अपना शहर चुनें

States

हिमाचल उपचुनाव: पच्छाद से जीआर मुसाफिर होंगे कांग्रेस प्रत्याशी, धर्मशाला में पेंच

गंगू राम मुसाफिर पच्छाद से विधायक रह चुके हैं.
गंगू राम मुसाफिर पच्छाद से विधायक रह चुके हैं.

‌By-Election in Himachal: कांग्रेस (Congress) ने पच्छाद विधानसभा सीट से साल 2017 विधानसभा चुनाव (Assembly Polls) में भी गंगूराम मुसाफिर (Gangu Ram Musafir) को उतारा था. वह भाजपा के सुरेश कश्यप से हार गए थे.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश (Himachal Pradesh) की दो विधानसभा (Vidhan Sabha) सीटों के लिए कांग्रेस ने पच्छाद (Pacchad Seat) सीट के लिए नाम तय कर दिया है. कांग्रेस सूत्रों के अनुसार, पच्छाद से पूर्व कांग्रेस विधायक गंगू राम मुसाफिर को ही टिकट दिया जाएगा. वहीं, धर्मशाला (Dharamshala) सीट से कांग्रेस के टिकट के लिए नाम फाइनल नहीं हो पाया है, वहां फिलहाल, पेंज फंसा हुआ है.

कांग्रेस के सूत्रों का कहना है कि पच्छाद आरक्षित सीट है और ऐसे में गंगूराम मुसाफिर (Gangu ram Musafir) के नाम पर हाईकमान ने मोहर लगाई है. पच्छाद से कांग्रेस के लिए तीन लोगों ने टिकट के लिए आवदेश किया था. बता दें कि हिमाचल में दो विधानसभा सीटों पर उप-चुनाव होगा. नामांकन के लिए 30 सितंबर अंतिम तिथि है. 21 अक्तूबर को वोट डाले जाएंगे और 24 अक्टूबर को रिजल्ट घोषित होगा.

दिल्ली में अध्यक्ष राठौर और मुकेश
हिमाचल कांग्रेस के अध्यक्ष कुलदीप सिंह राठौर और नेता विपक्ष मुकेश अग्निहोत्री अभी दिल्ली में मौजूद हैं. धर्मशाला से सुधीर शर्मा का नाम रेस में सबसे आगे था, लेकिन बताया जा रहा है कि सुधीर शर्मा के चुनाव नहीं लड़ने की खबरें भी आ रही हैं. धर्मशाला सीट से 7 आवेदकों ने टिकट के लिए आवेदन किया है.
कौन हैं मुसाफिर


कांग्रेस ने पच्छाद विधानसभा सीट से साल 2017 विधानसभा चुनाव में भी गंगूराम मुसाफिर को उतारा था. वह भाजपा के सुरेश कश्यप से हार गए थे. इससे पहले 2012 में में भी मुसाफिर को भाजपा के सुरेश कुमार कश्यप से 2805 वोटों से हार मिली थी. गंगूराम मुसाफिर कांग्रेस एक अनुभवी राजनीतिज्ञ हैं. साल 2012 में हारने से पहले, वह 1982 से इस सीट पर जीतते आ रहे थे. 1982 में मुसाफिर ने एक स्वतंत्र उम्मीदवार के रूप में चुनाव लड़ा और जीता, लेकिन 1985 से वह कांग्रेस (Congress) के टिकट पर चुनाव लड़े थे. वह मंत्री के अलावा, हिमाचल विधानसभा (Himachal Vidhansabha) के स्पीकर भी रह चुके हैं.

ये भी पढ़ें: दो दशक बाद HPCA को मिला नया बॉस, अनुराग के भाई अरुण धूमल चुने गए अध्यक्ष

टैक्सी ड्राइवर हत्याकांड और लूट: अश्वनी को छाती और सिर पर मारी गईं 3 गोलियां

विदाई से पहले मॉनसून मुखर: हिमाचल में झमाझम बारिश, एयर इंडिया की उड़ान रद्द

अब नाहन में शुरू होगी ‘पुलिस की पाठशाला’, गरीब बच्चों को मिलेगी फ्री कोचिंग

डयूटी पर तैनात 26 साल वर्षीय पुलिस कांस्टेबल की गोली लगने से मौत

रेप से गर्भवती हुई नाबालिग ने नवजात को खिड़की से फेंका, आरोपी फूफा गिरफ्तार
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज