल तीन की मौत हो गई है. दोनों बच्चों की मौके पर ही जान चली गई थी. उधर, घायल पांच बच्चों को शिमला के आईजीएमसी अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. सुबह साढ़े आठ बजे के करीब यह हादसा हुआ है.

    शिमला में हादसे का शिकार हुई बस की डिटेल.


    कुल सात बच्चे थे सवार
    जानकारी के अनुसार, एचआरटीसी की यह बस सुबह चेल्सी के बच्चों को लेकर जा रही थी. बस में ड्राइवर कंडक्टर कुल सात बच्चे सवार थे. हादसे के बाद मौके पर चीख पुकार मच गई और स्थानीय लोग घटनास्थल की ओर दौड़े. उन्होंने राहत बचाव शुरू किया और पुलिस को सूचना दी. मृतक बच्चों की पहचान मान्या (15) निवासी लोअर खलीणी और मेहुल (13) भागवल नगर, झंझीड़ी की रूप में हुई है. वहीं बस चालक नरेश की भी मौत हो गई है.

    जिंदगी का इम्तेहान हारीं
    चेल्सी स्कूल में आज बच्चों का एग्जाम था. इन दोनों छात्राओं का भी पेपर था, लेकिन जिंदगी के इम्तेहान में वह पास नहीं हो सकती और मान्या और मेहुल की जान चली गई. मूल रूप से छात्राएं चौपाल और राहड़ू की रहने वाली थी. हालांकि, ये परिवार संग खलीणी में रहती थी और चेल्सी स्कूल में पढ़ती थी.

    दस दिन पहले खराब हुई थी बस
    जानकारी के मुताबिक, हादसे का शिकार हुई बस खटारा थी. 10 दिन पहले यह बस मैहली के पास खराब हो गई थी. बस का स्टेयरिंग सही से काम नहीं कर रहा था. सड़क परिवहन एवं उच्च मार्ग मंत्रालय की वेबसाइट से पता चला है कि इस बस की इंश्योंरेंस 3 जून को खत्म हो गई थी. वहीं जहां हादसा हुआ है, वहां सड़क के किनारे न क्रैश बैरियर थे और न ही पैराफिट लगाए गए थे.

    इस वजह से हुआ हादसा
    जानकारी के अनुसार, खलीणी के झंझीडी में यह सड़क संकरी थी. इस दौरान ड्राइवर बस को निकाल रहा था, लेकिन जगह कम होने की वजह से बस 500 मीटर नीचे लुढ़क चली गई है.  2 साल पहले नगर-निगम प्रशासन ने इस सड़क को नो पार्किंग जोन घोषित किया था. कुछ समय सख्ती भी की, लेकिन हाल वही हुआ, जिसका जहां दिल किया, गाड़ी पार्क कर दी. सड़क पर पार्क गाड़ी से पास लेते हुए ही बस नीचे गिरी है.

    ये भी पढ़ें: PHOTOS: शिमला में HRTC की स्कूल बस हादसे का शिकार, 3 की मौत

    शिमला के बाद अब चंबा में HRTC बस खाई में गिरी, उड़े परखच्चे

    Tags: Himachal pradesh, HRTC, Shimla

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर