HPTDC होटल लीज मामला: सियासी बवाल के बाद CM ने दिए जांच के आदेश

Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 27, 2019, 11:33 AM IST
HPTDC होटल लीज मामला: सियासी बवाल के बाद CM ने दिए जांच के आदेश
सोलन में प्रसिद्ध चायल पैसेल. (FILE PHOTO)

ब्रॉशर में सोलन के चायल का प्रसिद्ध होटल ‘द चायल पैलेस’ (The Chail Palace) के अलावा, मनाली, चंबा, कांगड़ा और मंडी के कुल 14 होटलों को लीज पर देने का जिक्र किया गया था. इनकी लीज मनी 33 करोड़ रुपये से 250 करोड़ रुपये रखी गई थी. इस पर अब हंगामा मचा हुआ है.

  • Share this:
हिमाचल प्रदेश पर्यटन विकास निगम के (HPTDC) के 14 होटलों को लीज पर देने के सरकारी बेवसाइट पर अपलोड हुए ब्रॉशर ने हड़कंप मचा दिया है. विपक्ष सरकार पर आक्रामक हो गया है. सीएम जयराम ठाकुर (CM Jai Ram Thakur) ने इस मुददे पर सफाई दी. हिमाचल में नवंबर में होने वाली इन्वेस्टर मीट से पहले प्रदेश का सियासी पारा चढ़ा हुआ है. इस बीच सरकार के लिए पर्यटन विभाग (Himachal Tourism) के एक ब्रॉशर ने परेशानी खड़ी कर दी.

ये है मामला
दरअसल, इन्वेस्टर मीट के मद्देनजर बनाई गई बेवसाइट ‘द राइजिंग हिमाचल’ में पर्यटन विभाग का एक ब्रॉशर एकाएक चर्चा में आया है, जिसमें एचपीटीडीसी को होटलों को लीज पर देने की बात कही गई थी. इसमें करीब 14 से ज्यादा होटलों का नाम था, जिसमें सोलन का प्रसिद्ध होटल चायल भी शामिल था. बात की भनक लगते ही विपक्ष ने शोर मचाना शुरू किया. अब सरकार ने कहा है कि उन्हें इस बात की जानकारी नहीं थी कि कैसे यह ब्रॉशर पोर्टल पर आया.

कांग्रेस ने घेरा

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि हिमाचल सरकार प्रदेश को बेचने जा रही है, जिसे बर्दाश्त नहीं किया जाएगा. साथ ही लैंड सिलिंग एक्ट में भी बदलाव की तैयारी की जा रही है, जो हर स्तर पर विरोध होगा. इन्वेस्टर मीट के बहाने सरकार सरकार प्रदेश के होटलों को गुपचुप तरीके से बेचने जा रही है. मुख्यमंत्री गैर हिमाचलियों की चौकड़ी से घिरे हुए हैं.

सीएम ने दी सफाई
शोर मचा तो सीएम जयराम ठाकुर तक भी बात पहुंची. सीएम जयराम ठाकुर ने ब्रॉशर को तुरंत बेवसाइट से हटाने के निर्देश दिए. ब्रॉशर किसने डाला इसकी जांच के भी आदेश दिए. सीएम जयराम ठाकुर ने कहा कि सरकार की एचपीटीडीसी के होटलों को लीज पर देने की कोई मंशा नहीं थी, जो भी हुआ, वो गलती से हुआ है, जो दोषी होगा उस पर कार्रवाई होगी.
Loading...

चंबा के खजियार में सरकारी होटल.
चंबा के खजियार में सरकारी होटल.


घाटे में चल रहे होटलों की सूची
मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर ने कहा कि सरकार ने घाटे में चल रहे होटलों की सूची बनाई थी, जिसे गलती से अपलोड़ किया गया, इसमें 21 होटल और बाकी ओपन एयर कैफे शामिल थे. विपक्ष के आरोपों को खारिज करते हुए सीएम ने कहा कि विपक्ष ओच्छी राजनीति कर रहा है. साथ लैंड सीलिंग एक्ट में संशोधन के आरोपों पर उन्होंने कहा कि इसका वे विधानसभा में जवाब देंगे. हालांकि लैंड सीलिंग एक्ट में कोई संशोधन नहीं किया गया है. जबकि चुनाव से पहले कांग्रेस सरकार ने टी-टूरिज्म के नाम पर इसमें संशोधन किया है.

विपक्ष को मिला मुद्दा
गौरतलब है कि अब मुख्यमंत्री के आदेशों के बाद बेवसाइट पर अपलोड किया गया ब्रॉशर तो हटा दिया गया है, लेकिन सरकार की इस मुद्दे पर खूब किरकिरी हुई और विपक्ष को मुफ्त में ही बड़ा सियासी मुद्दा मिल गया. मुख्यमंत्री ने बेशक सफाई भी पेश की है. अब आज यानी मंगलवार को विधानसभा में विपक्ष इस मुद्दे को उठा सकता है.

ये होटल लीज पर देने की बात कही थी
ब्रॉशर में सोलन के चायल का प्रसिद्ध होटल चायल पैलेस (The Chail Palace) के अलावा, मनाली, चंबा, कांगड़ा और मंडी के कुल 14 होटलों को लीज पर देने का जिक्र किया गया था. इनकी लीज मनी 33 करोड़ रुपये से 250 करोड़ रुपये रखी गई थी. इस पर अब हंगामा मचा हुआ है.

ये भी पढ़ें: टीचर ने बच्ची को पीटा, ‘बालों में शैंपू करके क्यों नहीं आती‘

ड्रग कंट्रोलर के ठिकानों पर छापे: आरोपी ने अग्रिम जमानत लगाई

मणिमहेश से लौट रहे श्रद्धालुओं की गाड़ी लुढ़की, 5 घायल

फैक्ट्री से छुट्टी कर जा रही युवती से घर में घुसकर रेप, FIR

हिमाचल के शिमला में बादल फटा, मणिमहेश यात्रा भी रोकी

हिमाचल: कुल्लू में 32 साल के युवक का मर्डर, सिर पर किया वार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: August 27, 2019, 9:37 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...