लाइव टीवी

दिल्ली चुनाव में प्रचार में डटी सरकार, अधिकारी भी गायब, भूत बंगला ना बन जाए सचिवालय: विक्रमादित्य सिंह

News18 Himachal Pradesh
Updated: February 4, 2020, 12:02 PM IST
दिल्ली चुनाव में प्रचार में डटी सरकार, अधिकारी भी गायब, भूत बंगला ना बन जाए सचिवालय: विक्रमादित्य सिंह
कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह. (FILE PHOTO)

Congress MLA Vikramditya Singh Attacks Jairam Govt: विक्रमादित्य सिंह ने कहा है कि केंद्र के वर्ष 2020 /21 के आम बजट से भी लोगों को भारी निराशा हुई है. उन्होंने कहा है कि न तो इस बजट में बेरोजगारी को दूर करने की कोई योजना है, ना महंगाई दूर होने की कोई संभावना है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश के पूर्व सीएम वीरभद्र सिंह (Virbhadra Singh) के बेटे और कांग्रेस विधायक विक्रमादित्य सिंह (Vikramditya Singh) ने सूबे की सरकार पर निशाना साधा है. विक्रमादित्य ने सरकार के दिल्ली विधानसभा चुनाव (Delhi Assembly Election 2020) में प्रचार करने पर सवाल उठाए हैं.

विक्रमादित्य ने कहा है कि एक ओर, जहां हिमाचल सरकार दिल्ली विधानसभा के चुनाव प्रचार में डटी है तो दूसरी ओर प्रदेश सरकार के सचिवालय से अधिकारी भी गायब हो गए है. हैरानी की बात है कि प्रदेश सरकार का कामकाज पूरी तरह राम भरोसे छोड़ दिया गया है. उन्होंने कहा है कि मंत्रियों की अनुपस्थिति और अधिकारियों के नदारद रहने के चलते कही प्रदेश सचिवालय भूत बंगला ही न बन जाए. पिछले एक हफ्ते से मंत्री और सचिवालय के मुख्य अधिकारियों का पूरा प्रशासन गायब है,जो बहुत ही दुर्भाग्यपूर्ण है.

‘प्रदेश के लोगों की चिंता नहीं’
विक्रमादित्य सिंह ने प्रदेश सरकार के कामकाज की आलोचना करते हुए कहा है कि उसे प्रदेश के लोगों की कोई चिंता नहीं है. लगातार बर्फबारी के चलते प्रदेश के लोगों को अनेक समस्याओं से जूझना पड़ रहा है.सरकारी तंत्र पूरी तरह विफल साबित हो रहा है. शिमला से ऊपरी क्षेत्र अभी भी मुख्य मार्गो के सम्पर्क से कटे पड़े है. बिजली आपूर्ति ठप है. दैनिक उपयोग की वस्तुओं की कमी के चलते लोग परेशान हो रहे हैं. प्रदेश की पूरी सरकार दिल्ली विधानसभा के चुनाव प्रचार में अति व्यस्त है.

‘मानो उन्हीं ने दिल्ली में सरकार बनानी हो’
विक्रमादित्य सिंह ने कहा है कि प्रदेश भाजपा सरकार के मंत्री दिल्ली विधानसभा के चुनावों में इस प्रकार से डटे है, मानो उन्हीं ने दिल्ली में सरकार बनानी हो. उन्होंने कहा है कि भाजपा ने आज देश को ऐसे चौराहे पर ला कर खड़ा कर दिया है, जहां पर लोग अब अपने आप को असुरक्षित महसूस कर रहे हैं. नागरिकता संशोधन कानून और एनआरसी ने देश मे एक ऐसा विवाद पैदा कर दिया है कि लोग सरेआम गोलियां चलाने लग पड़े हैं. इसके लिये उसी के नेता, मंत्री लोगों को उकसाने का पूरा काम कर रहे हैं.

बजट से निराशा हुईविक्रमादित्य सिंह ने कहा है कि केंद्र के वर्ष 2020 /21 के आम बजट से भी लोगों को भारी निराशा हुई है. उन्होंने कहा है कि न तो इस बजट में बेरोजगारी को दूर करने की कोई योजना है, ना महंगाई दूर होने की कोई संभावना. देश की अर्थव्यवस्था जो आज निम्न स्तर पर आ गई है, उसके सुधरने के भी उन्हें इस बजट में कोई आसार नजर नहीं आ रहे है. हिमाचल की तो इस बजट में पूरी तरह से अनदेखी की गई है, जबकि वित्त मंत्रालय में प्रदेश के हाई प्रोफाइल राज्य मंत्री हैं. उन्होंने कहा है कि प्रदेश के चारो भाजपा सासंद अपनी विकास निधि का अब तक कोई भी पैसा खर्च नही कर पाए है. ऐसा लगता है कि इन्हें भी प्रदेश के विकास से कुछ लेना-देना नहीं है.

ये भी पढ़ें: VIDEO: हिमाचल में टोल प्लाजा पर स्कॉर्पियो सवारों ने कर्मी को घसीटा, फिर पीटा

PHOTOS: मनाली में अमरनाथ जैसा नजारा, अंजनि महादेव में बना 25 फीट शिवलिंग

बिलासपुर में खेत से मिला पाकिस्तानी गुब्बारा और सिक्का, मचा हड़कंप

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए शिमला से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 4, 2020, 12:00 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर