अपना शहर चुनें

States

विस चुनाव : थम गया प्रचार का शोर, अब डोर-टू-डोर

प्रतीकात्मक तस्वीर.
प्रतीकात्मक तस्वीर.

सभी पोलिंग बूथ पर 11 हजार पुलिस जवान, 6 हजार होम गार्ड और 65 केंद्रीय सुरक्षा बलों की कंपनियां लगाई गई हैं. निष्पक्ष चुनाव के लिए सभी स्टेटिक सर्विलेंस, पुलिस, आबकारी, आयकर और अन्य विभागों के टीमें हाई अलर्ट पर हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: November 8, 2017, 11:45 AM IST
  • Share this:
हिमाचल विधानसभा चुनाव के लिए आखिकार कई दिन चला आ रहा प्रचार का शोर मंगलवार को शाम पांच बजे से थम गया. अब वोटिंग के लिए काउंटडाउन शुरू हो गया है. 9 नवंबर को सुबह आठ बजे से वोटिंग शुरू होगी. सभी पार्टियों के प्रत्याशी अब डोर-टू-डोर जनसंपर्क कर रहे हैं.

बता दें कि चुनाव में 50 लाख से ज्यादा मतदाता वोट डालेंगे. इसमें 46 फीसदी युवा हैं. इसके अलावा, 50 फीसदी महिला मतदाता हैं.

मुख्य निर्वाचन अधिकारी पुष्पेन्द्र राजपूत ने बताया कि प्रदेश में स्वतंत्र व निष्पक्ष चुनाव के लिए 7525 मतदान केन्द्र बनाए गए हैं. इसमें 983 संवेदनशील तथा 399 मतदान केन्द्र अतिसंवेदनशील हैं. कांगड़ा में सर्वाधिक 297 संवेदनशील मतदान केन्द्र तथा किन्नौर में न्यूनतम दो संवेदनशील मतदान केंद्र हैं.



68 विधानसभा सीटों के लिए नौ नवम्बर को वोट डाले जाएंगे. दिल्ली से हिमाचल में डेरा डाले विभिन्न दलों के केंद्रीय नेता भी लौट गए हैं. सभी पोलिंग बूथ पर 11 हजार पुलिस जवान, 6 हजार होम गार्ड और 65 केंद्रीय सुरक्षा बलों की कंपनियां लगाई गई हैं. निष्पक्ष चुनाव के लिए सभी स्टेटिक सर्विलेंस, पुलिस, आबकारी, आयकर और अन्य विभागों के टीमें हाई अलर्ट पर हैं.
हिमाचल में नौ नवंबर तक और 18 दिसंबर को ड्राई डे रहेगा. आयोग ने प्रदेश में स्वतंत्र, निष्पक्ष, शांतिपूर्ण एवं सुचारु मतदान प्रक्रिया को सुनिश्चित बनाने के लिए व्यवस्था की है.

ड्राई-डे पर शराब की न तो बिक्री होगी और न ही होटल, रेस्टोरेंट, दुकान, सार्वजनिक स्थल अथवा निजी स्थल पर शराब उपलब्ध होगी. 18 दिसंबर को विधानसभा चुनाव के नतीजे आएंगे.

साथ ही ठेके, होटल, रेस्टोरेंट, क्लब अथवा संस्थान में शराब बेचने या बांटने की मंजूरी नहीं होगी. क्लब, होटल, रेस्टोरेंट में शराब भी परोसी नहीं जा सकेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज