Assembly Banner 2021

हिमाचल सरकार निकालेगी रथयात्रा, पीएम मोदी से मिले CM जयराम ने दिया न्योता

दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात के दौरान सीएम जयराम ठाकुर.

दिल्ली में पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात के दौरान सीएम जयराम ठाकुर.

CM Jairam Thakur Delhi Tour: इससे पहले, सीएम जयराम ठाकुर ने राजनाथ सिंह, निर्मणा सीतारमण और अनुराग ठाकुर से भी मुलाकात की थी.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर (CM Jairam Thakur) ने सोमवार को नई दिल्ली में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी (Narender Modi) से भेंट की. उन्होंने प्रधानमंत्री (Prime Minister) को 15 अप्रैल, 2021 को हिमाचल दिवस के अवसर पर प्रदेश के विकास की 50 वर्षों की शानदार विकासात्मक यात्रा को प्रदर्शित करती रथ यात्रा का उद्घाटन करने के लिए हिमाचल आने के लिए आमंत्रित किया.

और क्या बोले सीएम
जय राम ठाकुर ने प्रधानमंत्री को अवगत कराया कि प्रदेश सरकार विभिन्न कार्यक्रमों का आयोजन करते हुए इस वर्ष हिमाचल प्रदेश के पूर्ण राज्यत्व का स्वर्ण जयंती समारोह मना रही है. सरकार के 50 वर्षों की विकासात्मक यात्रा को प्रदर्शित करती रथ यात्रा के साथ-साथ 15 अप्रैल को मंडी जिले में राज्य स्तरीय समारोह का आयोजन किया जाएगा. इस दौरान वर्तमान प्रदेश सरकार की पिछले तीन वर्षों की उपलब्धियों से भी लोगों को अवगत करवाया जाएगा. मुख्यमंत्री ने प्रदेश के लिए विशेष रूप से अटल टनल जैसे तोहफे देने के लिए प्रधानमंत्री का आभार व्यक्त किया.
आधारशिला के लिए भी कहा
उन्होंने प्रधानमंत्री से 1796 करोड़ रुपये की लागत से निर्मित 111 मेगावाट की सावड़ा-कुड्डू जल विद्युत परियोजना के लोकार्पण के अलावा 210 मेगावाट के लुहरी चरण-एक जलविद्युत परियोजना और 66 मेगावाट धौलासिद्ध जलविद्युत परियोजना की आधारशिलाएं रखने का भी आग्रह किया.



केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से भेंट

मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने दिल्ली में केन्द्रीय वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण से भेंट कर जिला मण्डी में नए ग्रीनफील्ड हवाई अड्डे के निर्माण और कांगड़ा जिला में मौजूदा हवाई अड्डे के विस्तार तथा नागरिक सुविधाओं के स्तरोन्यन के लिए 1420 करोड़ रुपये जारी करने का आग्रह किया. जय राम ठाकुर ने कहा कि प्रदेश में सीमित रेल सुविधा को ध्यान में रखते हुए यहां हवाई सम्पर्क सुविधा होना अत्यन्त आवश्यक है. मुख्यमंत्री ने कहा कि उन्होंने स्वयं वित्तायोग के समक्ष अपना पक्ष रखा है. माईक्रो इकोनोमिक फंडामेंटलज को ध्यान में रखते हुए 15वें वित्तायोग ने प्रदेश के लिए 1420 करोड़ रुपये की सिफारिश की है.

वित्तमंत्री निर्मणा सीतारमण और अनुराग ठाकुर के साथ सीएम जयराम ठाकुर.


रक्षामंत्री से भी मिले सीएम
इससे पहले, मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर ने केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से भेंट की. मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय मंत्री को जिला कांगड़ा के योल छावनी क्षेत्र में रहने वाले लोगों की लम्बे समय से लम्बित मांग से अवगत करवाया और योल छावनी के कुछ क्षेत्र की अधिसूचना वापिस लेने का आग्रह किया. मंत्रालय से इस अधिसूचना की लम्बे समय से प्रतीक्षा है. मुख्यमंत्री ने केन्द्रीय मंत्री से नाहन के निकट बनोग से धरक्यारी तक प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना के अन्तर्गत सड़क के निर्माण के लिए शीघ्र अनापत्ति प्रमाण-पत्र जारी करने का अनुरोध किया. उन्होंने कहा कि इस सड़क का 300 मीटर का क्षेत्र रक्षा क्षेत्र के अन्तर्गत आता है जिस कारण सड़क का निर्माण कार्य रूका हुआ है. राज्य सरकार लम्बे समय से अनापत्ति प्रमाण-पत्र का आग्रह कर रही है.
राजनाथ का आश्वासन
केन्द्रीय रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह ने मामले को सुना और मुख्यमंत्री को आश्वासन दिया कि दोनों मामले उच्च स्तरीय समिति की बैठक में हल कर लिए जाएंगे। यह बैठक उनकी अध्यक्षता में अगले 15 दिनों के भीतर आयोजित होगी, इसमें रक्षा मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारी और हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री भाग लेंगे। उन्होंने राज्य सरकार को सभी विकासात्मक कार्यों में पूर्ण सहयोग प्रदान करने का आश्वासन दिया.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज