Corona Virus in Himachal: हिमाचल में अब तक 84 हजार से ज्यादा लोगों का टीकाकरण

हिमाचल में कोरोना वैक्सीनेशन.

Corona Virus in Himachal: 3 जिलों में एक्टिव मरीजों का आंकड़ा ईकाई में रह गया है. लाहौल-स्पीति जिला कोरोना मुक्त हो गया है. हमीरपुर में मात्र एक केस है. कोरोना के लगातार गिरते ग्राफ के बावजूद कोविड डेडिकेटिड अस्पतालों को बंद करने पर फिलहाल फैसला नहीं लिया गया है.

  • Share this:
शिमला. हिमाचल प्रदेश में कोरोना (Corona Virus) दम तोड़ता हुआ नजर आ रहा है. प्रदेश का कबालयी जिला लाहौल-स्पीति कोरोना मुक्त हो गया है. यहां पर एक भी केस नहीं है. बुधवार को प्रदेश में मात्र 34 नए मामले सामने आए हैं. हिमाचल (Himachal Pradesh) में रिकवरी रेट 98 फीसदी से ज्यादा है और मृत्यू दर 1 प्रतिशत के आसपास है. स्वास्थ्य विभाग (Health Department) के अनुसार कोरोना के टीकाकरण का अभियान जारी है और अब तक 84 हजार से ज्यादा हेल्थ और फ्रंट लाइन वर्कर को टीका लग चुका है.

प्रदेश में अब तक कुल 58 हजार 296 लोग कोरोना से संक्रमित हुए हैं, जिनमें 56 हजार 948 ठीक हुए हैं जबकि 981 लोगों की मौत कोरोना की वजह से हुई है. कुल एक्टिव केस की संख्या 354 है. 3 जिलों में एक्टिव मरीजों का आंकड़ा ईकाई में रह गया है. लाहौल-स्पीति जिला कोरोना मुक्त हो गया है. हमीरपुर में मात्र एक केस है. कोरोना के लगातार गिरते ग्राफ के बावजूद कोविड डेडिकेटिड अस्पतालों को बंद करने पर फिलहाल फैसला नहीं लिया गया है. स्कूल और कॉलेजों को खुले हुए अभी ज्यादा समय नहीं हुआ है, ऐसे में स्थिती बेहतर हुई तो इस संबंध में सरकार जल्द फैसला ले सकती है.

इन जिलों में इतने एक्टिव केस
बिलासपुर जिले में 22, चंबा में 5, हमीरपुर में 1, कांगड़ा में 89, किन्नौर में 7, कुल्लू में 14, लाहौल-स्पिती में 0, मंडी में 53, शिमला में 40, सिरमौर में 26,सोलन में 24 और ऊना जिले में 73 एक्टिव केस रह गए हैं

टीकाकरण अभियान का हाल क्या
कोविड-19 टीकाकरण अभियान के कार्यान्वयन के लिए गठित राज्य संचालन समिति की मुख्य सचिव अनिल खाची के साथ हुई बैठक में जानकारी दी गई कि प्रदेश में तीन चरणों में कोविशिल्ड वैक्सीन की 3 लाख 67 हजार 500 डोज मिली हैं. 16 फरवरी 2021 तक 63 हजार 282 हेल्थ वर्कर और 20 हजार 963 फ्रंट लाइन वर्कर का टीकाकरण किया गया है. एक मार्च तक प्रथम चरण पूरा किया जाने का लक्ष्य है.

मीडियाकर्मियों, ड्राइवरों, शिक्षकों को टीका लगाने की सिफारिश
बुधवार को हुई बैठक में समिति ने यह भी चर्चा की है कि मीडियाकर्मी, बस ड्राइवर, कंडक्टर और शिक्षक समेत अनेक वर्ग हैं, जोकि जनता के सीधे संपर्क में आते हैं और कोविड-19 संक्रमण के प्रति अधिक संवेदनशील हैं. इस बात पर चर्चा हुई है कि इन फ्रंट लाइन वर्कर के लिए लिए चलाए जा रहे इस चरण में इन व्यवसायों के व्यक्तियों को कवर करने की अनुमति के लिए केंद्र सरकार के साथ मामला उठाया जा सकता है.

स्कूल में बढ़ रही छात्रों की संख्या
प्रदेश में स्कूल खुलने के बाद 5वीं से 12वीं कक्षाओं के छात्रों की नियमित कक्षाएं लग रही हैं. इस बाबत शिक्षा मंत्री गोबिंद ठाकुर ने जानकारी दी है कि स्कूलों में छात्रों की संख्या अब धीरे-धीर बढ़ है. कुछ स्थानों पर हाल ही में शिक्षकों के पॉजीटिव आने से थोड़ी चिंताएं बढ़ीं थी, लेकिन अब कोरोना का असर कम होता हुआ नजर आ रहा है. उन्होंने कहा है कि फिलहाल सभी छात्रों को स्कूल आने के लिए बाध्य नहीं किया जा रहा है और न ही हाजिरी को लेकर किसी तरह का दबाव है. उन्होंने उम्मीद जताई कि अब रेगुलर पढ़ाई पर कोरोना का असर देखने को नहीं मिलेगा.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.