अब किसानों-बागवानों का पैसा नहीं हड़प पाएंगे आढ़ती

सेब सीजन का आगाज हो गया है. लेकिन बागवानों को एक बार फिर वही चिंता सताने लगी है कि इस बार फिर उनके साथ कोई धोखाधड़ी न हो.

Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 12, 2019, 7:17 PM IST
अब किसानों-बागवानों का पैसा नहीं हड़प पाएंगे आढ़ती
शिमला - सेब सीजन का आगाज
Pradeep Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 12, 2019, 7:17 PM IST
सेब सीजन का आगाज हो गया है. लेकिन बागवानों को एक बार फिर वही चिंता सताने लगी है कि इस बार फिर उनके साथ कोई धोखाधड़ी न हो. दरअसल हिमाचल में सेब सीजन के दौरान कई ऐसे मामले आते हैं जब बागवानों का पैसा आढ़तियों के पास फंस जाता है. इसे देखते हुए इस बार कृषि उपज विपणन समिति ने आढ़तियों को लाइसेंस देने के लिए बड़ी शर्त लगा दी है. आढ़तियों को लाइसेंस के लिए 5 से 50 लाख रुपये की सिक्युरिटी मनी देनी होगी. ऐसा इसलिए ताकि अगर किसी बागवान का पैसा फंस जाता है तो उसकी भरपाई सिक्युरिटी मनी से की जा सकेगी.

पुलिस वेरिफिकेशन भी जरूरी



इसके अलावा जो खरीददार बाहरी राज्यों से आए हैं उनके लिए पुलिस वेरिफिकेशन भी जरूरी किया गया है. ऐसा इसलिए ताकि उत्पाद खरीदकर रफूचक्कर होने वाले बाहरी राज्यों के व्यापारियों को आसानी से पकड़ा जा सके. एपीएमसी शिमला और किन्नौर के अध्यक्ष नरेश शर्मा ने इसकी पुष्टि की है.

आढ़तियों को देनी होगी 5 से 50 लाख सिक्योरिटी मनी


उन्होंने कहा कि सेब सीजन के मद्देनजर सारी तैयारियां कर ली गई हैं. उन्होंने कहा कि पिछले बार 202 मामले ऐसे आए जिसमें व्यापारियों ने बागवानों के पैसे नहीं दिए. इनमें से केवल 22 मामले ही निपटाए जा सके, जिसमें करीब 90 लाख रुपये मिल पाए. उन्होंने कहा कि इसे ध्यान में रखते हुए ही इस बार कई सारे नियम बनाए गए हैं ताकि बागवानों के साथ कोई ठगी नहीं हो.

ये भी पढ़ें - हिमाचल: तस्करों को पकड़ने गई पुलिस टीम पर हमला, ASP-DSP घायल

ये भी पढ़ें - 4 बस स्टैंड पर मिलेंगे सैनेटरी नैपकिन, 19 पर Wi-Fi सुविधा
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...