अपना शहर चुनें

States

कोटखाई गैंगरेप: मुख्य आरोपी की पहचान करने वाले को CBI देगी 10 लाख

प्रतीकात्मक तस्वीर.
प्रतीकात्मक तस्वीर.

कोटखाई गैंगरेप और दुष्कर्म मामले में सीबीआई की टीम खाली हाथ है. इस बात का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है, क्योंकि सीबीआई ने मुख्य आरोपी की पहचान के लिए दस लाख रुपए देने की घोषणा की है. दिल्ली से सीबीआई मुख्यालय से इसकी घोषणा की गई है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: December 15, 2017, 10:42 PM IST
  • Share this:
कोटखाई गैंगरेप और दुष्कर्म मामले में सीबीआई टीम के हाथ खाली हैं. इसका अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है, क्योंकि सीबीआई ने मुख्य आरोपी की पहचान के लिए 10 लाख रुपए देने की घोषणा की है. दिल्ली से सीबीआई मुख्यालय से इसकी घोषणा की गई है.

बता दें कि सीबीआई को गैंगरेप और मर्डर मामले में अब तक कुछ हाथ नहीं लगा है. सीबीआई पांचों आरोपियों के खिलाफ चार्जशीट भी दाखिल नहीं कर पाई है. इस वजह से पांचों आरोपी जेल से बाहर हैं, उन्हें कोर्ट से बेल मिली हुई है. यहां तक कि आरोपियों का नार्को टेस्ट भी करवाया गया है. फिलहाल, सीबीआई खाली हाथ है. मामले की जांच जारी है.

ये है मामला
चार जुलाई को कोटखाई के छात्रा स्कूल से लौटते वक्त लापता हो गई थी. इसके बाद छह जुलाई को कोटखाई के जंगल में बिना कपड़ों के उसकी लाश मिली थी. छात्रा की गैंगरेप के बाद हत्या कर दी गई थी. मामले में छह आरोपी पकड़े गए थे.
इनमें राजेंद्र सिंह उर्फ राजू, हलाइला गांव, सुभाष बिस्ट (42) गढ़वाल, सूरज सिंह (29) और लोकजन उर्फ छोटू (19) नेपाल और दीपक (38) पौड़ी गढ़वाल के कोटद्वार से है. इनमें से सूरज की कोटखाई थाने में 18 जुलाई की रात को हत्या कर दी गई थी. आरोप है कि राजू की सूरज से बहस हुई और उसके बाद राजू ने उसकी हत्या कर दी. सीबीआई ने इन दोनों मामलों में केस दर्ज किया है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज