होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /CM का ऐलान: क्वारंटीन युवक की मौत और लाश की बेकद्री केस की होगी मैजिस्ट्रियल जांच

CM का ऐलान: क्वारंटीन युवक की मौत और लाश की बेकद्री केस की होगी मैजिस्ट्रियल जांच

नई गाइडलाइंस के अनुसार रेस्टोरेंट और ढ़ाबे 60 प्रतिशत सीटिंग कैपेसिटी के साथ खुलेंगे.

नई गाइडलाइंस के अनुसार रेस्टोरेंट और ढ़ाबे 60 प्रतिशत सीटिंग कैपेसिटी के साथ खुलेंगे.

न्यूज-18 की खबर का असर हुआ है. क्योंकि न्यूज-18 ने इस मामले को सबसे पहले उठाया था. मुख़्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam T ...अधिक पढ़ें

    शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के बिलासपुर के स्वारघाट में क्वारंटाइन सेंटर में गिरने से युवक की मौत (Death) पर प्रदेश सरकार ने मजिस्ट्रियल जांच के आदेश दे दिए हैं. न्यूज-18 की खबर का असर हुआ है. क्योंकि न्यूज-18 ने इस मामले को सबसे पहले उठाया था. मुख़्यमंत्री जयराम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने कहा की मामले की जांच एडीएम लॉ एंड आर्डर बिलासपुर करेंगे. मामले की रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की करवाई की जाएगी. मुख्यमंत्री (CM) जयराम ठाकुर ने घटना पर दुख व्यक्त किया और कहा कि आरोपियों के खिलाफ कड़ी कार्रवाई की जाएगी.

    ये है मामला
    रविवार को हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के बिलासपुर जिले में क्वारंटीन सेंटर में गिरने के बाद युवक की मौत हो गई थी. पुलिस (Police) ने इस संबंध में धारा-34 और आईपीसी (IPC) की सेक्शन 304ए के तहत मामला दर्ज किया है. युवक की बहन की ओर से इस संबंध में बिलासपुर के एसपी को शिकायत पत्र सौंपा था. इस पर स्वारघाट थाना पुलिस ने अब मामला दर्ज किया है. युवक की कोविड टेस्ट रिपोर्ट भी नेगेटिव आई है.

    क्वारंटीन था युवक
    बिलासपुर के बल्हचुराणी के रहने वाले हंसराज (26) सात मई को मध्य प्रदेश के कोरोना रेड ज़ोन से स्वारघाट पहुँचा था. उन्हें यहाँ पर फ़ॉरेस्ट विभाग के रेस्ट हाउस में इंस्टीट्यूशनल क्वॉरन्टीन किया गया था. बीते रविवार को एक बजे बाथरूम में गिरने से हंसराज को चोट लगी और वो मदद के लिए पुकारते रहा, मगर कोई नहीं आया, जबकि अस्पताल साथ में था. हेड इंजरी के कारण हंसराज को उल्टी भी हुई. आरोप है कि कुछ देर बाद एक डॉक्टर आया तो उसने बिना जांचे और हाथ लगाए दूर से कहा- युवक मिर्गी का दौरा पड़ा है. काफी समय के बाद युवक को जैसे-तैसे वहां से पहले क्षेत्रिय अस्पताल और फिर शिमला रेफर किया गया. लेकिन युवक ने रास्ते में दम तोड़ दिया था.

    आईजीएमसी में लाश की बेकद्री
    इसके बाद जब युवक की लाश आईजीएमसी पहुंचाई गई तो उसे किसी ने वहां रिसीव नहीं किया. कई घंटे तक युवक का शव आईजीएमसी के बाहर लावारिश हालात में पड़ा रहा. चार घंटे बाद सुबह नौ बजे के करीब लाश को मौके से उठाया गया. युवक की कोविड रिपोर्ट भी नेगेटिव आई है. बिलासपुर पुलिस ने अब कोताबी बरने का मामला दर्ज किया है. हालांकि, किसी को इसमें नामजद नहीं किया गया है.

    Tags: Corona, Himachal Government, Himachal pradesh

    टॉप स्टोरीज
    अधिक पढ़ें