COVID-19: स्वास्थ्य मंत्री सैजल का दावा-हर्ड इम्युनिटी की तरफ बढ़ा हिमाचल

हिमाचल प्रदेश. (सांकेतिक तस्वीर)
हिमाचल प्रदेश. (सांकेतिक तस्वीर)

Corona virus in Himachal: हिमाचल में कुल कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या 19135 है, जिसमें 2593 एक्टिव मामले और 16175 ठीक हो चुके हैं. अब तक 267 लोगों की मौत हो चुकी है. हिमाचल में रोजाना 3100 से 3200 टेस्ट हो रहे हैं जिन्हें 4000 हजार तक बढ़ाने की योजना है.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2020, 8:45 AM IST
  • Share this:
शिमला. कोरोना (Corona Virus) के सामने आ रहे मामलों के बीच अच्छी खबर यह है कि प्रदेश अब हर्ड इम्युनिटी की तरफ बढ़ रहा है. यह दावा हिमाचल (Himachal Pradesh) के स्वास्थ्य मंत्री (Health Minister) डा. राजीव सैजल ने किया है. न्यूज 18 के साथ खास बातचीत में डा राजीव सैजल ने कहा कि हिमाचल हर्ड इम्युनिटी (Hard Immunity) के शुरूआती स्टेज में है. प्रदेश में एंटीबाडीज का पता लगाने के लिए सीरो सर्वे भी किया गया था, जिसमें एंटीबॉडीज विकसित होने का पता चला है.

स्वास्थ्य मंत्री डॉ. राजीव सैजल (Dr Rajeev Sejal) ने कहा कि सरकार एक बार व्यापक सर्वे किया जाएगा, जिसमें हर्ड इम्युनिटी का पता चलेगा. स्वास्थ्य मंत्री ने लोगों से अपील की है कि तीन बातों का हमेशा ध्यान रखें. मॉस्क को नाक तक पहनें, हाथ बार-बार धोते रहें या सेनिटाइज करें. भीड़ वाले क्षेत्रों में सोशल डिस्टेसिंग का पूरा ध्यान रखें.

पंजाब ने खरीदें हैं चाइना मेड पल्स ऑक्सीमीटर
हिमाचल में कोरोना संकट के दौरान पल्स ऑक्सीमीटर, ऑक्सीजन सिलेंडर मैनिफोल्ड की खरीद की गई थी, जिसमें पर विपक्ष ने सवाल उठा दिए हैं. पूर्व स्वास्थ्य मंत्री कौल सिंह ठाकुर ने बाकायदा प्रेस कांफ्रेंस करके सरकार पर आरोप लगाया था कि यह दोनों खरीद महंगे दामों पर की गई है, जबकि पंजाब ने सस्ते दामों पर खरीदे हैं, इस पूरे मामले पर स्वास्थ्य मंत्री डा. राजीव सैजल ने पलटवार किया है. उन्होंने कहा कि जब कांग्रेस विपक्ष में होती है तब निम्नता की सारी हदें लांघ देती हैं. पहले वेंटीलेंटर खरीद पर सवाल उठाए, जब तथ्य सामने आए तो चुप हो गए और अब कुछ कह नहीं कह रहे. उन्होंने कहा कि सरकार के पास छुपाने के लिए कुछ भी नहीं है. कौल सिंह ठाकुर घटिया आरोप लगा रहे हैं. गहराई में जाकर तथ्यों पर आरोप लगाते तो पता चलता.
घाटालों पर क्या बोले मंत्री


स्वास्थ्य मंत्री डा राजीव सैजल ने कहा कि जो भी खरीद हुई है, वो सीपीडब्ल्यूडी के जरिए की गई है, जो विशेषज्ञता प्राप्त एजेंसी है. जब कोरोना का संकट था, उस वक्त महंगा देखना जरूरी नहीं था. लोगों की जान बचाना जरूरी था. उस वक्त 2900 रूपये में पल्स ऑक्सीमीटर खरीदें थे, जिसका बेस मॉडल आज भी 1800 रूपये है, लेकिन अब यही पल्स ऑक्सीमीटर अब 350 रूपये में खरीदे गए हैं. लेकिन जिस पंजाब का उदाहरण कांग्रेस नेता दे रहे हैं, वो आज भी 500 रूपये में ऑक्सीमीटर खरीद रहा है, जो चाइनीज मेड हैं. इसी तरह ऑक्सीजन सिलेंडर मैनिफोल्ड भी तय नियमों और उचित रेट पर खरीदे गए हैं.

हिमाचल में 267 लोगों की हुई अब तक मौत
हिमाचल में कुल कोरोना पॉजिटिव मामलों की संख्या 19135 है, जिसमें 2593 एक्टिव मामले और 16175 ठीक हो चुके हैं. अब तक 267 लोगों की मौत हो चुकी है. हिमाचल में रोजाना 3100 से 3200 टेस्ट हो रहे हैं जिन्हें 4000 हजार तक बढ़ाने की योजना है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज