लाइव टीवी

कोटखाई दुष्कर्म-मर्डर: CBI की मांग-खारिज हो IG जैदी की जमानत, कोर्ट में डाली याचिका

News18 Himachal Pradesh
Updated: January 21, 2020, 11:57 AM IST
कोटखाई दुष्कर्म-मर्डर: CBI की मांग-खारिज हो IG जैदी की जमानत, कोर्ट में डाली याचिका
सूरज हत्याकांड में आरोपी आईजी जैदी.

Shimla-Kotkhai Gang rape and Murder Case: शिमला में वकील न मिलने पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर केस को चंडीगढ़ स्थित सीबीआई की विशेष कोर्ट में ट्रांसफर किया गया था. वहीं. मामले का ट्रायल चल रहा है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के चर्चित कोटखाई गैंगरेप और मर्डर केस (Shimla Kotkhai Gang rape and Murder) से जुड़े सूरज कस्टोडियल डेथ केस में आरोपी पूर्व आईजी जहुर हैदर जैदी (IG Jahoor H Jaiddee) की मुश्किलें एक बार फिर से बढ़ने वाली है. सीबीआई (CBI) ने कोर्ट में जैदी की जमानत खारिज करने के लिए याचिका दायर की है. इसके अलावा, गैर-जमानती (Bail) वारंट जारी करने की भी याचिका सीबीआई ने कोर्ट में दाखिल की है. कोर्ट ने जैदी को नोटिस जारी कर जवाब मांगा है. मामले की अगली सुनवाई 24 दिसंबर को होगी.

इसलिए खारिज हो याचिका
दरअसल, हाल ही में शिमला की पूर्व एसपी सौम्या ने कोर्ट में बयान दर्ज करवाया था कि जैदी ने उन पर उनके अनुसार कोर्ट में बयान देने का दवाब बनाया था. इस पर कोर्ट ने डीजीपी को जैदी के खिलाफ कार्रवाई करने के आदेश दिए थे. इस पर सरकार ने जैदी को सस्पेंड कर दिया था.

सीबीआई ने यह कहा

ताजा याचिका में सीबीआई ने चंडीगढ़ में विशेष अदालत में कहा कि जैदी जमानत पर हैं. जमानत लेने के दौरान उन्होंने कहा था कि वह मामले के गवाह और सुबूतों के साथ छेड़छाड़ नहीं करेंगे, लेकिन अब वह गवाहों को प्रभावित करन के अलावा उन पर दवाब बना रहे हैं. ऐसे में उनकी जमानत खारिज की जाए.

सूरज हत्या कांड में जैदी समेत नौ पुलिस कर्मी हैं आरोपी
कोटखाई गैंगरेप और मर्डर केस में आरोपी रहे सूरज हत्याकांड में जैदी समेत नौ पुलिसकर्मी आरोपी हैं.इसी मामले में शिमला में तैनात रही एसपी सौम्या की गवाही हुई, इसमें उन्होंने जैदी पर परेशान और दवाब बनाने के आरोप लगाए थे.यह है मामला
चार जुलाई 2017 को कोटखाई के एक स्कूल की छात्रा लापता हो गई थी. दो दिन बाद दादी जंगल से छात्रा का शव बरामद हुआ. पोस्टमार्टम रिपोर्ट में दुष्कर्म के बाद हत्या की पुष्टि हुई थी. इसमें पुलिस ने पांच आरोपी गिरफ्तार किए थे. इनमें एक सूरज भी था. 18 जुलाई को कोटखाई थाने के लॉकअप में पुलिस कस्टडी में टॉर्चर की वजह से सूरज की जान चली गई थी. इस पर सीबीआई ने जैदी समेत नौ पुलिस कर्मियों को गिरफ्तार किया था. आईजी जैदी, के अलावा शिमला के पूर्व एसपी डीडब्ल्यू नेगी, ठयोग डीएसपी मनोज जोशी, कोटखाई के पूर्व एसएचओ राजिद्र सिंह, एएसआइ दीपचंद, हेड कांस्टेबल सूरत सिंह, मोहन लाल, रफी अली और कांस्टेबल रंजीत को गिरफ्तार किया गया था. शिमला में वकील न मिलने पर सुप्रीम कोर्ट के आदेश पर केस को चंडीगढ़ स्थित सीबीआई की विशेष कोर्ट में ट्रांसफर किया गया था. वहीं. मामले का ट्रायल चल रहा है.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 21, 2020, 11:57 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर