हिमाचल विधानसभा में गूंजा मंडी शिवरात्रि के भोज के दौरान दलितों से जातीय भेदभाव का मुद्दा
Shimla News in Hindi

हिमाचल विधानसभा में गूंजा मंडी शिवरात्रि के भोज के दौरान दलितों से जातीय भेदभाव का मुद्दा
हिमाचल विधानसभा में इन दिनों बजट सत्र चल रहा है.

गुरुवार को महोत्सव के छठे दिन यू ब्लॉक में सार्वजनिक भोज का आयोजन किया गया था. आरोप है कि देव समाज से जुड़े कुछ लोगों ने साथ में भोजन करने वालों को यह कहकर जबरन उठा दिया कि वे अनुसूचित जाति से हैं और उन्हें साथ बैठकर खाने की इजाजत नहीं है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के मंडी (Mandi) जिले में शिवरात्रि मेले (Shivaratri Fair) के दौरान सामूहिक भोज के दौरान दलित (Dalit) समुदाय के लोगों के साथ हुए जातीय भेदभाव (Caste Discrimination) का मुद्दा हिमाचल प्रदेश विधानसभा (Himachal Assemby) में गूंजा. किन्नौर से कांग्रेस विधायक जगत सिंह नेगी ने सदन प्रश्नकाल को स्थगित कर इस विषय पर चर्चा मांगी. हालांकि, विधानसभा अध्यक्ष (Speaker) विपिन सिंह परमार ने कार्यस्थगन के प्रस्ताव को नियमानुसार न मानते हुए प्रश्नकाल स्थगित करने से इंकार किया. लेकिन, जगत सिंह नेगी को अपनी बात रखने का मौका दिया.

भाजपा सरकार में बढ़ा भेदभाव
जगत सिंह नेगी ने सरकार पर तीखा हमला बोला और कहा कि इस सरकार में दलित समुदाय के लोगों के साथ जातीय भेदभाव बढ़ा है. बीजेपी की मानसिकता में जातिवाद घुला हुआ है. नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने भी कहा कि सीएम जयराम ठाकुर का गृह क्षेत्र मंडी सबसे ज्यादा विवादों में है. यहां पहले भी जातीय भेदभाव हुआ है. इसके साथ-साथ कुल्लू जिला में भी मन की बात कार्यक्रम के दौरान भेदभाव की घटना सामने आई है.

मंत्री ने दिया जवाब
विपक्ष की ओर से उठाए मुद्दे पर सीएम जयराम ठाकुर की गैरहाजिरी में जल शक्ति मंत्री महेंद्र सिंह ठाकुर ने सदन में जवाब दिया. महेंद्र सिंह ठाकुर ने कहा कि मामला प्रकाश में आते ही आरोपियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज कर दी गई है और उन्हें अरेस्ट भी किया गया है. कोर्ट में पेश करने के बाद न्यायालय अपना काम करेगा. बीजेपी पर जातिवादी मानसिकता रखने के आरोप पर उन्होंने कहा कि यह बीजेपी ही है, जिसके सबसे ज्यादा एससी विधायक चुनकर आए हैं. बीजेपी सभ धर्मों, वर्गे, जातियों को साथ लेकर चलती है, जिसने गलत किया है, वो भुगतेगा.



ये है मामला
दरअसल, गुरुवार को महोत्सव के छठे दिन यू ब्लॉक में सार्वजनिक भोज का आयोजन किया गया था. आरोप है कि देव समाज से जुड़े कुछ लोगों ने साथ में भोजन करने वालों को यह कहकर जबरन उठा दिया कि वे अनुसूचित जाति से हैं और उन्हें साथ बैठकर खाने की इजाजत नहीं है. इस पर विवाद हो गया और दोनों पक्षों में कहासुनी हुई. मौके पर पुलिस बुलानी पड़ी. बाद में केस दर्ज किया गया है और दो लोगों की गिरफ्तारी हुई है.

ये भी पढ़ें: मंडी शिवरात्रि महोत्सव में सार्वजनिक भोज के दौरान जातीय भेदभाव, 2 लोग गिरफ्तार

ऊना में नाकेबंदी के दौरान 19.08 ग्राम चिट्टे के साथ 3 कार सवार गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading