पूर्व सीएम वीरभद्र के वार्ड की पार्षद अर्चना धवन ने थामा बीजेपी का दामन

पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के जाखू वार्ड की कांग्रेस पार्षद अर्चना धवन ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के समक्ष भाजपा का दामन थामा.

Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 7, 2019, 7:27 AM IST
पूर्व सीएम वीरभद्र के वार्ड की पार्षद अर्चना धवन ने थामा बीजेपी का दामन
जाखू वार्ड से कांग्रेस पार्षद अर्चना धवन ने थामा भाजपा का दामन
Gulwant Thakur | News18 Himachal Pradesh
Updated: July 7, 2019, 7:27 AM IST
हिमाचल प्रदेश में शुक्रवार को कांग्रेस को एक और झटका लगा. शिमला नगर निगम की पार्षद अर्चना धवन ने भाजपा के सदस्यता अभियान के पहले दिन कांग्रेस को झटका दे दिया. पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के जाखू वार्ड की कांग्रेस पार्षद अर्चना धवन ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर के समक्ष भाजपा का दामन थाम लिया. सीएम ने शुक्रवार को रुलदुभट्टा में सदस्यता अभियान के शुभारंभ के मौके पर अर्चना धवन को भाजपा का पटका पहनाकर पार्टी की सदस्यता ग्रहण करवाई.

अर्चना धवन को वीरभद्र सिंह का करीबी माना जाता था. विधानसभा चुनाव में शिमला शहर से कांग्रेस प्रत्याशी के खिलाफ काम करने पर कांग्रेस ने अर्चना धवन को निष्कासित किया था, लेकिन कुछ समय पहले ही उनकी कांग्रेस में वापसी हो गई थी. भाजपा ने अपने सदस्यता अभियान के पहले दिन अर्चना धवन को पार्टी का सदस्य बनाया और अभियान में पहले सदस्य के रूप में शामिल किया.

'कांग्रेस में सीनियर नेताओं की कद्र नहीं'

कांग्रेस के गढ़ माने जाने वाले जाखू वार्ड से पार्षद अर्चना धवन ने भाजपा का दामन थामने के बाद कहा कि पीएम मोदी के 'सबका साथ सबका विकास' से प्रेरित होकर उन्होंने भाजपा की सदस्यता ग्रहण की. धवन ने कहा कि कांग्रेस पार्टी में अब सीनियर नेताओं की कोई कद्र नहीं रही.

राज परिवार से कोई शिकायत नहीं

अर्चना धवन भले ही कांग्रेस छोड़ कर भाजपा ज्वाइन कर ली है, लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री राजा वीरभद्र सिंह को वे अपना आदर्श मानती हैं. उन्होंने कहा कि राजा परिवार से उन्हें कोई शिकवा नहीं है. उन्हीं की बदौलत वह 25 सालों से कांग्रेस में सक्रिय रही. लेकिन, कांग्रेस की नई कार्यकारणी से परेशान हैं.

मेयर ने किया स्वागत-
Loading...

भाजपा में शामिल हुईं पार्षद अर्चना धवन का मेयर कुसुम सदरेट ने स्वागत किया है. उन्होंने कहा कि अब नगर निगम शिमला में भाजपा पार्षदों की संख्या 20 से बढ़कर 21 पहुंच गई है. सरकार की नीति से प्रभावित होकर कांग्रेस पार्षद ने भाजपा की सदस्यता को स्वीकार किया है.

ये भी पढ़ें- फेसबुक पर फ्रेंडशिप कर नाबालिग से रेप, अकाउंट से निकाले पैसे

ये भी पढ़ें- सेक्स रैकेट का पर्दाफाश, होटल में सजी थी जिस्म की मंडी
First published: July 7, 2019, 7:09 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...