होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /शिमला पहुंचे कांग्रेस नेता आनंद शर्मा-बोले इस्तीफा क्यों दिया, यह मेरे और सोनिया गांधी के बीच का मामला

शिमला पहुंचे कांग्रेस नेता आनंद शर्मा-बोले इस्तीफा क्यों दिया, यह मेरे और सोनिया गांधी के बीच का मामला

शिमला के पीटरऑफ होटल में वर्करों ने आनंद शर्मा का जोरदार स्वागत किया.

शिमला के पीटरऑफ होटल में वर्करों ने आनंद शर्मा का जोरदार स्वागत किया.

Congress Leader Anand Sharma in Shimla: आनंद शर्मा शिमला जिले के कुमारसैन से संबंध रखते हैं, 1982 में उन्होंने यहां हिम ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

हिमाचल कांग्रेस संचालन समिति से इस्तीफा देने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा बुधवार को शिमला पहुंचे.

शिमला. हाल ही में हिमाचल कांग्रेस संचालन समिति से इस्तीफा देने वाले कांग्रेस के वरिष्ठ नेता आनंद शर्मा बुधवार को शिमला पहुंचे. शिमला के पीटरऑफ होटल में वर्करों ने उनका जोरदार स्वागत किया. इस दौरान कांग्रेस के कुसुम्मपट्टी से विधायक अनिरूध शर्मा और कार्यकारी उपाध्यक्ष हर्ष महाजन भी मौजूद रहे. साथ ही कांग्रेस नेता नरेश चौहान भी आनंद शर्मा के स्वागत के लिए पहुंचे थे.

पीटरहॉफ में कार्यकर्ताओं को संबोधित करते आनंद शर्मा ने कहा कि कांग्रेस संचालन समिति से इस्तीफा क्यों दिया, यह मेरे और राष्ट्रीय अध्यक्ष सोनिया गांधी के बीच का मामला है. मैंने उन्हें पूरी वस्तुस्थिति से अवगत करवा दिया है. मैं कांग्रेस का कट्टर समर्थक हूं और पिछले 51 वर्ष कांग्रेस को समर्पित किए हैं और उम्र के इस पड़ाव में अब मैं पार्टी का साथ नहीं छोड़ूंगा. आनंद शर्मा ने कहा कि यह पार्टी के अंदर की बात है, इसे सार्वजनिक नहीं किया जा सकता. आनंद शर्मा ने कहा कि कांग्रेस को पूरे देश में पुनर्जीवित करने के लिए सामूहिक सोच से आगे बढ़ने की जरूरत है.

हिमाचल प्रदेश में होने वाले विधानसभा चुनाव के संदर्भ में आनंद शर्मा ने कहा कि वरिष्ठजनों का अनुभव और युवाओं का जोश जब एक साथ चलेगा तो कामयाबी जरूर मिलेगी. उन्होंने कहा कि संगठन में कुछ चीजें हुई हैं जो नहीं होनी चाहिए थीं, लेकिन पार्टियों में ऐसा होता रहता है.

हिमाचल से विधायक आशा कुमारी के साथ आनंद शर्मा. तस्वीर 23 अगस्त की है.

विधायकों से अकेले में की बात

आनंद शर्मा ने कहा कि वह हिमाचल में कांग्रेस प्रत्याशियों के लिए प्रचार करेंगे और कांग्रेस जीतेगी. हिमाचल में बदलाव होना तय है.साथ ही कहा कि हिमाचल में योग्य और संगठन में आम सहमति के बाद ही प्रत्याशी तय होने चाहिए. पार्टी के भीतर गुटबाजी को दूर किया जाएगा और कांग्रेस एकजुट होकर लड़ेगी. बकौल शर्मा-भाजपा में गुटबाजी ज्यादा है. इस दौरान विधायक अनिरूद्ध सिंह ने आनंद शर्मा से अकेले में बंद कमरे में में बातचीत की. उनके साथ हर्ष महाजन भी मौजूद रहे. बता दें कि आनंद शर्मा शिमला जिले के कुमारसैन से संबंध रखते हैं, 1982 में उन्होंने यहां हिमाचल में इकलौता विधानसभा चुनाव लड़ा और हारा था. उसके बाद वह केंद्रीय राजनीति में चले गए थे. वह राज्यसभा से सांसद रहे हैं. लेकिन इस बार कांग्रेस ने उन्हें राज्यसभा के लिए नामित नहीं किया था.

Tags: Anand sharma, Himachal Congress, Himachal Government, Sonia Gandhi

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें