CM Jairam in Delhi: PM मोदी के बाद अब गृह मंत्री से मिले CM जयराम ठाकुर

अमित शाह से दिल्ली में मुलाकात के दौरान सीएम जयराम ठाकुर.

अमित शाह से दिल्ली में मुलाकात के दौरान सीएम जयराम ठाकुर.

CM Jairam Delhi Tour: सीएम जयराम ठाकुर मंगलवार को अब शिमला लौट आएंगे. वह दो दिन के लिए दिल्ली दौरे पर गए थे. यहां उन्होंने कई नेताओं से मुलाकात की है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने मंगलवार को नई दिल्ली में केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह से भेंट की. यह एक शिष्टाचार भेंट थी. मुख्यमंत्री ने बैठक के दौरान केंद्रीय गृह मंत्री से प्रदेश के विभिन्न मुद्दों के बारे में चर्चा की. उन्होंने प्रदेश में वन स्वीकृतियों से जुड़ी बाधाओं को दूर करने के लिए केंद्रीय मंत्री का विशेष रूप से आभार व्यक्त किया, क्योंकि वन स्वीकृतियां लटकने से प्रदेश में विकासात्मक परियोजनाएं प्रभावित हो रहीं थीं. अमित शाह (Amit Shah) ने मुख्यमंत्री को प्रदेश की विभिन्न विकासात्मक आवश्यकताओं के लिए हर संभव सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया.

और क्या बोले सीएम

जय राम ठाकुर ने प्रधानमंत्री को अवगत कराया कि प्रदेश सरकार विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करते हुए इस वर्ष हिमाचल प्रदेश के पूर्ण राज्यत्व का स्वर्ण जयंती समारोह मना रही है. सरकार के 50 वर्षों की विकासात्मक यात्रा को प्रदर्शित करती रथ यात्रा के साथ-साथ 15 अप्रैल को मंडी जिले में राज्य स्तरीय समारोह का आयोजन किया जाएगा. इस दौरान वर्तमान प्रदेश सरकार की पिछले तीन वर्षों की उपलब्धियों से भी लोगों को अवगत करवाया जाएगा. मुख्यमंत्री ने प्रदेश के लिए विशेष रूप से अटल टनल जैसे तोहफे देने के लिए प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया.

आधारशिला के लिए भी कहा
उन्होंने प्रधानमंत्री से 1796 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 111 मेगावाट की सावड़ा-कुड्डू जल विद्युत परियोजना के लोकार्पण के अलावा 210 मेगावाट के लुहरी चरण-एक जलविद्युत परियोजना और 66 मेगावाट धौलासिद्ध जलविद्युत परियोजना की आधारशिलाएं रखने का भी आग्रह किया.

केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से भेंट

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने दिल्ली में केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से भेंट कर जिला मण्डी में नए ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे के निर्माण और कांगड़ा जिला में मौजूदा हवाई अड्डे के विस्तार तथा नागरिक सुविधाओं के स्तरोन्यन के लिए 1420 करोड़ रुपये जारी करने का आग्रह किया. जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में सीमित रेल सुविधा को ध्यान में रखते हुए यहां हवाई सम्पर्क सुविधा होना अत्यन्त आवश्यक है. मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने स्वयं वित्तायोग के समक्ष अपना पक्ष रखा है. माईक्रो इकोनोमिक फंडामेंटलज को ध्यान में रखते हुए 15वें वित्तायोग ने प्रदेश के लिए 1420 करोड़ रुपये की सिफारिश की है.



रक्षामंत्री से भी मिले सीएम

इससे पहले, मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से भेंट की. मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय मंत्री को जिला कांगड़ा के योल छावनी क्षेत्र में रहने वाले लोगों की लम्बे समय से लम्बित मांग से अवगत करवाया और योल छावनी के कुछ क्षेत्र की अधिसूचना वापिस लेने का आग्रह किया. मंत्रालय से इस अधिसूचना की लम्बे समय से प्रतीक्षा है. मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय मंत्री से नाहन के निकट बनोग से धरक्यारी तक प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत सड़क के निर्माण के लिए शीघ्र अनापत्ति प्रमाण-पत्र जारी करने का अनुरोध किया. उन्होंने कहा कि इस सड़क का 300 मीटर का क्षेत्र रक्षा क्षेत्र के अन्तर्गत आता है जिस कारण सड़क का निर्माण कार्य रूका हुआ है. राज्य सरकार लम्बे समय से अनापत्ति प्रमाण-पत्र का आग्रह कर रही है.

राजनाथ का आश्वासन

केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मामले को सुना और मुख्यमंत्री को आश्वासन दिया कि दोनों मामले उच्च स्तरीय समिति की बैठक में हल कर लिए जाएंगे। यह बैठक उनकी अध्यक्षता में अगले 15 दिनों के भीतर आयोजित होगी, इसमें रक्षा मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी और हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री भाग लेंगे. उन्होंने राज्य सरकार को सभी विकासात्मक कार्यों में पूर्ण सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज