होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /Himachal Cabinet: जिस जिले में कांग्रेस ने सबसे ज्यादा सीटें जीती, वहां से बना केवल 1 मंत्री, समारोह से सुधीर शर्मा रहे नदारद

Himachal Cabinet: जिस जिले में कांग्रेस ने सबसे ज्यादा सीटें जीती, वहां से बना केवल 1 मंत्री, समारोह से सुधीर शर्मा रहे नदारद

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में 15 विधानसभा सीटें हैं.

हिमाचल प्रदेश के कांगड़ा जिले में 15 विधानसभा सीटें हैं.

Himachal Cabinet Formation: बीती भाजपा सरकार में भी कांगड़ा हाशिये पर रहा था. भाजपा सरकार में कैबिनेट में शुरु में दो म ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

हिमाचल कैबिनेट में कांगड़ा से एक ही विधायक को जगह मिली.
कांगड़ा के ज्वाली से विधायक चंद्र कुमार कैबिनेट मंत्री बनाया गया है.
धर्मशाला से सुधीर शर्मा, रघुबीर सिंह बाली को भी मंत्रिमंडल में स्थान नहीं मिला.

शिमला. हिमाचल प्रदेश में जिस जिले से सत्ता का रास्ता तय होता है. वह एक बार फिर से हाशिये पर नजर आ रहा है. भाजपा सरकार (BJP Govt) में भी कांगड़ा को ज्यादा तवज्जो नहीं मिला. अब कांग्रेस सरकार (Sukhu Govt) में कैबिनेट में जगह पाने के लिए कांगड़ा के विधायक जद्दोजहद करते दिख रहे हैं. दरअसल, हिमाचल कैबिनेट में कांगड़ा से एक ही विधायक को जगह मिली. कांगड़ा के ज्वाली से विधायक चंद्र कुमार कैबिनेट मंत्री बनाया गया है. अहम बात है कि धर्मशाला (Dharamshala) से सुधीर शर्मा  (Sudhir Sharma) और आशीष बुटेल के अलावा, रघुबीर सिंह बाली को भी मंत्रीमंडल में स्थान नहीं मिला है.

आशीष बुटेल को हालांकि, सीपीएस बनाकर शांत करने की कोशिश की गई है. लेकिन सुधीर शर्मा को मंत्रीमंडल में जगह ना मिलना सियासी गलियारों में चर्चा का विषय बना है. रविवार को जब राजभवन शिमला में मंत्रीमंडल का शपथ ग्रहण समाहोर हुआ तो सुधीर शर्मा शर्मा समारोह से नदारद रहे.

ब्राह्मण कोटे से बनना था मंत्री

चंद्र कुमार को ओबीसी कोटे से मंत्री बनाया गया है. वहीं, कांगड़ा से सुधीर शर्मा को ब्राह्मण कोटे से मंत्रीमंडल में जगह मिलनी थी. वहीं, पालमपुर से आशीष बुटेल का नाम भी रेस में था. लेकिन केवल एक ही विधायक को मंत्री बनाया गया है. गौरतलब है कि कांग्रेस ने कांगड़ा जिले में 15 सीटों में से 10 पर जीत हासिल की है. हिमाचल में चुनावी इतिहास रहा है कि जो पार्टी कांगड़ा में सबसे ज्यादा सीट जीतती है, वहीं सत्ता पर काबिज होती है.

भाजपा सरकार में भी हाशिये पर रहा कांगड़ा

बीती भाजपा सरकार में भी कांगड़ा हाशिये पर रहा था. भाजपा सरकार में कैबिनेट में शुरु में दो मंत्रियों को जगह दी गई थी. विक्रम सिंह के अलावा सरवीण चौधरी महिला कोटे से मंत्री बनी थी. बाद में जब कैबिनेट विस्तार हुआ था तो राकेश पठानिया मंत्री बने थे. उस दौरान सरकार पर कांगड़ा की अनदेखी के आरोप लगते रहे थे.

सीएम सुखविंदर सुक्खू ने क्या कहा

कैबिनेट के गठन के बाद सीएम सुखविंदर सिंह सुक्खू ने शिमला में कहा कि संतुलन नहीं, मेरिट के आधार पर मंत्रिमंडल बनाया गया है और सात में से चार पहली बार मंत्री बने हैं. उन्होंने कहा कि जल्द विभागों का आबंटन होगा. साथ ही कैबिनट का बाद में विस्तार किया जाएगा. वहीं, उप मुख्यमंत्री मुकेश अग्निहोत्री ने कहा कि पूरी तरह से संतुलित मंत्रिमंडल है. और  किसी का मनमुटाव और द्वंद नहीं है.

Tags: Himachal Cabinet Meeting, Himachal Congress, Himachal Pradesh Assembly Election, Kangra district, Shimla News, Sukhvinder Singh Sukhu

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें