SJVNL के NTPCL में विलय: कांग्रेस बोली- केंद्र हथियाना चाहता है रिजर्व पूंजी

अगर इसका विलय एनटीपीसीएल में होता है तो हिमाचलियों का शेयर घटकर 1 से 2 प्रतिशत रह जाएगा. बता दें कि हाल ही में इस मुद्दे पर सीएम जयराम ठाकुर ने पीएम नरेंद्र मोदी से भी बातचीत की थी.

News18 Himachal Pradesh
Updated: January 11, 2019, 6:08 PM IST
SJVNL के NTPCL में विलय: कांग्रेस बोली- केंद्र हथियाना चाहता है रिजर्व पूंजी
मुकेश अग्निहोत्री.
News18 Himachal Pradesh
Updated: January 11, 2019, 6:08 PM IST
सार्वजनिक क्षेत्र की मिनी रत्न कंपनी एसजेवीएन को एनटीपीसीएल में विलय पर सियासत गरमा गई है. विधानसभा के दौरान इस मुददे पर सत्तापक्ष को घेरने के बाद अब सदन के बाहर भी विपक्ष सरकार की घेराबंदी में जुट गया है.

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने सीएम जयराम ठाकुर से सवाल पूछा है कि उन्होंने दावा किया था कि इस मुददे पर वह केंद्र सरकार से बात करेंगे, तो केंद्र से क्या जवाब मिला है.

नेता प्रतिपक्ष मुकेश अग्निहोत्री ने आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार एसजेवीएनएल की रिजर्व पूंजी को हथियाना चाहती है. एसजेवीएन के पास 67 अरब रूपये की रिजर्व पूंजी है. यह कंपनी हिमाचलियों के खून पसीने से खड़ी हुई है, जिसमें हिमाचल का 25 प्रतिशत शेयर और 12 प्रतिशत फ्री पावर शेयर है,



अगर इसका विलय एनटीपीसीएल में होता है तो हिमाचलियों का शेयर घटकर 1 से 2 प्रतिशत रह जाएगा. बता दें कि हाल ही में इस मुद्दे पर सीएम जयराम ठाकुर ने पीएम नरेंद्र मोदी से भी बातचीत की थी.

ये भी पढ़ें : PHOTOS: हिमाचल के मनाली में ताजा हिमपात, सूबे में कल होगी ‘भारी’ बर्फबारी!

सिरमौर में गिरी नदी पर बनने वाले रेणुका बांध पर हिमाचल समेत 6 राज्यों में ‘MOU’

रणजी ट्रॉफी: जीत की हैट्रिक के बाद चौथे मुकाबले में हिमाचल की 5 विकेट से हार
Loading...

सिरमौर: PDS में 97.56 प्रतिशत आधार सीडिंग का काम पूरा, प्रदेश भर में अव्वल

कुफरी में घुड़सवारी को लेकर विवाद, कश्मीर से आए टूरिस्ट ने किए हवाई फायर, 3 घायल

PHOTOS: अपना वजूद तलाश रहा 150 साल पुराना बंगला, कभी सुकेत के राजा रुकते थे यहां
Loading...

और भी देखें

पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...