हिमाचल प्रदेश : कांग्रेस में अंतर्कलह, फाड़ डाले पार्टी कार्यालय में लगे पोस्टर

पुण्यतिथि के मौके पर लगाई गई होर्डिंग्स फाड़ता दूसरे गुट का कांग्रेसी कार्यकर्ता.

पुण्यतिथि के मौके पर लगाई गई होर्डिंग्स फाड़ता दूसरे गुट का कांग्रेसी कार्यकर्ता.

शिमला के पार्टी कार्यालय और बस स्टैंड पर पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी को उनकी पुण्यतिथि पर श्रद्धांजलि देने के लिए होर्डिंग्स लगाई गई थी. लेकिन कांग्रेस के दूसरे गुट ने इन्हें फाड़ दिया, यह कहकर कि इन होर्डिंग्स में पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह की फोटो नहीं है.

  • Share this:

शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) के शिमला (Shimla) स्थित पार्टी कार्यालय (Party Office) और बस स्टैंड पर होर्डिंग लगाकर पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी (ormer Prime Minister Rajiv Gandhi) को उनकी पुण्यतिथि (Death anniversary) पर श्रद्धांजलि दी गई थी. लेकिन हिमाचल कांग्रेस की आपसी कलह और गुटबाजी (factionalism) में ये होर्डिंग्स फाड़ डाली गई. जिस गुट के छुटभइये नेताओं ने यह करतूत की है उनका कहना था कि पूर्व प्रधानमंत्री राजीव गांधी, पूर्व मंत्री जीएस बाली और कांग्रेस नेताओं की इस होर्डिंग में पूर्व सीएम की फोटो नहीं लगाई गई थी. बता दें कि हिमाचल प्रभारी राजीव शुक्ला ने कोविड प्रभावित लोगों को राहत देने के लिए पूर्व मंत्री जीएस बाली की अध्यक्षता में एक कमेटी का गठन किया है. इसी रिलीफ कमेटी की ये होर्डिंग बताई जा रही है.

15 दिनों के भीतर स्थिति स्पष्ट करने का निर्देश

इस मुद्दे को लेकर शिमला ग्रामीण से कांग्रेस विधायक और पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह के पुत्र ने फेसबुक पर पोस्ट डाली है. पोस्ट में उन्होंने लिखा है, ‘तस्वीर कागज के पन्ने से ज्यादा दिल में बेहतर लगती है’. इस बाबत कांग्रेस अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने पार्टी में अनुशासनहीनता के लिए पार्टी कार्यकर्ता देवन भट्ट और दीपक खुराना को पार्टी की प्राथमिक सदस्यता से तत्काल प्रभाव से निलंबित किया है और 15 दिनों के भीतर अपनी स्थिति स्पष्ट करने को कहा है.

कांग्रेस की ओर से प्रेस नोट जारी
कैमरे पर तो कोई सामने नहीं आए लेकिन प्रेस नोट जारी कर कांग्रेस महासचिव रजनीश किमटा ने इन दोनों को कारण बताओ नोटिस जारी करते हुए कहा है कि राजीव गांधी की पुण्यतिथि पर प्रदेश कांग्रेस मुख्यालय राजीव भवन में कोरोना से प्रभावित लोगों की सहायता के लिए लगाए गए एक पोस्टर, फ्लेक्स को फाड़ने का पार्टी आलाकमान ने कड़ा संज्ञान लिया है. इस बारे इन दोनों ने एक वीडियो भी सोशल मीडिया पर जारी किया है, जिसमें वह इस होर्डिंग फ्लेक्स को फाड़ते हुए दिख रहे है.

'राजीव गांधी की शहादत का अपमान'

किमटा ने कहा कि प्रदेशाध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर ने भी इसका कड़ा संज्ञान लिया है और उन्होंने इसे राजीव गांधी की शहादत का अपमान बताया है. उन्होंने कहा कि फ्लेक्स के निर्माण को लेकर अगर उन्हें कोई आपत्ति थी तो वे इस बारे अपनी आपत्ति दर्ज करवा सकते थे. उनका इस प्रकार का व्यवहार अनुशासनहीनता के साथ-साथ कांग्रेस नेताओं का अपमान है, जिसे किसी भी स्तर पर सहन नहीं किया जा सकता.



प्रदेश कार्यकारिणी पर भी सवाल

अब इस पूरे मुद्दे पर सवाल कांग्रेस प्रदेश कार्यकारिणी की कार्यप्रणाली पर भी उठ रहा है कि कैसे इतने कद्दावर नेता को पोस्टर से हटाया जा सकता है. 9 लोगों की तस्वीर को होर्डिंग में जगह दी गई और वीरभद्र सिंह की फोटो को स्थान नहीं दिया गया.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज