हिमाचल में 30 से 44 साल के लोगों के लिए भारी पड़ी कोरोना की दूसरी लहर, अब तक 290 की मौत

हिमाचल में 30 से 44 वर्ष के लोगों के लिए घातक साबित हुई कोरोना महामारी की दूसरी लहर.

हिमाचल में 30 से 44 वर्ष के लोगों के लिए घातक साबित हुई कोरोना महामारी की दूसरी लहर.

Himachal Corona Death Report: हिमाचल प्रदेश में कोरोना की पहली और दूसरी लहर के लोगों पर प्रभाव के विश्लेषण से सामने आए चौंकाने वाले आंकड़े. प्रदेश में अब तक महामारी से 3281 लोगों की हो चुकी है मौत.

  • Share this:

शिमला. हिमाचल में कोरोना की दूसरी लहर 30 से 44 साल के आयु वर्ग के लोगों के लिए घातक साबित हुई है. ऐसा माना जाता है कि इस उम्र के लोगों की इम्यूनिटी अन्य आयु वर्ग के मुकाबले थोड़ी ठीक होती है, लेकिन दूसरी लहर इनके लिए भी जानलेवा साबित हुई. इस आयु वर्ग के लोगों की मौत की औसत पहली लहर के मुकाबले लगभग दोगुना दर्ज की गई. स्वास्थ्य विभाग की ओर से मिली जानकारी के मुताबिक कोरोना की पहली लहर में इस आयु वर्ग के 71 लोगों की मौत हुई थी और दूसरी लहर में अब तक 290 से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है.

इस चार्ट पर डालें एक नजर


Himachal Corona Update हिमाचल कोरोना अपडेट, Corona Death Report कोरोना से मौत, Corona Cases,
हिमाचल में कोरोना की दूसरी लहर का प्रभाव.

पहली के मुकाबले दूसरी लहर खतरनाक
स्वास्थ्य विभाग के अनुसार हाल ही में प्रदेश में कोविड-19 की पहली और दूसरी लहर के प्रभाव का विश्लेषण किया गया. इस रिपोर्ट के अनुसार दूसरी लहर पहली से अधिक खतरनाक साबित हुई है. पहली लहर के दौरान प्रदेश में मार्च, 2020 में कोविड का पहला मामला दर्ज होने के बाद से 23 फरवरी, 2021 तक कुल 58403 मामले आए थे. वहीं दूसरी लहर में 4 मई, 2021 तक 1,35,521 मामले दर्ज किए गए. पहली लहर में औसतन 171 मामले प्रतिदिन दर्ज किए गए, जबकि दूसरी लहर में लगभग 8 गुना अधिक औसतन 1342 मामले प्रतिदिन दर्ज किए गए.

पॉजिटिविटी रेट में भी बढ़ोतरी

दूसरी लहर में कोरोना संक्रमण के मामलों में पॉजिटिविटी रेट दोगुना से भी ज्यादा हो गया.  कोविड-19 से हुई कुल मौतों में से 69.7 प्रतिशत मृत्यु दूसरी लहर के दौरान हुई हैं. मरने वालों की औसतन आयु पहली लहर में 64.2 वर्ष थी, जबकि दूसरी लहर में यह औसतन आयु घट कर 61 वर्ष दर्ज की गई है. पहली लहर के दौरान 1.68 प्रतिशत मृत्यु दर दर्ज की गई, जबकि दूसरी लहर में यह दर 1.67 प्रतिशत रही. पहली लहर में मरने वालों में से लगभग 70 प्रतिशत लोग को-मॉर्बिडिटीज से पीड़ित थे, जबकि दूसरी लहर में मरने वालों में केवल 41.6 प्रतिशत लोग ही को-मॉर्बिडिटीज़ से पीड़ित पाए गए.



स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों के मुताबिक हालांकि अब मामलों में लगातार कमी हो रही है. रविवार को हिमाचल में 557 नए केस आए थे और एक्टिव केसों की संख्या 8 हजार 361 रह गई थी. प्रदेश में अब तक 1 लाख 95 हजार 99 लोग कोरोना संक्रमित हुए हैं. वहीं 1 लाख 83 हजार 434 मरीज बीमारी से ठीक होकर घर लौट गए हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज