• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • हिमाचल: बिजली बोर्ड में जेई की भर्ती पर विक्रमादित्य ने उठाए सवाल, बोले- प्रदेश के युवाओं के साथ हुआ धोखा

हिमाचल: बिजली बोर्ड में जेई की भर्ती पर विक्रमादित्य ने उठाए सवाल, बोले- प्रदेश के युवाओं के साथ हुआ धोखा

हिमाचल प्रदेश में सरकारी नौकरियों में बाहरी राज्यों के चयन को लेकर फिर से सवाल उठने लगे हैं

हिमाचल प्रदेश में सरकारी नौकरियों में बाहरी राज्यों के चयन को लेकर फिर से सवाल उठने लगे हैं

Himachal News: हिमाचल प्रदेश में सरकारी नौकरियों में पड़ोसी राज्यों के युवाओँ के भर्ती होने पर यह विवाद कोई पहला विवाद नहीं है. इससे पहले भी साल 2019 में ऐसा ही एक विवाद सामने आया था. जब सचिवालय में क्लर्क के पदों पर बिहार के युवकों की तैनाती हुई थी.

  • Share this:

शिमला. हिमाचल प्रदेश बिजली बोर्ड में जेई इलेक्ट्रिक पदों पर बाहरी राज्यों के युवाओं को नौकरी देने पर कांग्रेस ने प्रदेश सरकार पर हमला बोला है. शिमला ग्रामीण से कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह (Vikramaditya Singh) ने भाजपा सरकार पर प्रदेश के युवाओं के साथ खिलवाड़ करने का आरोप लगाया है. उन्होंने कहा कि बिजली बोर्ड (Electricity Board) ने कुल 216 जेई इलेक्ट्रिक के पद निकाले थे जिसमें से 54 पदों पर बाहरी राज्यों को नौकरी दी गई है. विक्रमादित्य सिंह ने भर्तियों पर सवाल उठाए हैं.

शिमला में मीडिया से रुबरु होते हुए कांग्रेस महासचिव विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि सरकार प्रदेश के बेरोजगार युवाओं के साथ धोखा कर रही है. प्रदेश में लगभग साढ़े 12 लाख युवा बेरोजगार हैं और सरकार नौकरियां दूसरे राज्यों के लोगों को नौकरियां दे रही हैं. बिजली बोर्ड में यूपी, बिहार, उत्तराखंड और दिल्ली के लोगों को जेई इलेक्ट्रिक के पद पर भर्ती किया गया है जो कि प्रदेश के युवाओं के साथ धोखा है.

प्रदेश के युवाओं से खिलवाड़ कर रही है प्रदेश सरकार

इससे पहले भी सरकार ने सचिवालय में क्लर्क के पदों पर बाहरी राज्यों के युवाओं को नौकरी दी थी. कांग्रेस पार्टी इसका विरोध करती है और आने वाले समय मे सरकार के खिलाफ इसको लेकर मोर्चा खोला जाएगा. उन्होंने सरकार को घेरते हुए कहा कि भाजपा सरकार की नीतियों से आम जनता परेशान है एक ओर जहां बेरोजगारों के साथ खिलबाड़ कर बाहरी राज्यों के युवाओं को नौकरी बांटी जा रही है यो दूसरी ओर महंगाई सातवें आसमान पर है. इसके अलावा किसान बागवानों के हितों के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है. बागवानों को सेब का उचित दाम नहीं मिल पा रहा है. उन्होंने कहा कि कई सारे मुद्दों को लेकर सरकार का कोई भी मंत्री बयान नहीं दे पा रहा है जिससे प्रदेश में लोगों के भय का माहौल बन गया है.

दिल्ली में शीर्ष नेताओं से की पार्टी को मजबूत करने की बात

विक्रमादित्य सिंह ने कहा कि वे दिल्ली शीर्ष नेताओं से मिलने गए थे जहां पर उन्होंने पार्टी की खामियों और संगठन की गतिविधियों को लेकर चर्चा की है. उन्होंने कहा कि मंडी सीट को लेकर उनके परिवार की ओर से टिकट नहीं मांगा गया है, लेकिन अगर हाई कमान टिकट देता है तो उसका स्वागत है. लेकिन अगर टिकट किसी और को देता है तो वे उसका भी स्वागत करेंगे. न तो वे और न ही उनकी माता टिकट के लिए आवेदन करेंगी.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

हमें FacebookTwitter, Instagram और Telegram पर फॉलो करें.

विज्ञापन
विज्ञापन

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज